Home समाचार प्रधानमंत्री मोदी की कानपुर रैली में फसाद कराने की साजिश का खुलासा,...

प्रधानमंत्री मोदी की कानपुर रैली में फसाद कराने की साजिश का खुलासा, समाजवादी पार्टी का पदाधिकारी गिरफ्तार

1073
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की कानपुर रैली में फसाद कराने को लेकर एक बड़ा खुलासा हुआ है। प्रधानमंत्री मोदी ने 28 दिसंबर कानपुर मेट्रो के साथ बीना-पनकी पाइपलाइन प्रोजेक्ट का उद्घाटन किया और कई योजनाओं की सौगात दी। प्रधानमंत्री के कार्यक्रम के दौरान दंगा कराने के लिए बड़ी साजिश रची गई थी। साजिश रचने का आरोप में पुलिस ने समाजवादी पार्टी के एक पदाधिकारी को गिरफ्तार किया है और एक गाड़ी भी बरामद की है।

न्यूज 18 के अनुसार प्रधानमंत्री की रैली के ठीक पहले कानपुर के नौबस्ता में समाजवादी पार्टी के एक नेता ने खुद अपनी ही गाड़ी पर पीएम मोदी का पोस्टर लगाकर जमकर तोड़फोड़ की और आगजनी भी की। इतना ही नहीं, तोड़फोड़ और आगजनी का वीडियो रैली से ठीक पहले वायरल भी किया गया। वीडियो के जरिए बीजेपी कार्यकर्ताओं को भड़काने की साजिश थी। समाजवादी पार्टी नेताओं ने रैली में आए लोगों को उग्र करने और फसाद कराने की साजिश रची थी, लेकिन पुलिस की मुस्तैदी से कोई अप्रिय घटना नहीं हुई।ABP News के अनुसार रैली में फसाद कराने की साजिश को लेकर एफआईआर दर्ज की गई है। पुलिस ने सीसीटीवी और वीडियो फुटेज के आधार पर समाजवादी पार्टी के एक पदाधिकारी को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपी के खिलाफ धारा- 147, 148, 153-अ, 336, 427, 435, 341, 34, 500 505(2) के तहत मामला दर्ज हुआ है।

नवभारत टाइम्स के अनुसार पुलिस ने जब वायरल वीडियो को संज्ञान में लिया तो चौंकाने वाली बात सामने आई। दरअसल सपा कार्यकर्ता ने अपनी ही गाड़ी पर पथराव कर माहौल खराब करने के लिए साजिश रची थी। वीडियो में साफ देखा जा सकता है कि नौबस्ता हाइवे किनारे आधा दर्जन लाल टोपी लगाए युवक दो पुतलों में आग लगाते हैं। इसके साथ ही सरकार विरोधी नारे लगाते हुए नजर आते हैं। इसी दौरान सफेद रंग की एक कार आती है। इसमें बीजेपी का झंडा लगा था और कार के पीछे पीएम-सीएम के पोस्टर लगे होते थे। कार से एक युवक नीचे उतरता है और पुतला फूंकने के लिए मना करता है। इस बीच सपाई कार पर तोड़फोड़ शुरू कर देते हैं। कार पर पथराव करने के बाद बड़ी ही आसानी से चले जाते हैं। पुलिस ने जब वायरल वीडियो को संज्ञान में लिया तो देखा कि कार पर पथराव किया जा रहा है और कार मालिक चुपचाप खड़ा है। इसके साथ ही कार मालिक ने इसकी शिकायत पुलिस थाने में भी दर्ज नहीं कराई। जांच में खुलासा हुआ कि कार मालिक अंकुर पटेल भी सपा से जुड़ा है। सभी ने मिलकर साजिश रची थी।अमर उजाला के अनुसार कुछ सपा नेताओं ने कानपुर में प्रधानमंत्री के कार्यक्रम में बड़ा बवाल कराने की साजिश रची थी। प्रधानमंत्री मोदी जब शहर में थे तब सपा नेता अपनी ही कार में बीजेपी का झंडा और पोस्टर लगाकर हाईवे पर पहुंचे। वहां मौजूद अन्य सपाइयों ने कार में तोड़फोड़ की। यह दिखाने का प्रयास हुआ कि भाजपाई और सपाइयों के बीच विवाद हुआ। घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। वायरल वीडियो देखने के बाद पुलिस ने जब कार मालिक अंकुर पटेल से पूछताछ की तो बड़ा खुलासा हुआ। अंकुर भी समाजवादी पार्टी से जुड़ा हुआ है। इन सभी ने मिलकर बाकायदा साजिश रची। साजिश के तहत अंकुर अपने साथी के साथ वहां कार लेकर पहुंचता और फिर उसमें तोड़फोड़ की जाती है। जिससे भाजपाई भड़क जाएं और फिर बवाल हो जाए।

Leave a Reply