Home समाचार देशवासियों को पीएम मोदी पर भरोसा, PM CARES FUND में महिला ने...

देशवासियों को पीएम मोदी पर भरोसा, PM CARES FUND में महिला ने दी जीवनभर की कमाई

506
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी वैश्विक कोरोना महामारी से निपटने और देशवासियों की हितों की रक्षा के लिए जी जान से जुटे हुए हैं। कोरोना के निपटने के लिए प्रधानमंत्री मोदी ने PM CARES फंड में राशि देने की अपील की तो देशभर के लोग अपनी हैसियत से दान दे रहे हैं। PM CARES फंड में एक तरफ अमीर तो दूसरी तरफ गरीब भी दान देने के लिए आगे रहे हैं।

PM CARES फंड में दान देने वाले ऐसे ही कम साधन वाले लोगों  ने भी दान दिया है, जिसपर पूरे देश को गर्व है।  

देवकी भंडारी ने पीएम केयर फंड में दी जीवनभर की कमाई  

प्रधानमंत्री नरेंद्री मोदी के आह्वान पर 60 वर्षीय महिला देवकी भंडारी ने अपने जीवन भर की कमाई पीएम केयर फंड में दान दिया है। यह धनराशि 10 लाख रुपये की है। देवकी भंडारी उत्तराखंड के चमोली के गौचर की निवासी हैं। कोरोना वायरस के संकट की इस घड़ी में उन्‍होंने अपने जीवन में कमाई सारी पूंजी पीएम केयर फंड में दान कर दिया है। देवकी भंडारी का कहना है कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से प्रभावित होकर उन्होंने ये निर्णय लिया है। देवकी भंडारी के पति रेशम विभाग से सेवानिवृत्त हुए और वो अब वह इस दुनिया में नहीं है। देवकी भंडारी की अपनी संतान नहीं हैं और वो फिलहाल वह गरीब बच्चें को पढ़ा भी रही हैं।

चाय विक्रेता ने 20,000 रुपये का दान दिया 

उड़ीसा के पारादीप के बलांगीर के चाय विक्रेता रुपधर कुमुरा ने कोरोना के खिलाफ लड़ाई में PM CARES फंड में 20 हजार रुपये का दान दिया है। उन्होंने सोमवार को जिला आपातकालीन अधिकारी से मुलाकात कर 20 हजार रुपये का चेंक सौंपा। यह पिछले साल की कमाई की बचत राशि है। रुपधर कुमुरा का कहना है कि हम सभी को इस संकट से उबरने में मानवता की मदद करने के लिए अपना थोड़ा सा प्रयास करना होगा। मैंने अपना हिस्सा दान किया था, जो मैंने पिछले साल बचाया था। हालांकि लॉकडाउन के बाद से रुपधर कुमुरा का धंधा बंद है, लेकिन इसके बावजूद उन्होंने PM CARES फंड में दान देकर अपना कर्तव्य निभाया है। 

पीएम केयर्स फंड में दिव्यांग ने दी पुरस्कारों की राशि

कोरोना जैसी वैश्विक महामारी को देश से भगाने के प्रति उत्साह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान से प्रभावित एक दिव्यांग युवक अपने राष्ट्रीय पुरस्कारों से अर्जित राशि पीएम केयर्स फंड में दान कर दिया है। पीएम केयर्स फंड में दान करने वाले 17 वर्षीय युवक हृदयेश्वर सिंह भाटी राजस्थान के रहने वाले हैं। उन्होंने पीएम केयर्स फंड में जो दो लाख रुपये दान दिए हैं, जो उन्हें बतौर राष्ट्रीय पुरस्कारों के लिए मिले थे। दोनों पैर से विकलांग होने  के बावजूद हृदयेश्वर सिंह भाटी ने महज 10 साल की उम्र में राष्ट्रीय पुरस्कार अपने नाम कर ली थी। 

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अपील पर पीएम केयर्स फंड में दान करने में धार्मिक संस्थान भी पीछे नहीं हैं। 

▪ साईंबाबा संस्थान ट्रस्ट, शिरडी ने महाराष्ट्र मुख्यमंत्री राहत कोष में 51 करोड़ का दान किया है।

▪ देवस्थान प्रबंधन समिति, कोल्हापुर ने महालक्ष्मी मंदिर के माध्यम से 1.5 करोड़ रुपये मुख्यमंत्री राहत कोष में दान देने की घोषणा की है।

▪ श्रीमहावीर हनुमान मंदिर, पटना ने मुख्यमंत्री राहत कोष में 1 करोड़ रुपये का दान दिया है।

जहां कोरोना के खिलाफ लड़ाई में मंदिर देश के साथ खड़े नजर आ रहे हैं, वहीं मुस्लिम धार्मिक संस्थान और मस्जिद कहीं दिखाई नहीं दे रहे हैं। मुस्लिम धार्मिक ट्रस्ट भी संकट के समय नजर नहीं आ रहा है। इस समय भी मुस्लिमों को केंद्र और राज्य सरकारों का ही भरोसा है। दिल्ली सहित कई राज्यों में इमामों को सरकारी खजाने से वेतन दिया जा रहा है। दिल्ली के मस्जिदों के इमामों को 18 हजार रुपये, सहायकों को 16 हजार रुपये और रख-रखाव के लिए 9 हजार रुपये दिए जा रहे हैं।

 

Leave a Reply