Home नरेंद्र मोदी विशेष प्रधानमंत्री ने युवाओं से किया देश को टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में आत्मनिर्भर...

प्रधानमंत्री ने युवाओं से किया देश को टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनाने का आह्वान

2939
SHARE

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने युवाओं से टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में बढ़-चढ़कर भूमिका निभाने का आह्वान किया है। लखनऊ में डॉक्टर एपीजे अब्दुल कलाम टेक्निकल यूनिवर्सिटी के नये परिसर के उद्घाटन के अवसर पर प्रधानमंत्री ने कहा कि डिफेंस के क्षेत्र में आज भारत को आत्मनिर्भर बनाने की आवश्यकता है और इसके लिए नौजवानों को आगे आना होगा। उन्होंने कहा कि टेक्नोलॉजी की दुनिया में प्रेरणा के लिए डॉक्टर कलाम से बड़ा कोई नाम नहीं हो सकता।

काबिलियत से भरी है देश की युवाशक्ति

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि सुरक्षा के संसाधनों को आज हमें विदेश से लाने की आवश्यकता पड़ती है..जिस स्थिति को बदलना होगा। हमें उस क्षमता को हासिल करना है ताकि जरूरी टेक्नोलॉजी और उपकरण हम देश के भीतर ही विकसित कर सकें। प्रधानमंत्री ने कहा कि जब भी देश के युवाओं को कुछ कर दिखाने का मौका मिला है उन्होंने उसे पूरा करके दिखाया है। प्रधानमंत्री ने कहा कि अपने पहले प्रयास में कोई भी देश मंगल ग्रह पर नहीं पहुंच पाया लेकिन भारत ऐसा इकलौता देश बना। हॉलीवुड फिल्म से भी कम बजट में इस उपलब्धि को हासिल कर भारत ने दुनिया को दंग कर दिया। उन्होंने कहा कि हमारी युवा पीढ़ी और वैज्ञानिकों की काबिलियत यही है कि हम एक एक साथ 104 उपग्रहों को छोड़ने की क्षमता हासिल कर चुके हैं।

आज डॉक्टर नहीं मशीन बताती है बीमारी

प्रधानमंत्री ने इस मौके पर चिकित्सा विज्ञान के क्षेत्र में नई-नई खोज में लगे वैज्ञानिकों का आभार जताते हुए कहा कि सस्ते, कारगर और साइड इफेक्ट के बिना त्वरित उपचार करने वाली दवाओं को तैयार करने के लिए वो अपनी पूरी जिंदगी लेबोरेट्री में गुजार रहे होते हैं। वैज्ञानिकों को आधुनिक ऋषि की संज्ञा देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि मानव को किस प्रकार पीड़ा से मुक्त किया जाए वो हमेशा उस दिशा में काम कर रहे होते हैं। उन्होंने कहा कि गरीब से गरीब व्यक्ति को कारगर दवाई कैसे प्राप्त हो, ये एक चुनौती है लेकिन इस पर विजय पाने का लक्ष्य लेकर हमारे वैज्ञानिक बढ़ रहे हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि आज मेडिकल साइंस टेक्नोलॉजी पर पूरी तरह निर्भर है, आज डॉक्टर नहीं बल्कि मशीन बताती है कि बीमारी क्या है? उन्होंने कहा कि हेल्थ से जुड़ी नई-नई खोज देश में ही किये जाने की जरूरत है और मेडिकल उपकरणों का देश में ही निर्माण हो, ये कोशिश होनी चाहिए।

‘2022 तक सबका हो घर अपना

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस मौके पर प्रधानमंत्री आवास योजना की कुछ लाभार्थियों को सांकेतिक तौर पर प्रमाण पत्र भी बांटे। प्रधानमंत्री ने कहा कि आजादी के 75 साल पूरे होने के अवसर पर साल 2022 तक हर गरीब अपने घर में हो, यही उनका सपना है। प्रधानमंत्री ने ये भी कहा कि घर सिर्फ घर तक सीमित नहीं हो, बल्कि उसके साथ शौचालय, बिजली-पानी और पास में बच्चों की शिक्षा-व्यवस्था ये सभी सुविधाएं भी जुड़ी हों, सपना तभी असल में पूरा होगा। प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में एक लाभार्थी से हुई बातचीत का भी जिक्र किया,जिन्होंने प्रधानमंत्री को घर बनने के बाद अपने यहां होने वाली शादी में आने का निमंत्रण भी दे दिया। प्रधानमंत्री ने कहा कि सपने जब सच होने लगते हैं तो लोगों में अपने आप कुछ कर गुजरने का भाव पैदा होता है।

‘GST परिपक्व लोकतंत्र की एक मिसाल

प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में एक जुलाई से लागू होने वाले Goods and Service Tax (GST) की भी चर्चा की। उन्होंने कहा कि एक जुलाई से देश की अर्थव्यव्यवस्था में एक बहुत बड़ा परिवर्तन होने जा रहा है और इसके लिए वो देश के सभी राजनीतिक दल, राज्य सरकारें, विधानसभा और संसद के आभारी हैं। उन्होंने कहा कि यही हिंदुस्तान के लोकतंत्र की ताकत है कि दल से ऊपर देश है और देशहित में सभी कंधे से कंधा मिलाकर चल रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि जीएसटी का क्रेडिट ना उनका है, ना उनकी सरकार का है..ये क्रेडिट अगर किसी को जाता है तो वो हैं सवा सौ करोड़ देशवासी जिनकी बदौलत हिंदुस्तान आज सबसे तेज गति से बढ़ने वाला देश बन चुका है।

Leave a Reply