Home नरेंद्र मोदी विशेष MODI@72 : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जन्मदिन पर जानिए उनसे संबंधित रोचक...

MODI@72 : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जन्मदिन पर जानिए उनसे संबंधित रोचक बातें

566
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी आज दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेताओं की सूची में शीर्ष पर विराजमान हैं। लेकिन मां हीराबेन के आंचल के साए तले बीते बचपन से लेकर दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेता बनने तक का सफर संघर्षों से भरा रहा है। गरीबी और अभावों के बीच बीते बचपन ने नरेन्द्र मोदी को हर विपरीत परिस्थिति में धैर्य के साथ चुनौतियों से लड़ने और अथक परिश्रम का साहस दिया, वहीं युवावस्था के सन्यासी जीवन ने अनुशासन, योग और आध्यात्मिक ज्ञान से परिचय कराया। एक प्रचारक और संगठनकर्ता के रूप में सांसारिक चुनौतियों से साक्षात्कार किया, जिसके अनुभव ने मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री के रूप में गरीबों, वंचितों और जरूरतमंदों की पीड़ा को समझने और उनकी सेवा करने में मदद की। इसके साथ ही देश का संतुलित विकास के लिए ‘न्यू इंडिया’ का एक विजन मिला। आज यानि 17 सितंबर को प्रधानमंत्री मोदी का 72वां जन्मदिन है, इस मौके पर जानते हैं उनके जीवन से जुड़ी कुछ रोचक बातें…

बाल्यावस्था और किशोरावस्था

  • पीएम नरेन्द्र मोदी का जन्म 17 सितंबर 1950 को वडनगर में दामोदार दास मोदी व हीराबेन के यहां हुआ था।
  • प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के पिता दोमादार दास मोद की वडननगर रेलवे स्टेशन पर चाय की दुकान थी।
  • पीएम नरेन्द्र मोदी बचपन में स्कूल में एक्टिंग व वाद-विवाद में भाग लेते थे और एनसीसी के सदस्य थे।
  • बोलने की कला में तो उनका कोई जवाब नहीं था, हर वाद विवाद प्रतियोगिता में नरेन्द्र मोदी हमेशा अव्वल आते थे। 
  • पीएम मोदी और बचपन के मुस्लिम दोस्त अब्बास की दोस्ती के चर्चे वडनगर की गली-गली में आज भी होते हैं।
  • नरेन्द्र मोदी शर्मिष्ठा तालाब में एक घड़ियाल का बच्चा पकड़कर घर लेकर आए थे। मां के समझाने पर वे वापस उसे तालाब में छोड़कर आए।
  • नरेन्द्र मोदी बचपन से ही स्टाइलिश थे। हेयर स्टाइल और कपड़ों को लेकर नए-नए प्रयोग करते रहते थे।
  • प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी बचपन में साधु-संतों से प्रभावित हुए। वे बचपन से ही संन्यासी बनना चाहते थे।
  • सन्यासी बनने के लिए घर से भाग गए थे। इस दौरान पश्चिम बंगाल के रामकृष्ण आश्रम सहित कई जगहों पर घूमते रहे।
  • 1958 में दीपावली के दिन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बाल स्वयंसेवक के रूप में शपथ ली थी।
  • नरेन्द्र मोदी जब बचपन में आरएसएस के कैंप में जाते थे। वहां कई तरह के खेल होते थे। इस दौरान उनका लगाव योग के प्रति बढ़ गया।
  • 1965 में भारत-पाक युद्ध के दौरान पीएम नरेन्द्र मोदी स्टेशन से गुजर रहे सैनिकों को चाय पिलाई थी।
  • 1967 में गुजरात में भयंकर बाढ़ आई थी, उस दौरान भी नरेन्द्र मोदी ने साथियों के साथ मिलकर बाढ़ पीड़ितों की मदद की थी।

युवावस्था

  • ऋषिकेश जैसे स्थानों पर कई महीने तक साधुओं के साथ रहे। जब वह हिमालय से वापस लौटे तो सन्यासी जीवन त्यागने का फैसला लिया।
  • हिमालय से लौटन के बाद नरेन्द्र मोद ने अपने भाई के साथ मिलकर अहमदाबाद के कई स्थानों पर चाय की दुकान भी लगाई।
  • जब मालगाड़ी से मुंबई के कारोबारी आते थे तब नरेन्द्र मोदी उन्हें चाय पिलाते थे। उन कारोबारियों से बात करते करते उन्होंने हिंदी सीखी थी।
  • आरएसएस से जुड़ने के बाद नरेन्द्र मोदी ने नमक और तेल खाना बंद कर दिया था।
  • नरेन्द्र मोदी ने आरएसएस के बड़े शिविरों के आयोजन में अहम भूमिका निभाई और उनके प्रबंधन कौशल से सभी प्रभावित हुए।
  • प्रचारक के दौरान नरेन्द्र मोदी को स्कूटर चलाना नहीं आता था। शंकरसिंह वाघेला उन्हें स्कूटर पर घुमाया करते थे।
  • नरेन्द्र मोदी की स्टाइल सारे प्रचारकों से जुदा थी। वो दाढ़ी रखते थे और ट्रिम भी करवाते।
  • नरेन्द्र मोदी संघ में कुर्ते की बांह छोटी करवा लीं, ताकि वह ज्यादा खराब न हो, जो अब मोदी ब्रांड बन गया।
  • नरेन्द्र मोदी 1975 में इमरजेंसी के दौरान सरदार का रूप धरकर ढाई सालों तक पुलिस को छकाते रहे।
  • 1978 में नरेन्द्र मोदी ने दिल्ली यूनिवर्सिटी से राजनीति शास्त्र में स्नातक और उसके बाद गुजरात यूनिवर्सिटी, अहमदाबाद से स्नातकोत्तर किया।
  • नरेन्द्र मोदी 9 दिनों के नवरात्रि में व्रत रखते हैं। नवरात्रि के 9 दिनों में सिर्फ फल खाते हैं, अन्न का दाना भी नहीं छुते हैं।

प्रौढ़ावस्था

  • 1980 के दशक में नरेन्द्र मोदी गुजरात की भाजपा ईकाई में राजनीतिक कार्यकर्ता के रूप में राजनीति में शामिल हुए।
  • नरेन्द्र मोदी अपने आप को एक लेखक और कवि मानते हैं। गुजराती भाषा में हिन्दुत्व से संबंधित कई लेख भी लिखे हैं।
  • पीएम मोदी को कविताओं से बेहद लगाव है। ‘साक्षी भव’ भी प्रकाशित हुई है जो उनकी एक कविता संग्रह है।
  • नरेन्द्र मोदी हमेंशा उल्टी घड़ी पहनते हैं। क्योंकि उल्टी घड़ी में आसानी से वक्त दिख जाता है और सामने वाले को पता भी नहीं चलता है।
  • नरेन्द्र मोदी को वर्ष 1988-89 में भाजपा की गुजरात ईकाई का महासचिव बनाया गया था।
  • 1990 के दशक में पीएम मोदी ने आडवाणी की सोमनाथ से अयोध्या रथ यात्रा में बड़ी भूमिका निभाई थी।
  • नरेन्द्र मोदी को तत्कालीन बीजेपी अध्यक्ष मुरली मनोहर जोशी की तमिलनाडु से श्रीनगर तक की एकता यात्रा का संयोजक बनाया गया था।
  • नरेन्द्र मोदी को 1995 में भारतीय जनता पार्टी का राष्ट्रीय सचिव और पांच राज्यों का पार्टी प्रभारी बनाया गया।
  • 1998 में नरेन्द्र मोदी को बीजेपी का महासचिव (संगठन) बनाया गया। इस पद पर वो अक्‍टूबर 2001 तक रहे।
  • 2001 में केशुभाई पटेल को मुख्यमंत्री पद से हटाने के बाद नरेन्द्र मोदी को गुजरात का मुख्यमंत्री बनाया गया।
  • नरेन्द्र मोदी के खिलाफ 2002 गुजरात दंगों से संबंधित कोई आरोप किसी कोर्ट में सिद्ध नहीं हुए हैं। उन्हें कोर्ट से क्लीन चिट मिल चुका है। 
  • 31 अगस्त, 2012 को पीएम मोदी ने ऑनलाइन तरीके से वैब कैम के जरिए जनता के सवालों के जवाब दिए। विदेशों से भी सवाल पूछे गए। 
  • 26 मई, 2014 को नरेन्द्र मोदी देश के प्रधानमंत्री बने और दूसरी बार मई 2019 में देश का प्रधानमंत्री बनने का गौरव हासिल किया। 
  • सबसे अधिक समय तक देश के गैर-कांग्रेसी प्रधानमंत्री बनने का गौरव हासिल किया है।  
  • पीएम नरेन्द्र मोदी ने अमेरिका में मैनेजमेंट और पब्लिक रिलेशन से संबंधित तीन महीने का कोर्स किया है।
  • पीएम नरेन्द्र मोदी समय के बड़े पाबंद हैं और सिर्फ चार घंटे की नींद लेते हैं और सुबह जल्द उठ जाते हैं।
  • मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री के रूप में 21 सालों तक शासन करने बावजूद नरेन्द्र मोदी ने एक भी दिन छुट्टी नहीं ली है।
  • प्रधानमंत्री मोदी अपने भोजन और कपड़ों के लिए भारत सरकार के पैसे का इस्तेमाल नहीं करते हैं। वो अपने भोजन और कपड़ों का खर्च खुद उठाते हैं। 
  • पीएम मोदी को पतंगबाजी का शौक है। राजनीति की तरह पतंगबाजी के खेल में भी अच्छे-अच्छे पतंगबाजों की कन्नियां काट डालते हैं।
  • नरेन्द्र मोदी तकनीक का इस्‍तेमाल भी बखूबी करते हैं। कल्याणकारी योजनाओं को लागू करने में तकनीकी के इस्तेमाल पर जोर देते हैं।
  • पीएम मोदी ने ऑफिस से स्मार्टफोन नहीं लिया है। वे अपना आईफोन यूज करते हैं। सोशल मीडिया अकाउंट्स भी खुद हैंडल करते हैं।
  • फेसबुक और ट्विटर जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर उनके सबसे ज्‍यादा फॉलोअर्स हैं। इंटरनेट पर सबसे ज्यादा लोकप्रिय नेता है।
  • अमेरिकी डाटा रिसर्च एजेंसी मॉर्निग कंसल्ट के ताजा सर्वे में भी प्रधानमंत्री मोदी दुनिया के सबसे लोकप्रिय और शीर्ष नेता बने हुए हैं।

 

 

 

 

 

 

Leave a Reply