Home समाचार केदारनाथ धाम में पीएम मोदी की पूजा से ‘बीफ खाने वाले‘ रामचंद्र...

केदारनाथ धाम में पीएम मोदी की पूजा से ‘बीफ खाने वाले‘ रामचंद्र गुहा सहित सेक्युलर गैंग को लगी मिर्ची, लोगों ने नेहरू और इंदिरा की दिलाई याद

1046
SHARE

देश के जाने-माने इतिहासकार रामचंद्र गुहा विश्व के तमाम विश्वविद्यालयों में अध्यापन का काम कर चुके हैं। लेकिन अपने नाम ‘रामचंद्र’ की भी परवाह नहीं करते हैं। तथाकथित सेक्युलरिज्म के झंडाबरदार बनकर कभी ट्विटर पर बीफ खाते हुए तस्वीर शेयर करते हैं, तो कभी हिन्दू संस्कृति और उसकी मान्यताओं की खुलेआम माखौल उड़ाते हैं। फिर उन्होंने केदारनाथ धाम में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की पूजा को लेकर सेक्युलरिज्म का ज्ञान देने की कोशिश की और पूजा के समय कैमरे की मौजूदगी पर सवाल उठाया। लेकिन सोशल मीडिया पर लोगों ने इतिहास के प्रोफेसर को ही प्रमाण के साथ इतिहास का पाठ पढ़ा दिया।

रामचंद्र गुहा ने ट्वीट किया, “यदि प्रधानमंत्री किसी मंदिर में प्रार्थना करना चाहते हैं तो उन्हें इसे निजी तौर पर और बिना कैमरे के उपस्थिति में करना चाहिए। राज्य के खर्च पर ये सार्वजनिक प्रदर्शन सही नहीं हैं। उन्होंने अपने पद की गरिमा को ठेस पहुंचाया है।”

इस ट्वीट के बाद रामचंद्र गुहा सोशल मीडिया पर लोगों के निशाने पर आ गए। लोगों ने पूछा कि जब एक दिन पहले ही दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने लक्ष्मी पूजा की और उसका लाइव प्रसारण किया, तो किसी सेक्युलर गैंग ने इस पर सवाल नहीं उठाया। लेकिन प्रधानमंत्री मोदी की पूजा से रामचंद्र गुहा और सेक्युलर गैंग को मिर्ची लग गई है। दरअसल राजधानी के त्यागराज स्टेडियम में दिल्ली कैबिनेट ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में दिवाली पूजन किया। इस दौरान मुख्यमंत्री केजरीवाल, उनकी पत्नी सुनीता केजरीवाल और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया व मंत्रियों ने मां लक्ष्मी की पूजा-अर्चना की। इस कार्यक्रम का सीधा प्रसारण कई टेलीविजन चैनल्स पर किया गया।

लोग नेहरू के कुम्भ स्नान से लेकर इंदिरा गांधी के सार्वजनिक प्रदर्शनों सहित कांग्रेस और लिबरल गैंग के चहेतों की कई तस्वीरें सामने रख रहे हैं। राष्ट्रपति भवन में रोजा इफ्तार और दरगाह पर चादर चढ़ाते वक़्त के कई वीडियो और तस्वीरें सार्वजनिक हैं। इसमें राजीव गांधी से लेकर सोनिया, राहुल गांधी की भी तस्वीरें हैं तो वहीं पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह सहित कई दूसरे विपक्षी नेताओं की भी है।

Leave a Reply