Home समाचार विश्व भारती के वीसी ने पीएम मोदी से मांगी सुरक्षा, टीएमसी नेता...

विश्व भारती के वीसी ने पीएम मोदी से मांगी सुरक्षा, टीएमसी नेता अनुब्रत मंडल पर धमकी देने का आरोप

722
SHARE

पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी और टीएमसी के गुंडों का आतंक है। जो भी व्यक्ति ममता और टीएमसी के इशारों पर काम नहीं करता है, उसे सबक सीखाने की कोशिश की जाती है। अब टीएमसी नेताओं के निशाने पर विश्व भारती विश्वविद्यालय के कुलपति विद्युत चक्रवर्ती हैं। उन्होंने पत्र लिखकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से सुरक्षा की मांग की है। स्थानीय समाचार पत्रों की खबरें संलग्न करते हुए उन्होंने आरोप लगाया कि टीएमसी के नेता अनुब्रत मंडल ने उन्हें सबक सिखाने की धमकी दी है। 

विद्युत चक्रवर्ती ने 24 मार्च को प्रधानमंत्री मोदी को लिखे पत्र में कहा, ‘मैं आपके संज्ञान में यह बात लाना चाहता हूं कि तृणमूल कांग्रेस के जिला अध्यक्ष अनुब्रत मंडल ने चुनाव के बाद मुझे गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी दी।’ चक्रवर्ती ने आगे कहा, ‘इन परिस्थितियों में, मेरा आपसे अनुरोध है कि परिसर में किसी अप्रिय घटना को होने से रोकने और मेरी एवं मेरे परिजन की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए कदम उठाए जाएं।’

अनुब्रत मंडल ने 23 मार्च को एक जनसभा के दैरान कहा था कि एक पागल व्यक्ति विश्वभारती के कुलपति की कुर्सी पर बैठा है, जो कलकत्ता उच्च न्यायालय के आदेश के बावजूद दिन में विश्वविद्यालय के सभी द्वार बंद रखता है। मंडल ने स्पष्ट रूप से चक्रवर्ती का जिक्र करते हुए कहा था कि हम चुनाव के बाद आपको लोकतांत्रिक माध्यमों से ऐसा सबक सिखाएंगे, जो आप कभी नहीं भूलेंगे।

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री मोदी इस विश्वविद्यालय के कुलाधिपति हैं। 19 फरवरी, 2021 को प्रधानमंत्री मोदी ने ऐतिहासिक विश्व भारती यूनिवर्सिटी के दीक्षांत समारोह को संबोधित किया था। गुरुदेव रवींद्रनाथ टैगोर द्वारा 1921 में स्थापित विश्व-भारती देश का सबसे पुराना केंद्रीय विश्वविद्यालय है। मई 1951 में संसद के एक अधिनियम द्वारा विश्व-भारती को एक केंद्रीय विश्वविद्यालय और ‘राष्ट्रीय महत्व का संस्थान’ घोषित किया गया था। इस विश्वविद्यालय ने गुरुदेव टैगोर द्वारा विकसित शिक्षाशास्त्र का अनुसरण किया लेकिन धीरे-धीरे यह उस प्रारूप को अपनाया जिसमें कोई आधुनिक विश्वविद्यालय विकसित होता है।

Leave a Reply