Home इतिहास के झरोखे में नरेन्द्र मोदी इतिहास के झरोखे में नरेन्द्र मोदीः 02 मार्च

इतिहास के झरोखे में नरेन्द्र मोदीः 02 मार्च

222
SHARE

02 मार्च 2015

संसद सत्र के दौरान सांसदों की कैंटीन में खाया दोपहर का भोजन और अपना बिल चुकाया।

02 मार्च 2017

ऋषिकेश में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय योग सम्मेलन में वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से उद्बोधन, पेप्सीको की अध्यक्ष और सीईओ इंदिरा नूई ने मुलाकात की, बैलिस्टिक मिसाइल रक्षा क्षमता के सफल प्रदर्शन पर रक्षा वैज्ञानिकों को बधाई दी।

02 मार्च 2019

स्‍मार्ट इंडिया हेकाथॉन में भाग लेने वाले छात्रों से बातचीत की, इंडिया टुडे कॉन्क्लेव को संबोधित किया, कंट्रक्शन टेक्नोलॉजी इवेंट 2019 में शामिल हुए। दरगाह ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती अजमेर शरीफ में चढ़ाने के लिए चादर सौंपी।    

02 मार्च 2021

नई दिल्ली में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से ‘मैरीटाइम इंडिया समिट 2021’ का शुभारंभ किया।

02 मार्च 2022

बजट पश्चात प्रौद्योगिकी-सक्षम विकास पर वेबिनार को संबोधित किया, उत्तर प्रदेश के सोनभ्रद और गाजीपुर में आयोजित जनसभाओं में संबोधन, रूसी संघ के राष्ट्रपति महामहिम व्लादिमीर पुतिन से टेलीफोन पर बात की, हिंदुस्तान समाचार के साथ साक्षात्कार।

 

 

 

 

 

Leave a Reply