Home समाचार WHO ने की पीएम मोदी की तारीफ, कार्ति चिदंबरम ने भी माना...

WHO ने की पीएम मोदी की तारीफ, कार्ति चिदंबरम ने भी माना मोदी सरकार का लोहा

1610
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारत का मान पूरी दुनिया में बढ़ा है। भारत एक विश्व शक्ति बनकर उभर रहा है। कोरोना वायरस के खिलाफ मोदी सरकार की सार्थक कोशिशों की तारीफ पूरी दुनिया कर रही है। इसी बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी पीएम मोदी के प्रयासों की तारीफ की है।

भारत सरकार का काम बहुत प्रभावी रहा : हेंक बेकडम

WHO यानी विश्व स्वास्थ्य संगठन के भारतीय प्रमुख हेंक बेकडम मंगलवार को ICMR कार्यालय पहुंचे। इस दौरान उन्होंने बताया कि भारत में आईसीएमआर के पास काफी बढ़िया रिसर्च का साधन है। आईसीएमआर की वजह से वायरस का पता लगाने और उसपर ग्लोबल काम करने में काफी मदद मिल रही है। उन्होंने कहा कि भारत भी विश्व के उन देशों में शामिल हो गया है जो इसपर रिसर्च कर रहे हैं।

इसके अलावा हेंक बेकडम ने कहा कि भारत सरकार और प्रधानमंत्री कार्यालय बहुत प्रभावशाली रही है। यह एक कारण है कि भारत अभी भी काफी अच्छा कर रहा है। मैं बहुत प्रभावित हूं कि सभी लोग संगठित हो गए हैं।

कोरोना की रोकथाम के लिए मोदी सरकार ने सराहनीय प्रयास किए : कार्ति चिदंबरम

कांग्रेस के एक सदस्य ने देश में कोरोना वायरस को रोकने के लिए किये जा रहे मोदी सरकार के प्रयासों की सराहना की और सभी दलों के सदस्यों से इस दिशा में सरकार का समर्थन करने का आग्रह भी किया।

मंगलवार को लोकसभा में कार्ति चिदंबरम ने शून्यकाल में इस विषय को उठाते हुए कहा कि देश में नोवेल कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए सरकार ने सराहनीय प्रयास किये हैं, जिन पर राजनीति नहीं होनी चाहिए और सभी को इस बाबत सरकार का समर्थन करना चाहिए।

विपक्ष ने भी की मोदी सरकार के प्रयासों की तारीफ

कोरोना वायरस पर मोदी सरकार की सतर्कता से सभी लोग काफी प्रभावित हैं। वरिष्ठ कांग्रेसी और पूर्व केंद्रीय मंत्री आनंद शर्मा और पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम ने भी मोदी सरकार के प्रयासों की सराहना कर रहे हैं।

कोरोनावायरस के खिलाफ लड़ाई ‘अब तक, अच्छी है’, लेकिन क्या हम और कर सकते हैं?
पॉजिटिव COVID-19 मामलों ने एक सप्ताह में 31 से 84 तक की छलांग लगाई है। कुछ राज्य सरकारों ने आंशिक लॉकडाउन की घोषणा की है। केंद्र सरकार को और उपायों पर विचार करने का समय है।

पी चिदंबरम ने ट्वीट कर कहा है कि ‘कोरोनावायरस के खिलाफ लड़ाई ‘अब तक, अच्छी है’, लेकिन क्या हम और कर सकते हैं? पॉजिटिव COVID-19 मामलों ने एक सप्ताह में 31 से 84 तक की छलांग लगाई है। कुछ राज्य सरकारों ने आंशिक लॉकडाउन की घोषणा की है। केंद्र सरकार को और उपायों पर विचार करने का समय है’।

वहीं इससे पहले आनंद शर्मा ने मोदी सरकार की तारिफ करते हुए कहा था कि ‘मैं सरकार द्वारा उठाए जा रहे कदमों और कोरोना वायरस को चेक करने के लिए की गई तैयारियों से पूरी तरह से संतुष्ट हूं।’ 

कोरोना वायरस पर प्रधानमंत्री की पहल का सार्क देशों ने किया स्‍वागत

कोरोना वायरस के खिलाफ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के प्रस्ताव का सार्क देशों ने समर्थन किया है। श्रीलंका, मालदीव, नेपाल और भूटान के बाद अब पाकिस्तान ने भी प्रस्ताव का स्वागत किया।

प्रधानमंत्री मोदी ने कोरोना वायरस पर एक बड़ी पहल की। उन्होंने सार्क देशों के सामने कोरोना पर बातचीत का प्रस्ताव रखते हुए इसके खिलाफ मिलकर काम करने का आह्वान किया। प्रधानमंत्री मोदी ने सार्क देशों से एक मजबूत रणनीति बनाने का आह्वान करते हुए कहा कि आपस में एकजुट होकर हम दुनिया के सामने एक उत्‍कृष्‍ट उदाहरण पेश कर सकते हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर कहा कि हमारी दुनिया COVID19 नोवेल कोरोना वायरस से जूझ रही है। सरकार और लोग हर स्तर पर इसका मुकाबला करने की पूरी कोशिश कर रहे हैं। दुनिया की बड़ी आबादी वाले क्षेत्र दक्षिण एशिया को अपने लोगों को स्वस्थ रखने की दिशा में कोई कोर कसर नहीं छोड़ना चाहिए।

एक अन्य ट्वीट में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि मैं सार्क देशों के नेतृत्व के सामने कोरोना वायरस से लड़ने की मजबूत रणनीति बनाने का प्रस्ताव रखता हूं। हम वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए अपने नागरिकों को स्वस्थ रखने के उपायों पर चर्चा कर सकते हैं। हम एकजुट होकर दुनिया के सामने एक मिसाल पेश कर सकते हैं और इसे स्वस्थ रखने में योगदान दे सकते हैं।

प्रधानमंत्री मोदी के प्रस्ताव का सार्क देशों ने समर्थन किया और उन्‍हें धन्‍यवाद कहा। नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली ने कहा कि मैं प्रधानमंत्री मोदी जी के आइडिया का स्‍वागत करता हूं। मेरी सरकार सार्क सदस्‍य देशों के साथ मिलकर इस घातक संक्रमण से लड़ने के लिए काम करने को तैयार है।

भूटान के प्रधानमंत्री लोटे शेरिंग ने कहा कि इसे ही नेतृत्‍व कहते हैं। इस संगठन का सदस्‍य होने के नाते ऐसे संकट की घड़ी में हमें एक-दूसरे के साथ होना आवश्‍यक है। छोटी अर्थव्‍यवस्‍थाएं ज्‍यादा प्रभावित होती हैं इसलिए हमें सहयोग देना चाहिए। आपके नेतृत्‍व में हमें तुरंत प्रभावी समाधान मिलेंगे इसमें कोई शक नहीं।

श्रीलंका के राष्‍ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी को इस बेहतरीन पहल के लिए शुक्रिया, श्रीलंका इसके लिए तैयार है। हमें इस वक्‍त एकजुट होकर काम करना होगा, ताकि हमारी जनता सुरक्षित रहे।

मालदीव के राष्‍ट्रपति इब्राहिम मोहम्‍मद सोलिह ने भी प्रधानमंत्री मोदी को धन्‍यवाद कहा। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के खात्‍मे के लिए सामूहिक प्रयास की जरूरत है। मालदीव इस प्रस्‍ताव का स्‍वागत करता है और पूरी तरह समर्थन देता है।

अफगानिस्तान ने भी कोरोनो वायरस प्रकोप से निपटने के प्रधानमंत्री मोदी के प्रस्ताव का समर्थन किया है। अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी के प्रवक्ता ने कहा कि अफगान सरकार प्रधानमंत्री मोदी के प्रस्ताव का स्वागत करती है और अन्य सार्क सदस्यों के साथ इस क्षेत्र में कोरोनो वायरस से लड़ने के लिए तत्परता के साथ मिलकर काम करना चाहती है।

Leave a Reply