Home पोल खोल YEAR ENDER-2021: विपक्षियों ने इन 15 शर्मनाक बयानों से प्रधानमंत्री मोदी को...

YEAR ENDER-2021: विपक्षियों ने इन 15 शर्मनाक बयानों से प्रधानमंत्री मोदी को घेरने की कोशिश की, लेकिन बुरी तरह नाकाम रहे और अपनी ही नाक कटाई

1099
SHARE

अलविदा होते साल 2021 पर नजर डालें तो प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अनगिनत उपलब्धियां सामने हैं, इसके बावजूद चाहे राहुल गांधी हों या ममता बनर्जी, अखिलेश यादव हों या प्रियंका गांधी, विपक्षी दलों के नेता प्रधानमंत्री, बीजेपी, हिंदुत्व और राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ पर विवादित बयान देते नजर आए। कुछ विपक्षी नेताओं ने तो इतने शर्मसार करने वाले बयान दिए कि देशभर में उनकी आलोचना हुई।प्रधानमंत्री मोदी की लोकप्रियता बढ़ी, विपक्षियों की ट्रोलिंग और मीम्स बने
सोशल मीडिया पर इन नेताओं की जमकर ट्रोलिंग हुई। सबसे ज्यादा मीम्म सबसे शर्मनाक बयान देने वाले राहुल गांधी पर ही बने। विपक्षी नेताओं ने इस तरह के बयान देकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को घेरने की कोशिश की, लेकिन वे बुरी तरह नाकाम रहे। प्रधानमंत्री मोदी की लोकप्रियता का ग्राफ तेजी से और ऊपर चढ़ता रहा और इन नेताओं ने शर्मनाक बयानों से अपनी ही फजीहत कराई, अपनी ही नाक कटाई !!

आइये, 2021 के सबसे विवादित और शर्मनाक 15 बयानों पर एक नजर डालते हैं….

1. मैं हिंदू हूं, लेकिन हिंदुत्वादी नहीं : राहुल गांधी
कांग्रेस द्वारा जयपुर में आयोजित रैली में राहुल गांधी ने कहा कि महात्मा गांधी हिंदू थे और गोडसे हिंदुत्वादी था। उन्होंने यह भी कहा कि मैं हिंदू हूं, लेकिन हिंदुत्वादी नहीं हूं। जैसे दो जीवों कि एक आत्मा नहीं हो सकती, वैसे ही दो शब्दों का एक मतलब नहीं हो सकता। राहुल के इस शर्मनाक बयान की देशभर में आलोचना हुई और इस पर कई मीम्स भी बने। सोशल मीडिया पर प्रतिक्रिया आई कि यह तो वैसे ही है, जैसे कोई कहे मैं आतंकी हूं, लेकिन आतंकवादी नहीं हूं।2.बीजेपी और आरएसएस ‘महिला विरोधी’ : राहुल गांधी
कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने उत्तर प्रदेश के एक कार्यक्रम में भी विवादित बयान देते हुए बीजेपी और आरएसएस को ‘महिला विरोधी’ बता दिया। राहुल गांधी ने यह भी कहा कि संघ और भाजपा ‘हिंदू देवी देवियों की शक्तियां छीनने’ वाले लोग हैं। राहुल ने ट्वीट भी किया था, “लक्ष्मी की शक्ति- रोज़गार, दुर्गा की शक्ति- निडरता, सरस्वती की शक्ति- ज्ञान और बीजेपी जनता से ये शक्तियाँ छीनने में लगी है.” इस पर सीएम योगी और बीजेपी नेताओं ने भी नाराजगी जताई।3.राहुल ने जिस उत्तर भारत का अपमान किया सोनिया वहीं से सांसद स्मृति
राहुल गांधी ने 23 फरवरी को त्रिवेंद्रम में लोगों को संबोधित करते हुए कहा, ”मैं 15 साल उत्तर (अमेठी) से सांसद रहा वहां मुझे अलग किस्म की राजनीति की आदत हो गई थी। केरल आना मेरे लिए काफी रिफ्रेशिंग रहा, क्योंकि मैंने देखा कि यहां के लोग मुद्दों में रूचि लेते हैं और सिर्फ ऊपरी तौर पर नहीं, उसकी गहराई में जाते हैं।” बीजेपी नेताओं ने कहा कि राहुल गांधी अमेठी के लोगों की समझ पर कैसे सवाल उठा सकते हैं। अमेठी से बीजेपी सांसद स्मृति ईरानी ने कहा कि राहुल जिस उत्तर भारत का अपमान कर रहे हैं, सोनिया गांधी वहीं से सांसद हैं।4.जय श्रीराम बोलने वाले निशाचर : राशिद अल्वी
वरिष्ठ कांग्रेस नेता राशिद अल्वी ने जय श्रीराम बोलने वालों को निशाचर (राक्षस) बता दिया। उन्होंने कल्कि महोत्सव के दौरान संभल में आयोजित कार्यक्रम में कहा है कि जय श्रीराम बोलने वाले मुनि नहीं है। वह रामायण के उस कालनेमि राक्षस के समान हैं, जिसने हनुमान का रास्ता रोकने के लिए राम नाम का जाप किया था। उन्होंने आगे कहा कि वह भगवान श्री कल्कि से प्रार्थना करते हैं कि जल्द अवतार लेकर गुनाहगारों को समाप्त करें। बीजेपी ने इसका कड़ा प्रतिवाद किया।5.खुर्शीद ने हिंदुत्व की तुलना ISIS और बोको हरम जैसे  जिहादी समूहों से की
पूर्व केंद्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद ने हिंदुत्व की तुलना ISIS और बोको हरम जैसे कट्टरपंथी जिहादी समूहों से कर डाली। यह टिप्पणी सलमान खुर्शीद ने अपनी किताब ‘सनराइज ओवर अयोध्या : नेशनहुड इन आवर टाइम्स’ पृष्ठ संख्या 113 पर “द केसर स्काई” नामक अध्याय में की। देशभर में उनकी इस टिप्पणी की आलोचना होने के बाद सलमान को सफाई देनी पड़ी।6.पूर्व मंत्री उमंग सिंघार ने प्रधानमंत्री मोदी की राक्षस से तुलना की
मध्यप्रदेश के पूर्व मंत्री और कांग्रेस नेता उमंग सिंघार ने विवादित बयान दिया है। उमंग सिंघार ने ट्वीट कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की राक्षस से तुलना की है। पूर्व मंत्री और कांग्रेस नेता उमंग सिंघार ने विवादित ट्वीट में प्रधानमंत्री मोदी के काशी दौरे के दौरान फोटो शेयर करते हुए लिखा है कि सनातन धर्म के पुराणों में जितने भी विनाशकारी राक्षसों का वर्णन है, वे सभी भगवान शिव को ही प्रसन्न करने में लगे रहते थे।

7. कर्नाटक से कांग्रेस विधायक के बयान से पूरी कांग्रेस ही शर्मसार हुई
कर्नाटक कांग्रेस के विधायक रमेश कुमार के बयान ने सारी कांग्रेस को शर्मसार कर दिया। उन्होंने कर्नाटक विधानसभा में कहा, “जब बलात्कार होना ही है तो लेट जाओ और इसका मजा लो।” इस बयान को लेकर उनकी जमकर आलोचना हुई। कांग्रेस नेता राहुल गांधी व प्रियंका गांधी पर भी सवाल खड़े किए गए कि उनकी पार्टी में किस तरह की घृणित सोच के विधायक हैं। फिल्म निर्माता अशोक पंडित ने रमेश कुमार का वीडियो साझा कर राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को आड़े हाथों लिया और उनकी चुप्पी को शर्मनाक भी बताया।

8. पीएम मोदी के पास जाएगा, उसे वैक्सीन लगवानी पड़ेगी ममता बनर्जी
सिलीगुड़ी की रैली में प्रधानमंत्री मोदी पर विवादित बयान देते हुए तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्ष ममता बनर्जी ने उन्हें कोरोना वायरस ही बता दिया। ममता बनर्जी ने कहा कि जो भी पीएम मोदी के पास जाएगा, उसे वैक्सीन लगवानी पड़ेगी।9. रावण और दानव म‍िलकर देश को चला रहे हैं : ममता बनर्जी
पश्चिम बंगाल के विधानसभा चुनावों में ममता बनर्जी ने कई विवादित और शर्मसार करने वाले बयान दिए। सिलीगुड़ी के साथ हुगली रैली में भी ममता के बोल बिगड़े हुए थे। इस साल मार्च में हुई इस रैली में ममता बनर्जी ने कहा कि रावण और दानव म‍िलकर देश को चला रहे हैं।

10. मोदी देश के सबसे बड़े दंगाबाज, गुंडे बंगाल पर शासन नहीं कर सकते : ममता बनर्जी
मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने चुनावी रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ विवादित बयान दिया। उन्होंने मोदी को देश का सबसे बड़ा दंगाबाज कह दिया। ममता ने कहा कि जैसा अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के साथ हुआ, मोदी के साथ उससे भी बुरा होगा। हिंसा से कुछ हासिल नहीं हो सकता। ममता ने कहा कि हर बार भाजपा तृणमूल कांग्रेस को टोलाबाज कहकर बुलाती है, लेकिन मैं कहती हूं कि भाजपा दंगाबाज और धंधाबाज है। उन्होंने कहा कि मोदी के साथ शाह भी देश में झूठ और नफरत फैला रहे हैं।

11. बनारस अच्छी जगह है, आखिरी समय में वहीं रहा जाता है : अखिलेश यादव
समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर विवादित बयान दिया। शर्मसार करने वाले बयान में यादव ने कहा कि प्रधानमंत्री एक महीना क्या 3 महीने तक बनारस में रहें। अच्छी जगह है। वह जगह रहने वाली है। आखिरी समय में वहीं रहा जाता है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने अपने एक डिप्टी सीएम को पैदल कर दिया और एक को स्टूल पर बैठा दिया। बाद में उन्होंने सफाई दी कि मैं प्रधानमंत्री की नहीं बीजेपी सरकार की बात कर रहा था।

12. अखिलेश यादव ने साधु-संतों के बताया चिलमजीवी
इस साल समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष यादव ने साधू संतों पर भी विवादित टिप्पणी की। उन्होंने साधु-संतों को चिलमजीवी बताया। इसके बाद अखिलेश यादव की काफी आलोचना हो रही है, लेकिन उनको अपने बयान का कोई पछतावा नहीं है।

13. गांधी-जिन्ना की तुलना, जिन्ना ने दिलाई आजादी : अखिलेश यादव
यूपी विधानसभा चुनाव से पहले एक बार फिर जिन्ना जिक्र हुआ है। हरदोई में जनसभा के दौरान समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष ने आजादी पर बोलते हुए जिन्ना को लेकर बयान दिया और कहा कि पटेल, गांधी और जिन्ना की विचारधारा एक थी। जिन्ना ने भी देश को आजादी दिलाई।

14. मुगलों ने तो इस देश को अपना बनाया : मणिशंकर अय्यर
अपने विवादित बयानों के लिए हमेशा सुर्खियों में रहने वाले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मणिशंकर अय्यर ने एक बार फिर विवादित बयान दिया. उन्होंने कहा कि मुगलों ने देश को अपना बनाया, अंग्रेजों ने कहा कि नहीं हम तो यहां राज करने आए हैं…बाबर जो थे, जिसकी औलाद हमारे भारतीय जनता पार्टी वाले मुझे कहते हैं कि ये बाबर की औलाद है, वह तो कुछ समय ही यहां रहे। उन्होंने जोर देकर कहा कि हम अकबर को अपना समझते हैं, इसलिए हमें अकबर रोड के कोई आपत्ति नहीं है

15. हवाई जहाज में उड़कर वाराणसी में नौटंकी करने आए : प्रियंका गांधी
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने अमेठी की एक सभा में कहा कि आपको ऐसे प्रधानमंत्री चाहिए, जो आपको गेहूं-धान का दाम सही नहीं दे सकते, लेकिन 8 हजार करोड़ के हवाई जहाज में उड़कर वाराणसी में नौटंकी करने आ सकते हैं। सबकी आस्था होती है। सबका धर्म होता है, लेकिन सब दिखावा नहीं करते। आप समझ लीजिए कि किस तरह हर चुनाव में सांप्रदायिक और जातिवाद की बातें होती हैं।

 

Leave a Reply