Home समाचार उत्तराखंड में पीएम मोदी के नेतृत्व में सीएम पुष्कर धामी के फैसलों...

उत्तराखंड में पीएम मोदी के नेतृत्व में सीएम पुष्कर धामी के फैसलों की धमक: ‘इराने नेक, काम अनेक’ के मंत्र के साथ विकास कार्यों की 10 बड़ी कामयाबी

349
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में उत्तराखंड लगातार विकास की राह पर आगे बढ़ रहा है। उत्तराखंड के लोगों की मदद के लिए पीएम मोदी लगातार दौरे कर रहे हैं । 5 नवंबर को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एक बार फिर से उत्तराखंड क दौरे पर पहुंचने वाले हैं, वो भगवान केदारनाथ के दर्शन करेंगे और साथ ही कई विकास कार्यों का लोकार्पण और शिलान्यास करेंगे। खास बात यह है कि प्रधानमंत्री का यह एक महीने के भीतर दूसरा उत्तराखंड दौरा होगा। इसके पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ऋषिकेश एम्स में ऑक्सीजन प्लांट का लोकार्पण किया था। प्रधानमंत्री ने एम्स से ही वर्चुअल माध्यम से देशभर के मेडिकल कॉलेजों, अस्पतालों में स्थापित करीब 35 ऑक्सीजन प्लांट का लोकार्पण भी किया था।

पीएम मोदी के नेतृत्व में सीएम पुष्कर धामी का कमाल

चुनावी साल में उत्तराखंड की कमान सीएम पुष्कर सिंह धामी के हाथ में है। बतौर सीएम उन्हें उत्तराखंड की जनता की सेवा का बहुत कम वक्त मिला है। लेकिन इस कम वक्त में ही सीएम धामी के फैसलों की धमक हर ओर सुनाई दे रही है। उत्तराखंड के युवाओं, महिलाओं और बच्चों के लिए एक के बाद एक विकास योजनाओं के एलान के साथ, पुष्कर सिंह धामी ने उत्तराखंड के विकास के लिए जो रास्ता चुना है, उसकी पीेएम मोदी ने भी तारीफ की है।  

1 केंद्र में पीएम मोदी और उत्तराखंड में सीएम पुष्कर सिंह धामी के नेतृत्व में काबू में कोरोना  

कोरोना के असर से हलकान उत्तराखंड की जनता को इस महामारी से निजात दिलाने के लिए पुष्कर सिंह धामी ने एक के बाद एक फैसले लिए। केंद्र में पीएम मोदी और उत्तराखंड में सीएम पुष्कर सिंह धामी के नेतृत्व में वैक्सीनेशन के मोर्चे पर उत्तराखंड ने अहम कामयाबी हासिल की है।

माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में उत्तराखण्ड पूर्ण रूप से पात्र सभी लाभार्थियों को कोरोना वैक्सीन की प्रथम डोज लगाने वाला राज्य बन गया है। यहां 18 साल से ज्यादा उम्र के सभी लोगों को कोरोना वैक्सीन के टीके लग चुके हैं। सीएम पुष्कर सिंह धामी के नेतृत्व में उत्तराखंड शत प्रतिशत लोगों को वैक्सीन की दूसरी डोज लगाने के रास्ते पर तेजी से आगे बढ़ रहा है।  

2 सड़क मार्गों पर हो रहा ऐतिहासिक कार्य

उत्तराखंड में सड़क, पुलों और मार्गों की मरम्मत पर सीएम पुष्कर सिंह धामी के नेतृत्व में शानदार काम हो रहा है। केंद्र में पीएम मोदी की सरकार से मदद मिलने के बाद उत्तराखंड में सड़क और इंफ्रास्ट्रक्चर के काम में तेजी आई है। स्मार्ट सिटी योजना, प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना, सरकारी भवनों के पुनर्निर्माण जैसे विकास के कामों को तेजी से पूरा किया जा रहा है। 

उत्तराखंड के सीएम के तौर पर शपथ लेने के साथ ही पुष्कर सिंह धामी का सबसे ज्यादा जोर उत्तराखंड के दूर दराज के गावों को शहरी इलाकों से जोड़ने पर है। इसके लिए पहले से बनी सड़कों का दोहरीकरण और उन्हें यातायात के लिए और सुगम बनाने का काम तेजी से पूरा किया जा रहा है। 

उत्तराखंड में सड़कों का तेज विकास जारी है, कई परीयोजनाओं के लिए पैसों का आवंटन पहले ही किया जा चुका है। कई प्रमुख शहरों को आपस में जोड़ने के लिए सड़क निर्माण का काम तेजी से जारी है। 

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने विधानसभा गैरसैंण क्षेत्र में झूला पुल समेत विभिन्न विधानसभा क्षेत्रों में सड़कों के निर्माण के लिए 18.36 करोड़ की राशि मंजूर की है। इसके अलावा  विधानसभा गैरसैंण में झूलापुल निर्माण को 6.30 लाख रुपये, नरेंद्रनगर विधानसभा क्षेत्र में गंगसार गांव मोटर मार्ग के डामरीकरण को 3.60 करोड़ और विकासनगर विधानसभा क्षेत्र में बाबूगढ़-नवाबगढ़-जीवनगढ़ एवं डाकपत्थर क्षेत्र के आंतरिक मार्गों एवं नाली निर्माण के लिए 2.37 करोड़ की राशि दी है। अल्मोड़ा विधानसभा क्षेत्र में ज्योली-बसर-खूंट मोटर मार्ग से बसगांव-दडमाण मोटर मार्ग पर 18 मीटर स्पान का सिंगल लेन सेतु बनाने के लिए 1.88 करोड़ की राशि, सहसपुर के ग्राम सभा अटक फार्म में हिमालयन स्कूल तक सड़क निर्माण के लिए 1.46 करोड़, चकराता के विकासखंड कालसी में गडोग से डियूडीलानी मोटर मार्ग निर्माण के लिए 1.19 करोड़ रुपये स्वीकृत किए गए हैं।

डीडीहाट विधानसभा क्षेत्र में जौलजीवी-बगड़ीहाट-तीतरी-रणुआ-अमतड़ी मोटर मार्ग सुधारीकरण के लिए 1.24 करोड़ मंजूर किए गए। लक्सर के अंतर्गत ग्राम सीदडू में पथरी पुल होते हुए ग्राम स्थल बुजुर्ग तक सड़क पुनर्निर्माण के लिए 1.16 करोड़, थराली के विकासखंड देवाल में मानमती-चेटिंग-हरमल-झलिया मोटर मार्ग के लिए 1.12 करोड़, लालकुआं के अंतर्गत हल्दूचौड़-परमा मोटर मार्ग सुधारीकरण को 96.60 लाख की राशि मुख्यमंत्री ने दी है। थराली में आंतरिक मार्गों के सुधारीकरण को 69.88 लाख की राशि स्वीकृत हुई है। सितारगंज में एनएच-125 से ग्राम बघौरी के लिए मार्ग सुधारीकरण को 69.71 लाख की राशि को मंजूरी मिली।

देहरादून में धर्मपुर के अंतर्गत रेसकोर्स दक्षिण वार्ड में आंतरिक सड़कों के सुधारीकरण को 55.69 लाख, मसूरी क्षेत्र में मंदाकिनी विहार में ब्रहमावाला खाले के ऊपर 15 मीटर स्पान का डबल लेन सेतु निर्माण के पहले चरण के लिए 2.78 लाख देने पर मुहर लगा दी गई। खटीमा विधानसभा क्षेत्र में मोहम्मदपुर भुड़ि‍या मोटर मार्ग एवं खटीमा-पीलीभीत में बनगांव से खकरा नदी तक मार्ग के डामरीकण को 1.78 लाख रुपये की प्रशासकीय व वित्तीय स्वीकृति दी गई है। पीएम मोदी के नेतृत्व में सीएम पुष्कर धामी की सरकार को उत्तराखंड में केंद्र की सड़क योजनाओं का पूरा लाभ मिल रहा है। 

3 बिजली बिलों के फिक्स्ड चार्ज में 3 महीने की छूट

उत्तराखंड के आम लोगों की सेवा के लिए पुष्कर धामी की सरकार सदैव समर्पित है। आम लोगों को राहत देने के लिए पुष्कर धामी की सरकार की सरकार ने बड़ा फैसला किया है। मुख्यमंत्री पुष्कर धामी बिजली बिलों के फिक्स्ड चार्ज में 3 महीने की छूट का तोहफा उत्तराखंड के लोगों को दिया है। धामी सरकार के इस फैसले से  2 लाख से ज्यादा लोग लाभानवित होंगे। इस योजना पर पर करीब 2463.81 लाख खर्च होगा।

4 उत्तराखंड में लोगों को मिल रहा केंद्र सरकार की योजनाओं का भरपूर लाभ 

चंद दिनों पहले ही नमामि गंगे अभियान के तहत पीएम मोदी ने किया उत्तराखंड की 6 बड़ी परियोजनाओं का लोकार्पण किया था। 

वर्चुअल माध्यम से कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि नमामि गंगे के तहत गंगा को स्वच्छ और अविरल बनाने के लिए सरकार ने चारों दिशाओं में एक साथ काम आगे बढ़ाया।

पहला- गंगा जल में गंदा पानी गिरने से रोकने के लिए सीवर ट्रीटमेंट प्लांटों का जाल बिछाना शुरू किया दूसरा- सीवर ट्रीटमेंट प्लांट ऐसे बनाए, जो अगले 10-15 साल की भी जरूरतें पूरी कर सकें। तीसरा- गंगा नदी के किनारे बसे सौ बड़े शहरों और पांच हजार गांवों को खुले में शौच से मुक्त किया और चौथा- जो गंगा जी की सहायक नदियां हैं, उनमें भी प्रदूषण रोकने के लिए पूरी ताकत लगाई गई। पुष्कर धामी की सरकार भी पीएम मोदी क नेतृत्व में मिल रही सरकारी योजनाओं का लाभ लोगों तक पहुंचाने के लिए जी जान से जुटी है।

पीएम स्वनिधि योजना के तहत भी लोगों की मदद की जा रही है।

5 ग्राम प्रधानों के मानदेय में इजाफा

‘छोटी सरकार’ यानी ग्राम पंचायतों के प्रधानों को चुनावी साल में ‘सम्मान’ हासिल हो गया। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की घोषणा के अनुरूप ग्राम प्रधानों का मानदेय 1500 रुपये प्रतिमाह से बढ़ाकर 3500 रुपये करने पर कैबिनेट ने मंगलवार को मुहर लगा दी। इसके साथ ही ग्राम प्रधानों की लंबे समय से उठाई जा रही मांग पूरी हो गई।

6 उत्तराखंड के विकास के लिए धामी सरकार के ताबड़तोड़ फैसले, शिक्षा व्यवस्था सुधारने पर भी जोर 

शिक्षा व्यवस्था को बेहतर बनाने एवं अधिक से अधिक युवाओं को उच्च शिक्षा से जोड़ने के लिए उत्तराखंड की धामी सरकार ने कई बड़े ऐलान किए हैं, इनमें 4 नए महाविद्यालयों का गठन भी शामिल है। 

7 पारंपरिक हुनर को मिलेगी अंतरराष्ट्रीय पहचान

त्तराखंड के पारंपरिक हुनर को मिलेगी अंतरराष्ट्रीय पहचान ‘एक जनपद दो उत्पाद’ योजना के तहत प्रत्येक जिले के दो उत्पादों को बढावा देने के लिए योजना तैयार की गई है. धामी सरकार को उममीद है कि उनकी इस पहले से स्वरोजगार के अवसर पैदा होंगे। 

उत्तराखंड के उत्पादों को अंतरराष्ट्रीय पहचान दिलाने के लिए पुष्कर धामी सरकार ने ये महत्वकांक्षी योजना शुरू की है। 

8 आपदा राहत के लिए सीएम पुष्कर धामी को मिला केंद्र का साथ

उत्तराखंड आपदा से अछूता नहीं है , कुदरत के रौद्र रूप से यहां नई-नई चुनौतियां खड़ी होती रहती है। उत्तराखंड में आपदा हो या विकास के काम पीएम मोदी आम लोगों के लिए हर वक्त तत्पर रहते हैं। हाल में तीन दिन अतिवृष्टि से व्यापक तबाही के बाद ,प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को फोन कर राज्य के आपदा प्रभावित क्षेत्रों में चल रहे राहत, बचाव एवं निर्माण कार्यों के बारे में जानकारी ली थी और हर संभव मदद का भरोसा दिलाया था।

पुष्कर धामी सरकार ने भी सरकार ने आपदा से प्रभावित घरों को ठीक करने के लिए सहाता राशी में इजाफा किया है और इस सहायता राशी को 1,50,000 कर दिया गया है। 

उत्तराखंड में संवेदनशील सरकार ने आपदा से प्रभाविक लोगों के परिवारों को भी बड़ी मदद का एलान किया है । ऐसे परिवारों को अब 4 लाख रूपए दिए जाएंगे। 

9 छोटे कारोबारियों के लिए मुख्यमंत्री स्वरोजगार नैनो योजना 

छोटे व्यवसायियों एवं उद्यमियों को मजबूत बनाने की दिशा में उत्तराखंड शासन ने बड़ा फैसला किया है । ‘मुख्यमंत्री स्वरोजगार नैनो योजना’ के तहत अब कर्ज की सीमा को 50 हजार रुपए तक बढ़ा दिया गया है।

इससे ग्रामीण और शहरी इलाकों में फल रेहड़ी, सब्जी, चाय ठेली, दर्जी, प्लम्बर, इलेक्ट्रिशियन, मोबाइल रिपेयरिंग, मोबाइल रिचार्ज, पेपर बैग निर्माण, छोटी बेकरी शॉप, लॉन्ड्री जैसे व्यवसाय से जुड़े लोगों को फायदा होगा। 

10 युवक मंगल दल और महिला मंगल दलों के लिए बड़ा एलान 

युवाओं को आत्मनिर्भर और स्वावलंबी बनाने के लिए हमारी सरकार लगातार प्रयत्नशील है। इसी क्रम में युवक मंगल दल और महिला मंगल दलों के लिए 22 करोड़ 24 लाख 50 हजार रूपये की स्वीकृति की गई है। 

Leave a Reply