Home पोल खोल Rajasthan में कांग्रेस राज में महिला को सरेआम JCB से रोंदने का...

Rajasthan में कांग्रेस राज में महिला को सरेआम JCB से रोंदने का वीडियो वायरल, फिर भी कांग्रेसी मौन, प्रियंका गांधी को सिर्फ यूपी में दिखती हैं महिलाएं असुरक्षित

668
SHARE

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी का उत्तर प्रदेश में दिया नारा ‘लड़की हूं, लड़ सकती हूं’…हकीकत में चरितार्थ होते देखना हो तो आपको राजस्थान में आना होगा, जहां पर प्रियंका गांधी की पार्टी की ही सरकार है। राजस्थान के बाड़मेर में सरेआम, दिन-दहाड़े एक महिला पर जेसीबी चढ़ाने का वीडियो सामने आया है। महिला अकेली पत्थर-लाठी से उस जेसीबी से लड़ती नजर आ रही है।महिला के ऊपर जेसीबी चढ़ाने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल
यह चौंकाने वाला वीडियो राजस्थान के बाड़मेर जिले के बायतु से है। जिसमें एक महिला के ऊपर जेसीबी चढ़ाने की कोशिश करते हुए साफ़ साफ़ देखा जा सकता है। महिला के ऊपर जेसीबी चढ़ाने का वीडियो वायरल होने के बाद सोशल मीडिया पर भाजपा नेताओं ने कांग्रेस और राजस्थान सरकार पर जमकर निशाना साधा और लिखा कि चौतरफा सन्नाटा पसरा है क्योंकि इस बार भी राज्य राजस्थान ही है।जेसीबी मशीन से एक महिला को कुचलकर मारने की कोशिश
दरअसल, बाड़मेर के बायतू थाना क्षेत्र में जमीन के एक टुकड़े को लेकर दो पक्षों के बीच झगड़ा हो गया। इस दौरान वहां मौजूद एक जेसीबी मशीन ने एक महिला को कुचलकर मारने की कोशिश की। लेकिन महिला उसके ऊपर हमला करने वाले लोगों से जूझती रही। महिला ने पत्थर उठाकर जेसीबी चालक को रोकने की भी कोशिश की। इसी दौरान एक शख्स ने महिला को नीचे गिरा दिया और उसके ऊपर जेसीबी चढ़ाने की कोशिश की गई। जैसे-तैसे महिला ने अपनी जान बचाई।राजस्थान में महिलाओं के खिलाफ अपराधों में अभूतपूर्व वृद्धि, सरकार मूकदर्शक
महिला के ऊपर जेसीबी चढ़ाने का वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है। भाजपा नेताओं सहित कई सोशल मीडिया यूजर्स ने बाड़मेर में हुई इस घटना का वीडियो शेयर कर कांग्रेस और राजस्थान सरकार पर निशाना साधा है। राजस्थान से भाजपा सांसद राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने भी इस वीडियो को ट्वीट करते हुए लिखा कि राजस्थान में अब ऐसी वारदातें आम हो गई हैं। NCRB के आंकड़े भी इस बात की पुष्टि करते हैं कि राजस्थान में महिलाओं के खिलाफ गंभीर अपराधों में अभूतपूर्व वृद्धि हुई है। लेकिन राजस्थान की कांग्रेस सरकार तो केवल एक मूकदर्शक बनी बैठी है। उन्हें केवल कुर्सी की चिंता है, जनता की नहीं।

घटना के बावजूद चौतरफा सन्नाटा, क्योंकि इस बार भी राज्य राजस्थान ही है
वहीं, उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सूचना सलाहकार शलभ मणि त्रिपाठी ने घटना का वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा कि गरीब महिला को रौंदने के लिए दिनदहाड़े चढ़ाई जेसीबी…लेकिन इस ख़ौफ़नाक घटना के बावजूद पसरा है चौतरफा सन्नाटा । इसलिए क्योंकि हर बार की तरह इस बार भी राज्य राजस्थान ही है।

प्रियंका को यूपी में ही दिखती हैं महिलाएं असुरक्षित
प्रियंका गांधी ने यूपी में नारा दिया है वह ‘लड़की हैं और लड़ सकती है’। दरअसल, प्रियंका को राजस्थान में आकर महिलाओं पर हो रहे अत्याचार की लड़ाई लड़नी चाहिए। अपना सरकार के पूछना चाहिए कि यहां महिलाओं के खिलाफ अपराधों में वृद्धि क्यों हो रही है और सरकार इसकी रोकथाम के लिए क्या कर रही है, लेकिन उन्हें  तो बस यूपी में ही महिलाएं असुरक्षित लग रही हैं। बेहद शर्मनाक तथ्य यह भी है कि राजस्थान बहु-बेटियों के प्रति अपराध में अव्वल है।अपराधों में लगातार बढ़ोतरी, फिर भी सीएम ने गृह मंत्रालय अपने पास ही रखा

महिलाओं के लिए विधानसभा चुनाव के सीटें रिजर्व करने का ढकोसला करने वाली प्रियंका गांधी के कांग्रेसी राज राजस्थान में ही महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं। महिलाओं के खिलाफ अपराधों के मामले में राजस्थान देश भर में तीसरे नंबर पर है। यह स्थिति भी तब है, जबकि राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत खुद गृह मंत्री भी हैं। यानी राज्य की कानून व्यवस्था संभालने की जिम्मेदारी भी खुद उन्हीं पर है। गृह मंत्रालय के इतने खराब प्रदर्शन के बाद भी सोमवार को मंत्रियों को मंत्रालय की जिम्मेदारी देते समय मुख्यमंत्री ने गृह मंत्रालय अपने पास ही रखा। ऐसे कयास लगाए जा रहे थे कि गृह मंत्रालय की जिम्मेदारी सचिन पायलट को मिल सकती है।दूसरों को नसीहत, खुद के घर अपराध
यूपी में मंगलवार को कांग्रेस प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी ने महिला सशक्तिकरण के लिए नारा दिया। मुख्यमंत्री गहलोत ने तत्काल प्रियंका की हां में हां मिलाते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश में महिलाएं बेहद असुरक्षित हैं। कांग्रेस ज्यादा से ज्यादा महिलाओं को विधानसभा में भेजेगी ताकि यूपी में महिलाओं का सशक्तिकरण हो सके।ट्विटर पॉलिटिक्स छोड़ राजस्थान आएं राहुल
कांग्रेस सरकार और आला अधिकारियों की नाक के नीचे इतनी बड़ी वारदात होने के बावजूद हत्यारे पुलिस की पकड़ से बाहर हैं। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनियां ने कहा है कि जमवारामगढ़ में महिला की निर्मम हत्या का मामला सामने आया है। ट्विटर पॉलिटिक्स के समय निकालकर राहुल और प्रियंका गांधी को राजस्थान आकर बहन-बेटियों पर हो रहे अत्याचार की सुध लेनी चाहिए।महिला अपराधों में देश में तीसरे नंबर पर
राजस्थान में जहां तक महिलाओं के प्रति अपराधों का सवाल है तो दुष्कर्म की घटनाओं में तो यह देश में पहले नंबर पर है ही। इसके अलावा महिलाओं के खिलाफ कुल अपराधों के मामले में भी यह देश में तीसरे नंबर पर है। एनसीआरबी के आंकड़ों के मुताबिक पिछले साल महिलाओं के खिलाफ 34535 केस दर्ज हुए। मंगलवार को ही जयपुर के झालाना के जंगलों में एक 11 साल की बच्ची से दुष्कर्म की वारदात भी हुई।बाड़मेर पुलिस ने दो एफआईआर दर्ज कर खानापूर्ति की
महिला के ऊपर जेसीबी चढ़ाने का वीडियो वायरल होने के बाद बाड़मेर के एसपी दीपक भार्गव ने जानकारी देते हुए कहा कि यह घटना 13 नवंबर की है। जहां दो पक्षों के बीच जमीन को लेकर झड़प हो गई थी। घटना के बाद नजदीकी पुलिस स्टेशन में मारपीट का मामला दर्ज कराया गया है। इस मामले में दो एफआईआर दर्ज की गई और पुलिस इस पूरे मामले की जांच में जुटी हुई है।

 

Leave a Reply