Home समाचार अमेरिकी सांसद ने की पीएम मोदी की तारीफ, कहा- रूस-यूक्रेन युद्ध रोकने...

अमेरिकी सांसद ने की पीएम मोदी की तारीफ, कहा- रूस-यूक्रेन युद्ध रोकने के पीएम मोदी के प्रयास होंगे कामयाब

339
SHARE

रूस और यूक्रेन बीच जारी युद्ध की वजह से भारत और अमेरिका के संबंध की अग्नि परीक्षा हो रही है। भारत अपने राष्ट्रीय हित को ध्यान में रखते हुए जहां पुराने दोस्त रूस के खिलाफ खड़ा होने से बच रहा है, वहीं अमेरिका के दबाव में आये बिना स्वतंत्र रूप से फैसले ले रहा है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी रूस-युक्रेन युद्ध रोकने के साथ ही रूस और अमेरिका के बीच बढ़ते तनाव को कम करने की कोशिश भी कर रहे हैं। अमेरिका की एक वरिष्ठ सांसद ने प्रधानमंत्री मोदी के इस प्रयास की तारीफ की है। साथ ही उम्मीद जतायी है कि उनके प्रयास से क्षेत्र में शांति बहाल करने में मदद मिलेगी।

अमेरिकी कांग्रेस की सदस्य कैरोलिन मैलोनी ने एक साक्षात्कार में कहा, ”मुझे लगता है कि अभी वह (मोदी) यूक्रेन को लेकर रूस और अमेरिका के बीच शांति कायम करने की कोशिश कर रहे हैं। मुझे लगता है कि यह बहुत सकारात्मक उद्देश्य है।” उन्होंने कहा कि हमारे (भारत और अमेरिका के) बीच मजबूत आर्थिक संबंध हैं, हमारे मजबूत शांति संबंध हैं और हमारे एक जैसे मजबूत मूल्य (वैल्यू) हैं, मैं कहना चाहूंगी कि हमारी एक जैसी सरकार है।

कैरोलिन मैलोनी ने कहा कि एक बात सच है कि अगर आप कोशिश नहीं करते तो आप कभी कामयाब नहीं होते हैं। आपको प्रयास करते रहने होंगे। दुनिया के लिए मैं उम्मीद करती हूं कि यूक्रेन, रूस और विश्व के बीच शांति के लिए काम करे रहे किसी भी व्यक्ति के प्रयास मददगार होंगे। उन्होंने कहा कि यह बहुत खतरनाक दौर है क्योंकि हम सभी तीसरे विश्वयुद्ध का भार नहीं उठा सकते। हम परमाणु शक्ति संपन्न हैं। हम यह जोखिम नहीं ले सकते। हमें एक समझौता करना होगा और लोगों को बहुत ज्यादा परेशानी हो रही है।

कैरोलिन मैलोनी का यह बयान रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव की भारत की यात्रा और प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात के बाद आया है। प्रधानमंत्री मोदी ने शुक्रवार को रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव से कहा था कि भारत, यूक्रेन संकट का हल करने के लिए शांति प्रयासों में किसी भी तरीके से योगदान देने के लिए तैयार है और उन्होंने युद्धरत देश में हिंसा पर तत्काल रोक लगाने का आह्वान किया। वहीं सर्गेई लावरोव ने कहा था कि शांति के लिए अगर भारत  तार्किक मध्यस्थता का प्रयास करता है तो रूस उसका स्वागत करेगा।

गौरतलब है कि कैरोलिन मैलोनी शक्तिशाली ‘ओवरसाइट कमेटी’ की अध्यक्ष और अमेरिकी संसद (कांग्रेस) में सबसे वरिष्ठ डेमोक्रेट सदस्यों में से एक हैं। वह 1993 से अमेरिका की प्रतिनिधि सभा में निर्वाचित होती रही हैं। मैलोनी कांग्रेस में और उसके बाहर भारत और भारतीय अमेरिकियों की मित्र भी हैं। वह दिवाली के त्योहार पर संघीय अवकाश घोषित करने और अमेरकी संसद का प्रतिष्ठित गोल्ड मेडल महात्मा गांधी को देने के दो विधेयकों को पारित कराने की कोशिशें कर रही हैं।

 

 

 

Leave a Reply