Home समाचार अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडेन के साथ वर्चुअल बैठक में प्रधानमंत्री मोदी- पुतिन और...

अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडेन के साथ वर्चुअल बैठक में प्रधानमंत्री मोदी- पुतिन और जेलेंस्की को दिया सीधी बातचीत का सुझाव

185
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और अमेरिका के राष्ट्रपति जोसेफ आर बाइडेन के बीच 11 अप्रैल को वर्चुअल बैठक हुई। दोनों नेताओं ने कई क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दों जैसे कोविड-19 महामारी, वैश्विक आर्थिक सुधार, जलवायु कार्रवाई, दक्षिण एशिया और भारत-प्रशांत क्षेत्र में हालिया घटनाक्रम और यूक्रेन की स्थिति पर विचारों का व्यापक आदान-प्रदान किया।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा है कि भारत और अमरीका स्‍वभाविक भागीदार हैं क्‍योंकि वे दुनिया के सबसे बडे लोकतंत्र हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि यह बातचीत ऐसे समय में हो रही है जब यूक्रेन में स्थिति चिंताजनक बनी हुई है। उन्‍होंने कहा कि कुछ सप्‍ताह पहले तक 20 हजार से अधिक भारतीय यूक्रेन में फंसे हुए थे और उनमें से ज्‍यादातर युवा विद्यार्थी थे। काफी मेहनत के बाद, हम उन्हें वहां से सकुशल निकालने में सफल हुए

प्रधानमंत्री ने कहा कि उन्‍होंने यूक्रेन और रूस के राष्‍ट्रपति से कई बार फोन पर बात की और उनसे शांति की अपील की। उन्होंने कहा, ‘इस पूरे घटनाक्रम के दौरान मैंने यूक्रेन और रूस दोनों के राष्‍ट्रपतियों से कई बार फोन पर बातचीत की। मैंने न सिर्फ शांति की अपील की, बल्कि मैंने राष्‍ट्रपति पुतिन को यूक्रेन के राष्‍ट्रपति के साथ सीधी बातचीत का सुझाव भी रखा।’

बाइडेन से साथ बातचीत के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि यूक्रेन के बुचा शहर में निर्दोष नागरिकों की हाल की हत्‍या बहुत परेशान करने वाली है। उन्‍होंने कहा, ‘हाल में बुचा शहर में निर्दोष नागरिकों की हत्याओं की खबर बहुत ही चिंताजनक थी। हमने इसकी तुरंत निंदा की और एक निष्पक्ष जांच की मांग भी की है। हम आशा करते हैं कि रूस और यूक्रेन के बीच चल रही बातचीत से शांति का मार्ग निकलेगा।’

प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि हमने यूक्रेन में आम नागरिकों की सुरक्षा और उनको मानवीय सहायता की निर्बाध आपूर्ति पर भी महत्त्व दिया है। हमने अपनी तरफ से दवाइयां व अन्य राहत सामग्री यूक्रेन और उसके पड़ोसी देशों को भेजी है। और यूक्रेन की मांग पर हम शीघ्र ही दवाइयों का एक और कन्साइनमेंट भेज रहे हैं।

अमरीकी राष्‍ट्रपति बाइडेन ने अपनी शुरूआती टिप्‍पणी में कहा कि भारत और अमरीका दो जीवंत लोकतंत्र हैं जो मजबूत और प्रगतिशील रक्षा भागीदारी साझा करते हैं। बाइडेन ने कहा कि सतत परामर्श और बातचीत यह सुनिश्‍चित करने के लिए महत्‍वपूर्ण है कि भारत और अमरीका की भागीदारी लगातार मजबूत हो रही है।

भारत-अमेरिका 2+2 मंत्रिस्तरीय वार्ता के लिए वाशिंगटन डीसी गए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और विदेश मंत्री डॉ एस जयशंकर इस बातचीत के दौरान व्हाइट हाउस में अपने अमेरिकी समकक्षों रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन और विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन के साथ मौजूद थे।

उन्होंने हाल के वर्षों में आपसी संबंधों में हुई महत्वपूर्ण प्रगति की भी समीक्षा की। दोनों नेताओं ने इस मुद्दे पर भी सहमति जताई कि भारत-अमेरिका व्यापक वैश्विक रणनीतिक साझेदारी को और मजबूत करने से दोनों देशों को अत्याधिक लाभ होगा और इससे वैश्विक शांति, समृद्धि और स्थिरता में भी योगदान मिलेगा।

 

Leave a Reply