Home गुजरात विशेष गुजरात में PM MODI ने खोली कांग्रेस की साजिश की पोल- कांग्रेस...

गुजरात में PM MODI ने खोली कांग्रेस की साजिश की पोल- कांग्रेस का इतिहास तो आदिवासियों से झूठे वादों का, भाजपा ने ही जनजातीय कल्याण को सदैव सर्वोच्च प्राथमिकता दी

227
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा है कि आजादी के बाद दशकों तक देश में जिस कांग्रेस की सरकार रही, उसने आदिवासी भाई-बहनों के जीवन से मुश्किलों को कम करने पर कभी ध्यान ही नहीं दिया। जनजातीय समुदाय को भी अच्छी सुविधाएं चाहिए, उनके भी सपने हैं, यह कांग्रेस जैसे दलों ने कभी सोचा ही नहीं। पीएम मोदी ने कहा कि दरअसल देश में जनजातीय समुदाय के कल्याण को लेकर दो तरह की राजनीति देखने को मिलती है। एक तरफ कांग्रेस जैसे दल हैं, जिन्हें आदिवासी हितों की कोई परवाह नहीं तो दूसरी तरफ भाजपा है, जिसके लिए आदिवासी भाई-बहनों की सेवा सदैव सर्वोच्च प्राथमिकता रही है। वह भाजपा ही है, जिसने जनजातीय समाज के योगदान को राष्ट्रीय पहचान दिलाने में कोई कोर-कसर नहीं छोड़ी है। गुजरात के व्यारा में पीएम ने करोड़ों की परियोजनाओं की आधारशिला रखी
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुरुवार को गुजरात के तापी जिले के व्यारा में 1,970 करोड़ रुपये से अधिक की कई परियोजनाओं की आधारशिला रखी। उन्होंने सापुतारा से स्टैच्यू ऑफ यूनिटी तक की सड़क के सुधार और निर्माण का शिलान्यास भी किया। इस मौके पर पर उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि देश में जहां-जहां भाजपा की सरकार रही है, वहां हमने आदिवासी कल्याण को सर्वोच्च प्राथमिकता दी है। देश की किसी और पार्टी ने आदिवासी कल्याण के लिए इतना काम नहीं किया है, जितना बीजेपी ने किया है। आजादी के बाद दशकों तक देश में जिस कांग्रेस की सरकार रही,उसने आदिवासी भाई-बहनों के जीवन से मुश्किलें कम करने पर कभी ध्यान नहीं दिया।आदिवासियों की बनाई चीजों को अंतरऱाष्ट्रीय बाजारों तक ले जा रही सरकार
पीएम मोदी ने कहा कि आदिवासी हितों को लेकर, जनजातीय समुदाय के कल्याण को लेकर देश में दो तरह की राजनीति की गई है। एक तरफ कांग्रेस जैसे दल हैं जो आदिवासी परंपराओं का मजाक उड़ाते हैं, वहीं दूसरी तरफ भाजपा है, जो आदिवासी परंपराओं को सिर माथे लगाती है, उनका सम्मान करती है। एक तरफ कांग्रेस हैं, जिन्होंने आदिवासियों द्वारा बनाई चीजों का मूल्य नहीं समझा। दूसरी ओर भाजपा है जो अपने आदिवासी भाई-बहनों की बनाई चीजों को अंतरऱाष्ट्रीय बाजारों तक ले जा रही है। पीएम मोदी ने कहा कि भाजपा ही ऐसी पार्टी है, जिसने आदिवासी कल्याण को हमेशा सर्वोच्च प्राथमिकता दी, अपने आदिवासी भाई-बहनों की सेवा के लिए हमेशा तत्पर रही।

 

कांग्रेस शासन में आदिवासी क्षेत्रों तक अधिकतर सुविधाएं पहुंचती ही नहीं थीं
पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस शासन में आदिवासी क्षेत्रों तक अधिकतर सुविधाएं पहुंचती ही नहीं थीं और अगर कहीं पहुंचती भी थीं तो सबसे आखिर में उनका नंबर आता था। हमने कांग्रेस की इस आदिवासी विरोधी सोच को, इस अहंकारी सोच को चुनौती दी है। कांग्रेस की इस सोच से अलग हम जनजातीय जीवन को आसान बनाने के लिए पूरी मेहनत से काम कर रहे हैं। आदिवासी भाई-बहनों के पास अपना पक्का घर हो, घर में बिजली हो, घर में गैस कनेक्शन हो, घर में शौचालय हो, घर तक सड़क आती हो, घर के पास चिकित्सा केंद्र हो, घर के पास आय के साधन हों, आदिवासी बच्चों के लिए घर के पास स्कूल हो, इन सबके लिए हम बरसों से काम कर रहे हैं।

डांग जिले से मिली प्रेरणा से आज गुजरात के हर गांव में आती है 24 घंटे बिजली
गुजरात में अपने डेढ़ दशक पुराने संस्मरण को याद करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि हमने गुजरात में ही कुछ ऐसा करके दिखाया, जो अभूतपूर्व है। आज गुजरात के हर गांव में बिजली है, 24 घंटे बिजली है। लेकिन सबसे पहले जिस जगह का हर गांव बिजली की सुविधा से जुड़ा था, बिजली मिली थी वो आदिवासी बाहुल्य जिला- डांग था। ज्योतिर्ग्राम योजना के तहत डांग जिले के 300 से ज्यादा गांवों में हमने शत-प्रतिशत विद्युतिकरण का लक्ष्य हासिल किया था। फिर हमने गुजरात में 24×7 बिजली की सुविधा देने का अभियान चलाया। डांग जिले से जो प्रेरणा मिली, उसी की वजह से जब केंद्र में हमारी सरकार बनी तो देश के हर गांव तक बिजली पहुंचाने का अभियान शुरू किया गया। आज अगर देश के हर गांव तक बिजली पहुंची है, तो इसमें हमारे डांग के आदिवासी भाई-बहनों की भी भूमिका है।कांग्रेस ने जानबूझकर जनजातीय समाज के योगदान को राष्ट्रीय पहचान नहीं मिलने दी
पीएम मोदी ने कहा कि भारत के इतिहास में, हमारे स्वतंत्रता आंदोलन में, आदिवासी समाज का समृद्ध योगदान रहा है। आदिवासी समाज भारत की आस्था, भारत की सभ्यता, संस्कृति और आज़ादी का बहुत बड़ा संरक्षक भी रहा है। लेकिन आज़ादी के बाद जनजातीय समाज के इस गौरवशाली योगदान को कुछ क्षेत्रों तक सीमित कर दिया गया। जिस दल ने पूरे देश में लंबे समय तक सरकारें चलाईं, उसने जानबूझकर जनजातीय समाज के योगदान को राष्ट्रीय पहचान नहीं मिलने दी। आदिवासियों के साथ हो रहे इस अन्याय को भी हमारी पार्टी की सरकार ने ही समाप्त करने का काम किया है। ये अटल जी की ही सरकार थी जिसने पहली बार जनजातीय मंत्रालय का गठन किया था। अटल जी की सरकार के समय ही ग्राम सड़क योजना शुरू हुई थी, जिसका बहुत बड़ा लाभ आदिवासी अंचलों को मिला।

Leave a Reply