Home समाचार दुःख बांटने जा रहे भाई-बहन की खुशी देखिए, पीड़ित परिवार से मिलने...

दुःख बांटने जा रहे भाई-बहन की खुशी देखिए, पीड़ित परिवार से मिलने जा रहे है या फिर मजाक उड़ाने

1014
SHARE

हाथरस कांड को लेकर कांग्रेस का सियासी ड्रामा जारी है। आज फिर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका वाड्रा पीड़ित परिवार से मिलने दिल्ली से हाथरस के लिए रवाना हुए। हाथरस जाने के दौरान प्रियंका गांधी खुद ड्राइविंग सीट पर बैठीं नजर आयी, जबकि भाई राहुल बगल की सीट पर बैठे हुए थे। लेकिन दिल्ली से हाथरस के इस सफर में जिस तरह दोनों भाई-बहन ठहाका लगाते नजर आए, उससे लगता है कि उन्हें कोई तुरुप का पत्ता हाथ लग गया हो। ये इस घटना से इतने खुश है कि इनकी खुशी छिपाये नहीं छिप रही है। ये दलितों का हमदर्द बनकर उनको छलने का कोई मौका नहीं चुकते हैं। फिर ये दलितों के दर्द पर अपनी सियासी रोटियां सेंकने की कोशिश कर रहे हैं। 

इनकी खुशी देखकर लगता है कि ये दलितों का दुःख बांटने जा रहे या उनकी भावानओं के साथ सियासी खिलवाड़ करने। हाथरस पहुंचते ही इनके चेहरे के भाव बदल जाएंगे और मीडिया के कैमरे के सामने झूठी सहानुभूति के बोल फूट पड़ेंगे। टीवी चैनलों पर कवरेज पाने के लिए घड़ियाली आंसू बहाने का मौका भी नहीं चुकेंगे। लेकिन सवाल उठाता है कि कांग्रेस की इस ड्रामेबाजी से पीड़ित परिवार को क्या हासिल होगा ? इस सवाल का जवाब खुद पीड़ित परिवार ही दे सकता है। लेकिन भाई-बहन का यह हाथरस सफर ‘हास्य रस’ सफर बन गया है। सोशल मीडिया में इस ‘हास्य रस’ सफर पर लोगों ने कड़ी प्रतिक्रिया दी और इनकी संवेदनहीन राजनीति पर सवाल खड़े किए हैं।


Leave a Reply