Home इतिहास के झरोखे में नरेन्द्र मोदी इतिहास के झरोखे में नरेन्द्र मोदीः 22 मार्च

इतिहास के झरोखे में नरेन्द्र मोदीः 22 मार्च

263
SHARE

22 मार्च 2015

आकाशवाणी और अन्य माध्यमों के जरिए लोकप्रिय कार्यक्रम ‘मन की बात’ के जरिए देशवासियों को उद्बोधन।

22 मार्च 2016
नई दिल्ली में स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय के स्टूडेंट्स से मुलाकात और बातचीत, पीडीपी नेता महबूबा मुफ्ती से मुलाकात। 

22 मार्च 2017

लोकसभा की कार्यवाही में हिस्सा लिया ,उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत से मुलाकात,पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह से मुलाकात।22 मार्च 2018

विश्व जल दिवस पर जल संरक्षण पर संदेश दिया और लोगों से जल संरक्षण करने की अपील की।

22 मार्च 2019

देश के 50 करोड़ लोगों को सालाना 5 लाख रुपए का मेडिकल बीमा उपलब्ध कराने वाली महत्वाकांक्षी आयुष्मान भारत योजना को केंद्रीय कैबिनेट से मंजूरी।

फाइल फोटो

22 मार्च 2020

कोविड-19 के खिलाफ एक लंबी लड़ाई लड़ने का आह्वान किया, छत्‍तीसगढ़ के सुकमा में माओवादी हमले की निंदा की।

22 मार्च 2021

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से विश्व जल दिवस पर ‘जल शक्ति अभियान: कैच द रेन’ का शुभारंभ

22 मार्च 2021

यूनाइटेड किंगडम के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन एमपी के साथ फोन पर बात की और द्विपक्षीय हितों के मुद्दों पर भी चर्चा की।

Leave a Reply