Home चुनावी हलचल केरल में बोले प्रधानमंत्री मोदी, राज्य को मौजूदा गठबंधन वाली पार्टियों से...

केरल में बोले प्रधानमंत्री मोदी, राज्य को मौजूदा गठबंधन वाली पार्टियों से मुक्त करने का समय आ गया है

138
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को केरल में चुनाव प्रचार किया। राज्य के पथानामथिट्टा और तिरुवनंतपुरम में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने विपक्षी दलों को आड़े हाथों लिया। पीएम मोदी ने विपक्षी दलों पर हमला बोलते हुए कहा कि UDF और LDF ने केरल में कई पाप किए हैं। UDF और LDF को इस बात का अहंकार है कि उन्हें कोई कभी पराजित नहीं कर सकता और इसी अहंकार ने उन्हें जड़ों से काट दिया है। इसके साथ ही दोनों गठबंधनों में वंशवाद की राजनीति को बढ़ावा दिया जा रहा है।

पीएम मोदी ने कहा कि इन गठबंधनों के नेता सिर्फ वोटबैंक की राजनीति करते हैं। यूडीएफ और एलडीएफ ने केरल में सरकार को लकवा मार दिया है। केरल को आब इन गठबंधनों से मुक्त करने का समय आ गया है। प्रधानमंत्री ने कहा कि एलडीएफ ने सबसे पहले केरल की छवि को बिगाड़ने की कोशिश की और केरल की संस्कृति को पिछड़ा दिखाने की कोशिश की। तब उन्होंने शरारत करने के लिए एजेंटों का उपयोग करके पवित्र स्थानों को अस्थिर करने का प्रयास किया। स्वामी अयप्पा का भक्तों ने फूल मालाओं के साथ स्वागत किया, उनका स्वागत किया गया। मैं स्पष्ट रूप से बताना चाहता हूं – स्वामी अयप्पा के भक्त अपराधी नहीं हैं।

पीएम मोदी ने कहा कि वामपंथ का झूठ अब नहीं चलेगा। एक आयातित और अंतर्राष्ट्रीय रूप से अस्वीकृत विचारधारा को अब हमारी भूमि की संस्कृति पर रौंदने की अनुमति नहीं दी जाएगी। इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि हम एनडीए में आपके लिए आगे आने वाले विकास एजेंडे के साथ आ रहे हैं जो केरल को प्रगति के लिए तेजी से आगे बढ़ाता है।

पीएम मोदी ने कहा कि इस साल के बजट में, कई आर्थिक गलियारों की घोषणा की गई है और इसमें मुंबई-कन्याकुमारी कॉरिडोर के हिस्से के रूप में केरल में व्यापक राजमार्ग कार्य शामिल हैं। कोच्चि मेट्रो के चरण- II में पर्याप्त केंद्रीय धन प्राप्त होगा। कोच्चि में मछली पकड़ने का एक बंदरगाह आएगा। गर्मजोशी से भरे स्वभाव को दुनिया भर के लोगों ने इस राज्य में प्राप्त किया है। पर्यटक आए, लेकिन पर्यटन को समर्थन देने के लिए सरकार की ओर से कोई विजन नहीं था। पीएम मोदी ने कहा कि पर्यटन क्षेत्र में एनडीए का ट्रैक रिकॉर्ड बताता है कि हमारा गठबंधन अकेले इस क्षेत्र को विकसित करने में मदद कर सकता है। केरल के लिए हम पर्यटन के विभिन्न पहलुओं पर ध्यान केंद्रित करना चाहते हैं। स्वास्थ्य, आध्यात्मिक और क्रूज पर्यटन में अवसर हैं।

श्री मोदी ने कहा कि केरल में पीने के पानी की समस्या एक समस्या है। जल जीवन मिशन शुरू करने से पहले केवल केरल के 25% घरों में नल का पानी था। जब से यह शुरू हुआ, पूरे भारत में लगभग 20% परिवारों को नल के पानी के कनेक्शन की सुविधा मिली। उन्होंने कहा कि मुझे यह बताते हुए दुख हो रहा है कि केरल में यह संख्या केवल 4.5% है। इस धीमी प्रगति का कारण राज्य सरकार का खराब रवैया है।

Leave a Reply