Home समाचार जम्मू-कश्मीर में मोदी सरकार के विकास कार्यों की सऊदी अरब की मीडिया...

जम्मू-कश्मीर में मोदी सरकार के विकास कार्यों की सऊदी अरब की मीडिया में तारीफ

448
SHARE

अनुच्छेद-370 हटाने और केंद्र शासित प्रदेश बनाने के बाद मोदी सरकार जम्मू-कश्मीर के विकास के लिए लगातार प्रयास कर रही है। इसके अब सकारात्मक नतीजे आने लगे हैं। जहां प्रदेश की जनता को बदलाव और विकास का एहसास हो रहा है, वहीं इसकी चर्चा दूसरे देशों में भी हो रही है। अमेरिका की मानवाधिकार रिपोर्ट के बाद अब सऊदी अरब के दैनिक अखबार ‘सऊदी गजट’ ने मोदी सरकार के द्वारा किए जा रहे विकास और जन कल्याण के कार्यों की जमकर प्रशंसा की है।

Business Standard के मुताबिक दैनिक अखबार सऊदी गजट ने जम्मू-कश्मीर में मोदी सरकार की नीतियों की सफलता की प्रशंसा करते हुए लिखा कि जो युवा पिछले तीन दशकों से भारत के विरुद्ध छद्म युद्ध कर रहे थे और पत्थरबाजी में सक्रिय रूप से शामिल रहते थे, आज उनके जीवन में बदलाव आ रहा है। ये युवा रोजगार और आर्थिक अवसरों की खोज में भाग ले रहे हैं। अखबार ने लिखा है कि भर्ती एजेंसियां जम्मू-कश्मीर में पूर्णतः सक्रिय हो चुकी हैं और भर्ती प्रक्रियाओं के माध्यम से सैकड़ों कश्मीरी युवा रोजगार भी हासिल कर चुके हैं।

अखबार में कहा गया है कि जम्मू-कश्मीर के युवा अनुच्छेद 370 हाटने के मोदी सरकार के फैसले के प्रति सकारात्मक रवैया अपना रहे हैं और देश की विकास यात्रा में शामिल होना चाहते हैं। इससे वो स्थानीय नेता गलत साबित हो चुके हैं जो यह कहते थे कि अनुच्छेद 370 की समाप्ति के बाद घाटी में कोई भी तिरंगा लेकर नहीं चलेगा।

केंद्र सरकार की छात्रवृत्ति योजनाओं पर प्रकाश डालते हुए अखबार ने कहा कि इन योजनाओं की सहायता से जम्मू-कश्मीर के कई गरीब विद्यार्थी देश के बड़े संस्थानों में एडमिशन ले रहे हैं। कई छात्र अपनी डिग्री पूरी करके बड़ी व्यापार संस्थाओं में नौकरी कर रहे हैं। 

गौरतलब है कि 5 अगस्त, 2019 को केंद्र की मोदी सरकार ने संसद में एक प्रस्ताव पारित कर जम्मू-कश्मीर को अनुच्छेद 370 और अनुच्छेद 35-A के जाल से मुक्त कर दिया था। साथ ही जम्मू-कश्मीर को लूटने वाले राजनेताओं पर लगाम लगाने के लिए राज्य को दो भागों में विभाजित कर केंद्र शासित प्रदेश बना दिया। जम्मू-कश्मीर का सीधा नियंत्रण मोदी सरकार के हाथ में आने से प्रदेश में लूट पर रोक लगी है और विकास को गति मिली है। 

Leave a Reply