Home समाचार उद्योग जगत के शीर्ष सीईओ से मुलाकात में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा-...

उद्योग जगत के शीर्ष सीईओ से मुलाकात में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा- हमारे उद्योग हर क्षेत्र में टॉप 5 में हों

296
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 20 दिसंबर को लोक कल्याण मार्ग स्थित अपने आवास पर उद्योग जगत के विभिन्न क्षेत्रों की कंपनियों के मुख्य कार्यकारी अधिकारियों (सीईओ) से मुलाकात की। आगामी केन्द्रीय बजट से पहले प्रधानमंत्री मोदी की उद्योग जगत के प्रतिनिधियों के साथ यह दूसरी बैठक है। प्रधानमंत्री मोदी ने उद्योग जगत प्रमुखों को उनके सहयोगों और सुझावों के लिए धन्यवाद देते हुए उन्हें पीएलआई प्रोत्साहन जैसी नीतियों का पूर्ण उपयोग करने के लिए प्रोत्साहित किया। उन्होंने कहा कि जिस तरह देश ओलंपिक में पोडियम फिनीश करना चाहता है, उसी तरह देश हमारे उद्योगों को हर क्षेत्र में दुनिया के शीर्ष पांच में देखना चाहता है, और इसके लिए हमें सामूहिक रूप से काम करना चाहिए।

उन्होंने कहा कि कॉरपोरेट सेक्टर को कृषि और खाद्य प्रसंस्करण जैसे क्षेत्रों में अधिक निवेश करना चाहिए और प्राकृतिक खेती पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए। उन्होंने सरकार की नीतिगत स्थिरता पर कहा कि सरकार ऐसी पहलें करने के लिए प्रतिबद्ध है जो देश की आर्थिक प्रगति को गति प्रदान करेंगी। उन्होंने अनुपालन बोझ को कम करने की दिशा में सरकार के दृष्टिकोण की भी जानकारी दी, और उन क्षेत्रों पर सुझाव मांगे जहां अनुचित अनुपालन को हटाने की जरूरत है।

उद्योग जगत के प्रतिनिधियों ने अपनी प्रतिक्रियाएं देते हुए निजी क्षेत्र में विश्वास जताने के लिए प्रधानमंत्री मोदी को धन्यवाद भी दिया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के कुशल नेतृत्व के कारण देश की अर्थव्यवस्था सही समय पर किए गए हस्तक्षेपों और परिवर्तनकारी सुधारों के कारण कोरोना के बाद विकास के रास्ते पर अग्रसर है। उन्होंने प्रधानमत्री के आत्मनिर्भर भारत दृष्टिकोण में योगदान देने के लिए प्रतिबद्धता जताते हुए पीएम गतिशक्ति, आईबीसी जैसे महत्वपूर्ण पहलों की सराहना की। उद्योग जगत के प्रमुखों ने उन कदमों पर भी चर्चा की जिन्हें देश में कारोबार में सुगमता को बढ़ावा देने के लिए उठाया जा सकता है। उन्होंने सीओपी26 में भारत की प्रतिबद्धताओं औरलक्ष्यों को प्राप्त करने में उद्योग किस प्रकार से योगदान दे सकते हैं, इस संदर्भ में भी चर्चा की।

टाटा स्टील के टीवी नरेंद्रन ने कहा कि सरकार की समय रहते की गई प्रतिक्रिया से कोरोना के बाद वी आकार की रिकवरी हुई है। आईटीसी के संजीव पुरी ने खाद्य प्रसंस्करण उद्योग को और बढ़ावा देने के लिए सुझाव दिए। कोटक महिन्द्रा बैंक के उदय कोटक ने कहा कि प्रधानमंत्री स्वच्छ भारत, स्टार्ट अप इंडिया आदि जैसे सरल लेकिन बेहतर तरीके से किए गए सुधारों के माध्यम से महत्वपूर्ण परिवर्तन लाने में सफल रहे हैं। शेषगिरी राव ने स्क्रैपेज नीति को किस प्रकार से और अधिक व्यापक बनाया जा सकता है, इस मुद्दे पर अपनी राय व्यक्त की। मारुति सुजुकी के केनिची आयुकावा ने भारत को विनिर्माण क्षेत्र में शीर्ष राष्ट्र बनाने की प्रधानमंत्री की परिकल्पना को साकार करने की प्रतिबद्धता व्यक्त की।

विनीत मित्तल ने सीओपी26 में प्रधानमंत्री की पंचामृत प्रतिबद्धता के संदर्भ में चर्चा की। रिन्यू पावर सुमंत सिन्हा ने कहा कि ग्लासगो में प्रधानमंत्री के नेतृत्व की वैश्विक समुदाय के सदस्यों ने काफी सराहना की। प्रीता रेड्डी ने स्वास्थ्य के क्षेत्र में मानव संसाधन को बढ़ावा देने के उपायों के बारे में बात की। रितेश अग्रवाल ने एआई और मशीन लर्निंग जैसे उभरते क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित करने की आवश्यकता के संदर्भ में संवाद किया।

 

 

Leave a Reply