Home समाचार क्या हिंसा भड़काने के पीछे है आम आदमी पार्टी के नेता का...

क्या हिंसा भड़काने के पीछे है आम आदमी पार्टी के नेता का हाथ?

646
SHARE

दिल्ली के जामिया इलाके में हिंसक भीड़ ने जमकर तोड़फोड़ और आगजनी की। भीड़ ने तीन बसों के साथ कई बाइकों में आग लगा दी। पुलिस और छात्रों के बीच हिंसक झड़प भी हुई। आम आदमी पार्टी के विधायक अमानतुल्लाह खान पर हिंसक भीड़ की अगुवाई करने का आरोप लग रहा है। 

बताया जा रहा है कि अमानतुल्लाह खान के संबोधन के बाद प्रदर्शन हिंसक हो उठा।

 

 

इंडिया टीवी के अनुसार विधायक अमानतुल्लाह खान और उसके साथियों के खिलाफ देशद्रोह करने के लिए भड़काने और क्षेत्र में दंगा भड़काने की शिकायत दर्ज कराई है।

कपिल मिश्रा ने लगाया आप सरकार पर आरोप
कपिल मिश्रा ने हिंसा की तुलना गोधरा हमलों से की और आप सरकार पर इसके पीछे होने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा, ‘यह एक आतंकवादी हमला है। किसी बस को आग लगाना जिसमें एक CNG सिलेंडर है, का मतलब है कि किसी बड़े विस्फोट की साजिश थी। आप इसे एक आतंकवादी हमला नहीं कहेंगे तो क्या कहेंगे? यह अमानतुल्ला खान द्वारा शुरू किया गया था। वे दिल्ली में गोधरा घटना को दोहराना चाहते हैं।’

अमानती गुंडे से कराया कांड- कुमार विश्वास
आम आदमी पार्टी के पूर्व नेता और कवि कुमार विश्वास ने भी जामिया हिंसा को लेकर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधा और कहा कि कुर्सी की लालसा में केजरीवाल कुछ भी दाव पर लगा सकते हैं।

अमानतुल्लाह को बचाने के लिए सिसोदिया मे फैलाया झूठ
अमानतुल्लाह को बचाने के लिए दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने झूठ फैलाते हुए दिल्ली पुलिस पर ही बसों में आग लगाने का आरोप लगाया। हालांकि सिसोदिया ने ट्विटर पर दिल्ली पुलिस की वो फोटो शेयर की, जिसमें पुलिस आग बुझाती हुई दिख रही है। जबकि, उन्होंने दावा किया कि पुलिस आग लगा रही है।

यूजर्स ने सिसोदिया को झूठ बोलने के लिए लताड़ लगाते हुए कहा कि पुलिस आग लगा नहीं रही, बल्कि बुझा रही है।

हिंसक प्रदर्शन के दौरान छात्रों ने आपत्तिजनक नारों से लोगों को भड़काने की कोशिश की गई। जामिया के छात्रों ने पुलिस के साथ हिंदुओं के खिलाफ नारेबाजी और घृणा फैलाने वाले नारे लगाए। जामिया के छात्रों ने ‘हिन्दुओं से आजादी’के नारे लगाए। इससे पता चलता है कि प्रदर्शन का मकसद विरोध प्रदर्शन नहीं, बल्कि कुछ और है।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

जामिया लाइब्रेरी में तोड़फोड़ मामले में भी आप देख सकते हैं कि छात्र किस तरह कबूल रहा है कि ‘यार अपना नुकसान क्यों कर रहे हो’

 

 

 

 

 

 

 

 

पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।

Leave a Reply