Home समाचार कोरोना के खिलाफ लड़ाई में उद्योग जगत ने बढ़ाया मदद का हाथ

कोरोना के खिलाफ लड़ाई में उद्योग जगत ने बढ़ाया मदद का हाथ

596
SHARE

देश में कोरोना वायरस का संकट गहराता जा रहा है। संकट के इस दौर में मदद के लिए उद्योग जगत ने मदद का हाथ बढ़ाया है। कोरोना से निपटने के लिए मुकेश अंबानी के साथ आनंद महिन्द्रा, अनिल अग्रवाल और विजय शेखर शर्मा जैसे उद्योगपति आगे आए हैं।

मुकेश अंबानी ने की मदद की घोषणा
मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड ने कोरोना वायरस महामारी को देखते हुए उत्पादन क्षमता बढ़ाकर एक लाख मास्क प्रतिदिन करने, कोविड 19 के मरीजों को ले जाने वाले वाहनों को मुफ्त ईंधन देने और विभिन्न शहरों में मुफ्त भोजन उपलब्ध कराने की घोषणा की है। कंपनी ने एक बयान में कहा कि उसकी सीएसआर (कंपनी सामाजिक जिम्मेदारी) इकाई द्वारा संचालित अस्पताल ने अपने एक अस्पताल में कोरोना वायरस मरीजों के लिये 100 बेड वाली एक इकाई स्थापित की है। रिलायंस इंडस्ट्रीज ने यह भी कहा कि अगर इस संकट के कारण उसका काम रूकता है तो भी वह स्थायी और ठेका पर काम करने वाले कर्मचारियों को पूरा वेतन देगी। सर एचएन रिलायंस फाउंडेशन हॉस्पिटल पूरी तरह से सुसज्जित आइसोलेशन सुविधा का निर्माण किया है और इसे जिला अधिकारियों को सौंप दिया है।

इसके साथ ही जियो ने माइक्रोसॉफ्ट टीमों के साथ अपनी डिजिटल क्षमताओं को मिलाते हुए ऑफिस 365 में टीमवर्क के लिए एकीकृति कम्युनिकेशन और कोलेबरेशन हब को तैयार किया है ताकि व्यक्तियों, छात्रों, शैक्षिक और स्वास्थ्य देखभाल संस्थानों को अपने प्रोफेशनल लाइफ को जारी रखने के लिए सक्षम किया जा सके, जबकि इसके साथ ही वे सामाजिक तौर पर दूरी बना कर चलने का अभ्यास कर रहे हैं। जियो अपने 4जी डेटा ऐड-ऑन वाउचर में डबल डेटा प्रदान करेगा।

आनंद महिंद्रा ने की कोरोना केयर के लिए रिजार्ट की पेशकश
महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा कोरोना के खिलाफ जंग में मदद के लिए आने आने वाले पहले उद्योगपति हैं। उन्होंने कोरोना वायरस के खिलाफ युद्ध स्तर पर वेंटीलेटर्स बनवाने और कोरोना केयर के लिए अपने एक रिसॉर्ट की पेशकश की है। आनंद महिंद्रा ने कहा कि हम बड़ी संख्या में वेंटिलेटर्स बनवाएंगे जिससे की मरीजों को परेशानी न आए। इसके अलावा महिंद्रा हॉलिडेज में, टेंपरेरी सुविधाओं के लिए हम अपना रिसॉर्ट आफर कर रहे हैं। उन्होंने यह भी कहा कि इससे जिन छोटे कारोबारियों और स्वरोजगार वाले लोगों को नुकसान हुआ है उसकी भरपाई के लिए महिंद्रा फाउंडेशन के जरिए फंड जुटा रहे हैं। इसमें हम अपने वेतन का 100 प्रतिशत योगदान देंगे और अगले कुछ महीनों में इसे और बढ़ा देंगे।

पेटीएम के विजय शेखर देंगे 5 करोड़
डिजिटल भुगतान से जुड़ी कंपनी पेटीएम के संस्थापक और सीईओ विजय शेखर ने कहा है कि हमें अधिक संख्या में भारतीय इनोवेटर्स, शोधकर्ताओं की जरूरत है जो वेंटिलेटर की कमी और कोविड-19 के इलाज के लिए देशी समाधान खोज सकें। पेटीएम संबंधित चिकित्सा समाधानों पर काम करने वाले ऐसे दलों को पांच करोड़ रुपये देगी।

वेदांता के अनिल अग्रवाल देंगे 100 करोड़
खनन क्षेत्र की प्रमुख कंपनी वेदांता लिमिटेड के कार्यकारी अध्यक्ष अनिल अग्रवाल ने 100 करोड़ रुपये की मदद का एलान किया है। उन्होंने ट्वीट किया कि मैं कोरोना महामारी से लड़ने की दिशा में 100 करोड़ का योगदान कर रहा हूं। #DeshKiZarooratonKeLiye एक प्रतिज्ञा है जिसे हमने शुरू किया है और यह ऐसा समय है जब हमारे देश को हमारी सबसे ज्यादा जरूरत है। कई लोग अनिश्चितता का सामना कर रहे हैं और विशेष रूप से दैनिक वेतन भोगियों की स्थिति चिंता का विषय है। हम मदद करने के लिए हम सब कुछ करेंगे। उन्होंने यह भी कहा है कि कंपनी इस संकट की अवधि में अस्थायी कर्मचारियों सहित अपने कर्मचारियों के वेतन में कटौती नहीं करेगी या किसी भी कर्मचारी को निकालेगी नहीं।

Leave a Reply