Home समाचार भविष्य का हमारा रास्ता और मंजिल दोनों स्पष्ट, आत्मनिर्भर भारत रास्ता भी...

भविष्य का हमारा रास्ता और मंजिल दोनों स्पष्ट, आत्मनिर्भर भारत रास्ता भी है और संकल्प भी : पीएम मोदी

259
SHARE

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से जैन अंतरराष्ट्रीय व्यापार संगठन JITO Connect 2022 का उद्घाटन किया। इसके साथ ही इस मौके पर उपस्थित लोगों को संबोधित किया। अपने संबोधन के दौरान उन्होंने कहा कि चाहे वैश्विक शांति हो, समृद्धि की हो, अंतरराष्ट्रीय आपूर्ति श्रृंखला को मजबूत बनाना हो या फिर वैश्विक चुनौतियों से जुड़े समाधान हो, आज दुनिया भारत की ओर बड़े विश्वास के साथ देख रही है। पीएम मोदी ने कहा कि हमारे देश को लेकर दुनिया का दृष्टिकोण आशावादी है। इस भरोसे पर हर एक भारतीय को गर्व होना चाहिए। भारत वैश्विक कल्याण के लिए बड़े लक्ष्य के साथ आगे बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि भविष्य का हमारा रास्ता और मंज़िल दोनों स्पष्ट, आत्मनिर्भर भारत रास्ता भी है और संकल्प भी। नए भारत की शुरुआत सब को एकजुट करती है।

देशवासियों के पास संकल्प की सिद्धि की कमान

अपने संबोधन के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि देश में बन रहे सही वातावरण का सदुपयोग कर, संकल्पों की सिद्धि की कमान अब देशवासियों के पास है। विशेष रूप से इसमें बड़ी भूमिका युवा जैन समाज के entrepreneurs की है, innovators की है। आज़ादी के इस अमृत महोत्सव में Jain international Trade organization से एक संस्था के रूप में देश को काफी अपेक्षाएं हैं। उन्होंने कहा कि शिक्षा हो, स्वास्थ्य हो, दूसरे वेलफेयर के संस्थान हों, जैन समाज ने best institutions, best practices और best services को encourage किया है। पीएम मोदी ने अपनी अपेक्षा के बारे में बताते हुए स्थानीय उत्पादों पर बल देने, वोकल फॉर लोकल के मंत्र के साथ आगे बढ़ते हुए एक्सपोर्ट के लिए नए डेस्टिनेशन तलाशने और अपने क्षेत्र के स्थानीय उद्यमियों को उनके प्रति जागरूक करने पर बल देने को कहा।

वोकल फॉर लोकल मंत्र को किया रेखांकित

‘वोकल फॉर लोकल’ मंत्र को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि, ‘आजादी के 75 साल का जश्न मनाने के बीच हमें विदेश के प्रोडक्ट्स का गुलाम नहीं बनना चाहिए।’ उन्होंने तीन यूरोपीय देशों की अपनी तीन दिवसीय यात्रा का भी उल्लेख किया। इस संदर्भ में पीएम मोदी ने बताया कि उन्होंने भारत के सामर्थ्य, संकल्पों और अवसरों के संबंध में काफी लोगों से चर्चा की है। नए भारत का उदय सभी को जोड़ता है। दुनिया अब भारत की तरफ देखने लगी है। दुनिया में राजनीति से जुड़े लोग हों, नीति निर्माण से जुड़े लोग हो, या फिर जागरूक समाज के नागरिक हों, विचारों में चाहे जितनी भी भिन्नता हो, आज सभी को लगता है कि भारत अब प्रोबैबिलिटी और पोटेंशियल से आगे बढ़कर वैश्विक कल्याण के लिए आगे बढ़ रहा है।

पारदर्शिता का उदाहरण GeM पोर्टल

पीएम मोदी ने सरकारी व्यवस्थाओं में आई पारदर्शिता के बारे में कहा कि जब से Govt e-Marketplace यानि GeM पोर्टल अस्तित्व में आया है, सारी खरीद एक प्लेटफॉर्म पर सबके सामने होती है। इससे दूर-दराज के गांव के लोग, छोटे दुकानदार और स्वयं सहायता समूह सीधे सरकार को अपना सामान बेच सकते हैं। आज GeM पोर्टल पर 40 लाख से अधिक sellers जुड़ चुके हैं। खास बात है कि 10 लाख sellers तो सिर्फ 5 महीने में ही जुड़े हैं। ये आंकड़े दिखाते हैं कि इस नई व्यवस्था पर लोगों का भरोसा कितना बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि जब सरकार में इच्छाशक्ति होती है, तो बदलाव संभव बन ही जाता है।

Leave a Reply