Home समाचार देखिए जनता कर्फ्यू, ताली और थाली बजाने पर कथित लिबरल महिला पत्रकारों...

देखिए जनता कर्फ्यू, ताली और थाली बजाने पर कथित लिबरल महिला पत्रकारों की खिसियाहट

829
SHARE

जनता कर्फ्यू की देश-दुनिया में तारीफ हो रही है। बॉलीवुड से लेकर खेल जगत के लोग प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की इस पहल की सराहना कर रहे हैं। लेकिन कुछ तथाकथित सेकुलर, लिबरल गैंग को यह रास नहीं आ रहा है। प्रोपेगेंडा पत्रकार आरफा खान्नम शेरवानी ने ट्वीट किया कि जनता curfew, ताली और थाली… सब कुछ जनता ही करेगी, तो आप क्या करेंगे सरकार? 30 मिनट के भाषण में 3 चीज़ें बताइये जो सरकार करेगी?”

कांग्रेस की करीबी कथित पत्रकार स्वाति चतुर्वेदी ने खिल्ली उड़ाते हुए कहा कि सायरन, ताली बजाना और थाली पीटना फिजूल लग रहा है।

इंडियन एक्सप्रेस की पूर्व पत्रकार इरेना अकबर इस कदम का मजाक उड़ाते हुए लिखती हैं कि रविवार 5 बजे बॉलकनी से भक्तों की शिनाख्त करेंगी।

इसके साथ ही शीरीन के ट्वीट को रीट्वीट करते हुए इरेना कहती है कि इटली में हो रहा बॉलकनी टाइम पास भारत के लिए राष्ट्रीय आपदा से लड़ने की नीति है।

प्रोपेगेंडा पत्रकार रोहिणी सिंह भी जनता कर्फ्यू का मजाक उड़ाते हुए लिखती हैं कि भारत में वैश्विक महामारी की लड़ाई ताली और थाली बजा-बजाकर लड़ी जाएगी।”

पत्रकार रितुपर्णा चटर्जी ने भी मजाक उड़ाने की कोशिश की है।

कथित लिबरल पत्रकार सबा नकवी ने लिखा है कि जनता कर्फ्यू और थाली बजाना… ये दिलचस्प है कि प्राइवेट सेक्टर के डॉक्टर प्रधानमंत्री का गुणगान कर रहे हैं, जबकि सरकारी डॉक्टर अभी भी बेसिक किट और मास्क मांग रहे हैं।

Leave a Reply