Home नरेंद्र मोदी विशेष देश में इंफ्रास्ट्रक्चर पर फोकस, मध्यम वर्ग को सुविधा और गरीब को...

देश में इंफ्रास्ट्रक्चर पर फोकस, मध्यम वर्ग को सुविधा और गरीब को गरीबी से लड़ने के लिए साधन सुलभ हों, सबके विकास की हमारी यह नीति एकदम साफ है- PM Modi

239
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा है कि जब डबल इंजन की सरकारें काम करती हैं, तो इनका असर सिर्फ डबल नहीं होता, बल्कि कई गुना ज्यादा होता है। यहां एक और एक मिलकर दो नहीं, बल्कि एक के बगल में एक 11 की शक्ति धारण कर लेते हैं। यह विकास कार्यों में स्केल और स्पीड को और बेहतर बनाते हैं। गुजरात में रेल इंफ्रास्ट्रक्चर का विकास भी इसका जीवंत उदाहरण है। पीएम मोदी अहमदाबाद में करोड़ों के रेलवे प्रोजेक्ट्स को लोकार्पण समारोह में लोगों को संबोधित कर रहे थे। पीएम मोदी ने कहा कि सबके विकास के लिए हमारी नीति एकदम साफ रही है। इंफ्रास्ट्रक्चर पर बल दो, मध्यम वर्ग सुविधा दो और गरीब को गरीबी से लड़ने के लिए साधन दो। विकास की यही परंपरा आज पूरे देश में स्थापित हो चुकी है।

डबल इंजन की सरकार ने हर क्षेत्र में पहले के मुकाबले कई गुना ज्यादा काम किया
आजादी के अमृत वर्ष में भारतीय रेलवे देश के विकास में अपना योगदान देते हुए नए भारत की नई बुलंदियों को साकार कर रही है। पीएम मोदी ने कहा कि इसी दिशा में अहमदाबाद-हिम्मतनगर-उदयपुर रेल खंड का गेज परिवर्तन किया गया है। उन्होंने कहा कि 2009 से 2014 के बीच सवा सौ किलोमीटर से भी कम रेलवे का दोहरीकरण हुआ था। जबकि 2014 से 2022 के बीच साढ़े पांच सौ से ज्यादा रेलवे लाइन का दोहरीकरण गुजरात में हुआ है। इसी तरह गुजरात में 2009 से 2014 के बीच करीब 60 किलोमीटर ट्रैक का ही बिजलीकरण हुआ था जबकि 2014 से 2022 के बीच 1700 किलोमीटर से अधिक ट्रैक का बिजलीकरण किया जा चुका है। यानी डबल इंजन की सरकार ने पहले के मुकाबले कई गुना ज्यादा काम करके दिखाया है।डबल इंजन की सरकार में एक और एक मिलकर दो नहीं, 11 की शक्ति धारण करते हैं
पीएम मोदी ने कहा कि जब डबल इंजन की सरकार काम करती है। तो उसका असर सिर्फ डबल नहीं होता, बल्कि कई गुना ज्यादा होता है। यहां एक और एक मिलकर दो नहीं बल्कि एक के बगल में एक 11 की शक्ति धारण कर लेते हैं। गुजरात में रेल इंफ्रास्ट्रक्चर का विकास भी इसका एक उदाहरण है। मैं वो दिन कभी भूल नहीं सकता जब 2014 से पहले गुजरात में नए रेल रूटों के लिए मुझे केंद्र सरकार के पास बार-बार जाना पड़ता था। लेकिन तब बाकी क्षेत्रों की तरह रेलवे के संबंध में भी गुजरात के साथ अन्यायपूर्ण व्यवहार किया जाता था। डबल इंजन की सरकार बने रहने से गुजरात में काम की रफ्तार तो तेज हुई ही है उसका विस्तार करने की ताकत भी तेज हुई है।डबल इंजन की सरकार ने स्केल और स्पीड दोनों को ही बेहतर बनाया
पीएम मोदी ने कहा कि डबल इंजन की सरकार ने सिर्फ स्केल और स्पीड को ही बेहतर नहीं बनाया,बल्कि अनेक स्तरों पर सुधार किया है। ये सुधार क्वालिटी, सुविधा और सुरक्षा से लेकर स्वच्छता तक में हुए हैं। देशभर में रेलवे स्टेशनों में सुधार आज स्पष्ट दिखता है। गरीब और मध्यम वर्ग को भी आज वही माहौल दिया जाता है जो कभी साधन संपन्न लोगों को ही दिया जाता था। देश में इंफ्रास्ट्रक्चर पर फोकस, मध्यम वर्ग को सुविधा और गरीब को गरीबी से लड़ने के लिए साधन सुलभ हों, सबके विकास की हमारी यह नीति एकदम साफ है।

 

देश के कई रेलवे स्टेशन आधुनिक अवतार के साथ नए रूप में सामने आए हैं
यहां गांधीनगर स्टेशन कितना आधुनिक और भव्य है ये आप देख ही रहे हैं। अब अहमदाबाद स्टेशन को भी इसी तरह विकसित किया जा रहा है। इसके अलावा भविष्य में भी सूरत, उधना, साबरमती, सोमनाथ और न्यू भुज जैसे स्टेशन भी आधुनिक अवतार के साथ नए रूप में सामने आने लगे हैं। अब तो गांधीनगर से मुंबई के बीच वंदे भारत एक्सप्रेस सेवा भी शुरू हो गई है। इस रूट पर सबसे तेज रफ्तार वाली रेल सेवा शुरू होने से देश का सबसे महत्वपूर्ण बिजनेस कारिडोर बन गया है। ये उपलब्धि डबल इंजन की सरकार की वजह से ही संभव हो पाई है।

इंफ्रास्ट्रक्चर पर बल, मध्यम वर्ग सुविधा और गरीब को गरीबी से लड़ने के लिए साधन, यही हमारी नीति
प्रधानमंत्री मोदी ने अपने संबोधन के अंत में कहा कि आजादी के बाद दशकों तक हमारे देश में अमीर-गरीब की खाई, गांव-शहर की खाई, असंतुलित विकास बहुत बड़ी चुनौती रहे हैं। हमारी सरकार देश की इस चुनौती का भी समाधान करने में जुटी है। सबके विकास के लिए हमारी नीति एकदम साफ रही है। इंफ्रास्ट्रक्चर पर बल दो, मध्यम वर्ग सुविधा दो और गरीब को गरीबी से लड़ने के लिए साधन दो। विकास की यही परंपरा आज पूरे देश में स्थापित हो चुकी है। गरीब के लिए पक्का घर, टॉयलेट, बिजली, पानी, गैस, मुफ्त इलाज और बीमा की सुविधाएं, ये आज सुशासन की पहचान हैं। पीएम मोदी ने कहा कि आज मेट्रो कनेक्टिविटी, इलेक्ट्रिक वाहन, सोलर पावर, सस्ता इंटरनेट, बेहतर सड़कें, एम्स, मेडिकल कालेज, आईआईटी इस प्रकार का इंफ्रास्ट्रचर आज देशवासियों को नए अवसर दे रहा है। हमारी कोशिश यही है कि सामान्य परिवारों का जीवन, आना-जाना, व्यापार-कारोबार कैसे आसान और सरल हो।

 

 

Leave a Reply