Home विशेष चीन के राष्ट्रपति जिनपिंग कोरोना के डर से 21 महीनों से देश...

चीन के राष्ट्रपति जिनपिंग कोरोना के डर से 21 महीनों से देश से बाहर नहीं निकले, जी-20 शिखर सम्मेलन में भी ऑनलाइन शामिल हुए

650
SHARE

PM Modi समेत कई देशों के राष्ट्रप्रमुख हुए शामिल
अमेरिका की ताजा खुफिया रिपोर्ट यह स्वीकारती है कि कोरोना वायरस वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी से निकला हो सकता है। दुनिया भर को कोरोना वायरस देने वाला चीन अब इस संक्रमण से इतना भयभीत है कि चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग कोरोना संक्रमण के चलते 21 महीनों से देश से बाहर ही नहीं निकले। यहां तक कि जिनपिंग इटली में दो दिन पहले हुए जी-20 देशों के शिखर सम्मेलन में भी ऑनलाइन ही शामिल हुए। रोम में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत अमेरिका, फ्रांस समेत अन्य देशों के राष्ट्रप्रमुख पहुंचे थे।

कोरोना चीन के वुहान इंस्टीट्यूट से : अमेरिका खुफिया रिपोर्ट
चीन कोरोना वायरस फैलाने के आरोपों से घिरा रहा है। खासकर अमेरिका इस मसले पर लगातार हमलावर रहा है। वहीं, कोरोना वायरस की उत्पत्ति संबंधी अमेरिकी खुफिया रिपोर्ट को चीन ने अवैज्ञानिक बताते हुए अमेरिका पर जांच को राजनीतिक रूप से प्रभावित करने का आरोप लगाया है। इससे पहले, मई में अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने खुफिया एजेंसियों को कोरोना की उत्पत्ति के बारे में पता लगाकर तीन महीने के भीतर रिपोर्ट सौंपने को कहा था। खुफिया एजेंसियों ने गत दिनों रिपोर्ट सौंपी है। यह स्वीकारती है कि कोरोना वायरस चीन की वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी से निकला हो सकता है।

डोनाल्‍ड ट्रंप ने भी बताया था – चाइना वायरस
पांचवीं खुफिया एजेंसी ने थोड़े अधिक विश्वास के साथ माना कि पहला मानव संक्रमण एक प्रयोगशाला से जुड़ा था। पूर्व रिपब्लिकन प्रेसिडेंट डोनाल्‍ड ट्रंप और उनके कई समर्थकों ने कोविड-19 को ‘चाइना वायरस’ करार‍ दिया था। इस वायरस के कारण अमेरिका सहित दुनियाभर में लाखों जिंदगियां गईं। अमेरिकी अर्थव्‍यवस्‍था को भी बड़ा नुकसान हुआ।

देश से बाहर आखिरी बार जिनपिंग जनवरी-20 में गए
कोरोना के डर के चलते अपने देश से बाहर आखिरी बार जिनपिंग ने जनवरी 2020 में कदम रखा था। गौरतलब है कि दुनिया में कोरोना संक्रमितों का कुल आंकड़ा 25 करोड़ के करीब पहुंच गया है। जबकि मृतकों की संख्या 50 लाख के करीब है। हालांकि दुनिया में अब तक 700 करोड़ वैक्सीन दी जा चुकी हैं। भारत अकेले ही 100 करोड़ वैक्सीन का आंकड़ा बहुत पहले पार कर चुका है।

जिनपिंग की इस गैर मौजूदगी से चीन को झटका
न्यूयार्क टाइम्स के मुताबिक जिनपिंग अब संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन सम्मेलन (सीओपी26) को भी वर्चुअली संबोधित करेंगे। अंतरराष्ट्रीय मंचों पर जिनपिंग की इस गैर मौजूदगी से चीन को झटका लगा है। दूसरे देशों के साथ उसके संबंध कमजोर हो रहे हैं। चीन में कोरोना के नए मामले अब भी आ रहे हैं। झियांजी समेत 11 प्रांत में नए मामले मिले हैं। इसके मद्देनजर जियांझी प्रांत के सभी रिसार्ट बंद कर दिए गए, जबकि यातायात सीमित कर दिया गया है। गांसू के 43 आवासीय परिसरों को सील कर दिया गया है।

 

 

 

Leave a Reply