Home समाचार कांग्रेस के करीबी ये मीडिया संस्थान फैलाते हैं प्रोपेगंडा, टूलकिट में किया...

कांग्रेस के करीबी ये मीडिया संस्थान फैलाते हैं प्रोपेगंडा, टूलकिट में किया गया है इनका भी जिक्र

825
SHARE

कोरोना महामारी के समय मोदी सरकार को बदनाम करने के लिए बनाया गया टूलकिट अब भी सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बना हुआ है। इस टूलकिट को बनाने वाले के रूप में कांग्रेस रिसर्च डिपार्टमेंट के चेयरमैन राजीव गौड़ा के दफ्तर में काम करने वाली सौम्या वर्मा का नाम सामने आया है। इस टूलकिट में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ हिंदू धर्म, कुंभ और देश को बदनाम करने का पूरा प्लान बताया गया है।

इस टूलकिट को लेकर काफी चर्चा हुई है, लेकिन इसमें से एक चीज पर ज्यादा बात नहीं हुई वह है कांग्रेसी मीडिया तंत्र। टूलकिट में उन मीडिया संस्थानों के बारे में बताया गया है, जिनकी मदद लेकर कांग्रेस के नेता और कार्यकर्ता प्रोपेगंडा फैलाते हैं। इसमें साफ कहा गया है कि ‘द प्रिंट’, ‘द वायर’, ‘द क्विंट’ और ‘आउटलुक’ जैसे मीडिया संस्थानों में कोरोना को लेकर जो भी लेख प्रकाशित होते हैं, उन्हें शेयर और वायरल किया जाए।

मोदी विरोधी ये मीडिया संस्थान शुरू से ही सरकार को बदनाम करने के लिए फेक न्यूज तक का सहारा लेते हैं और प्रोपगेंडा फैलाते हैं। इन मीडिया संस्थानों ने कोरोना काल में केरल, राजस्थान, पंजाब और महाराष्ट्र की दुर्दशा के बारे में कांग्रेस और विपक्षी सरकार का बचाव किया और मोदी सरकार को दोषी ठहराया।

टूलकिट में कहा गया है कि इनके सरकार विरोधी लेखों को खूब शेयर और हाइलाइट करें। यह भी कहा गया है कि अगर कोई स्टोरी अन्य मीडिया संस्थानों में प्रकाशित नहीं होती है तो उन्हें ‘कारवाँ’ या पार्टी के मुखपत्र ‘नेशनल हेराल्ड’ को भेजा जाए। इन मीडिया संस्थानों कि विश्वनीयता तो पहले से ही नगण्य थी, इस टूलकिट प्रकरण के बाद तो इनकी रही-सही साख भी खत्म हो गई है।

इसे भी पढ़े-

टूलकिट के जरिए कोरोना पर भ्रम फैलाने के साथ मोदी सरकार को बदनाम करने की कांग्रेसी साजिश का भंडाफोड़

खुल गया कांग्रेसी टूलकिट बनाने वाले का राज, बीजेपी ने पूछा: क्या सोनिया-राहुल जवाब देंगे?

Leave a Reply