Home समाचार कोरोना महामारी के इस दौर में योग बना जीवन का अभिन्न अंग-...

कोरोना महामारी के इस दौर में योग बना जीवन का अभिन्न अंग- प्रधानमंत्री मोदी

222
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा है कि कोरोना महामारी के इस दौर में योग जीवन का एक अभिन्न अंग बन गया है। भारतीय मूल के अमेरिकी एसोसिएशन ऑफ फिजिशियन (एएपीआई) की बैठक को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि महामारी के इस दौर में दुनिया तेजी से आयुर्वेद को अपना रही है। पीएम मोदी एएपीआई की सालाना बैठक को संबोधित करने वाले पहले भारतीय प्रधानमंत्री हैं। यह संस्था अमेरिका में भारतीय मूल के 80,000 से ज्यादा डॉक्टरों का प्रतिनिधित्व करती है।

बैठक को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि कोरोना महामारी का पता चलने के तुरंत बाद किए गए लॉकडाउन से इस पर रोकने में कामयाबी मिली है। उन्होंने कहा कि कई आधुनिक शोधों के अनुसार आयुर्वेद और भारत में मौजूद उपचार के अन्य तरीके इम्युनिटी बढ़ाते हैं और प्राकृतिक उपचार करते हैं। 

फाइल फोटो

एएपीआई की बैठक को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भारत ने कोरोना के खिलाफ काफी कारगर तरीके से लड़ाई लड़ी है। उन्होंने कहा कि अमेरिका में जहां दस लाख लोगों पर 350 लोगों की जान गई है और ब्रिटेन, इटली तथा स्पेन जैसे यूरोपीय देशों में दस लाख लोगों पर जहां 600 से अधिक लोगों की जान गई है, वहीं भारत में यह दर 12 से भी कम है।

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश कोरोना के खिलाफ लड़ाई में उल्लेखनीय रूप से सफल रहा है। अन्य कई राज्यों में भी ऐसा ही है। देश के अधिकतर ग्रामीण इलाकों तक यह महामारी पहुंच भी नहीं पाई। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि विश्व के दूसरे सबसे अधिक आबादी वाले, उच्च घनत्व वाले देश, जहां सामाजिक मेल-जोल दिनचर्या का हिस्सा है, बड़े धार्मिक और राजनीतिक आयोजन नियमित होते हैं और बड़े पैमाने पर अंतरराज्यीय प्रवास होता है, वहां बिना लोगों के समर्थन के सफलता मिलना मुमकिन नहीं था।

फाइल फोटो

प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत आज दवाओं और चिकित्सा उपकरणों के उत्पादन की दिशा में आगे बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस की शुरुआत में केवल एक कोविड-19 जांच प्रयोगशाला थी। अब ऐसी 1,000 प्रयोगशालाएं हैं। भारत जहां अधिकतर पीपीई किट का आयात करता था वहीं अब उसे निर्यात करने की स्थिति में है। देश हर सप्ताह 30 लाख से अधिक एन95 मास्क बना रहा है। स्वास्थ्य क्षेत्र के लिए 50,000 से अधिक नए वेंटिलेटर बनाए जा रहे हैं। इन सबका निर्माण देश के भीतर ही किया जा रहा है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि योग, आयुर्वेद और तंदुरुस्ती के प्रचार-प्रसार के साथ ‘फिट इंडिया’ देश में एक जन आंदोलन बन गया है। उन्होंने भारतीय मूल के डॉक्टरों से भारत की विकास गाथा में योगदान देने की अपील की।

Leave a Reply