Home पोल खोल उद्धव सरकार बीजेपी नेताओं को MCOCA में फंसाने की कर रही साजिश,...

उद्धव सरकार बीजेपी नेताओं को MCOCA में फंसाने की कर रही साजिश, देवेंद्र फड़णवीस ने विधानसभा में फोड़ा पेन ड्राइव बम, छगन भुजबल को छोड़ने से नवाब मलिक को बचाने तक के वीडियो

399
SHARE

महाराष्ट्र विधानसभा में विपक्ष के नेता देवेन्द्र फड़णवीस ने पेन ड्राइव बम फोड़कर उद्धव सरकार की साजिश का भंड़ाफोड़ कर दिया है। इस पेन ड्राइव में स्टिंग ऑपरेशन के जरिए 125 घंटे की वीडियो की रिकॉर्डिंग हैं। इन वीडियो में राज्य के विशेष सरकारी वकील प्रवीण पंडित चव्हाण, पुलिस अधिकारियों और महा विकास अघाड़ी के विभिन्न नेताओं की बातचीत है, जो भाजपा नेताओं को झूठे मामलों में फंसाने की साजिश रच रहे हैं। फड़णवीस ने जोर देकर कहा है कि उद्धव सरकार की इस सारी साजिश की सीबीआई से ही जांच कराई जानी चाहिए। क्योंकि महाराष्ट्र सरकार राज्य एजेंसियों का बीजेपी नेताओं के खिलाफ दुरुपयोग कर रही है।झूठे मध्यस्थ, झूठे गवाहों से नेताओं को झूठे मामलों में फंसाने का भंडाफोड़
फड़नवीस ने कहा कि सरकारी वकील प्रवीण चव्हाण बीजेपी विधायक गिरीश महाजन पर MCOCA (महाराष्ट्र कंट्रोल ऑफ ऑर्गेनाइज्ड क्राइम एक्ट) लगाने की साजिश रच रहे है। फडणवीस ने गंभीर आरोप लगाते हुए कहा, सरकार ने भाजपा नेताओं के खिलाफ झूठी शिकायत कर उन्हें फंसाने की साजिश रची है। इनको फंसाने के लिए झूठे मामले तैयार किए गए हैं। झूठे मध्यस्थ और झूठे गवाह स्थापित किए गए हैं। पूर्व मंत्री गिरीश महाजन पर झूठे मामले दर्ज किए गए। फड़णवीस ने कहा कि महा विकास अघाड़ी के बड़े नेताओं के आदेश पर किस तरह से राज्य के विशेष सरकारी वकील प्रवीण पंडित चव्हाण और पुलिस अधिकारी बीजेपी नेताओं के खिलाफ साजिश रचते हैं, यह इन वीडियो में साफ-साफ रिकॉर्ड हो गया है।

 महाजन के खिलाफ झूठे आरोप गढ़ने के लिए 28 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की
फड़नवीस का आरोप है कि इस मामले में बीजेपी नेता गिरीश महाजन के खिलाफ झूठे आरोप गढ़ने के लिए कुल 28 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई। सरकारी वकील ने ही एफआईआर लिख कर दी, छापेमारी की पूरी प्लानिंग की। इसके साथ ही MCOCCA कानून के तहत मामला दर्ज करने के लिए ड्रग्स प्लांट करने की साजिश की। जिसके के लिए मुख्यमंत्री से लेकर पुलिस आयुक्त और पुलिस महानिदेशक तक की उपस्थिति में सरकारी स्तर पर बैठकें की गईं, इसका पूरा ब्यौरा सरकारी वकील ने वीडियो में दिया है।

छगन भुजबल को पैसे लेकर छोड़ने से लेकर नवाब मलिक को बचाने तक के वीडियो
इसमें यह भी सामने आया है कि बीजेपी के प्रमुख नेता देवेंद्र फड़णवीस, चंद्रकांत पाटिल, गिरीश महाजन, जयकुमार रावल, सुभाष देशमुख, सुधीर मुनगंटीवार, चंद्रशेखर बावनकुले कैसे सरकार के निशाने पर हैं और उनका राजनीतिक करियर कैसे खत्म किया जाएगा। इसमें यह भी बात हुई है कि अनिल देशमुख ने न केवल तबादलों में, बल्कि दूसरे सोर्सेस से भी पैसा कैसे कमाया, छगन भुजबल को पैसे लेकर कैसे छोड़ा गया और मुंबई में एक वकील किस तरह जजों को मैनेज करने का काम करती है। संजय राउत से मिलने के बाद क्या योजना बनाएं, क्या अपराध दर्ज होंगे, नवाब मलिक को क्या स्टेटमेंट बनाए, रश्मि शुक्ला के फोन टैपिंग मामले में क्या राय दें और जयंत पाटिल के साथ बातचीत भी शामिल है।

पेन ड्राइव में 125 घंटे के वीडियो की रिकॉर्डिंग, साजिश का किया पर्दाफाश
महाराष्ट्र में चल रहे बजट सत्र में विपक्षी नेता देवेंद्र फड़नवीस ने एमवीए सरकार को बड़ा झटका दिया हैं। देवेंद्र फड़नवीस ने विधान सभा में एक स्टिंग ऑपरेशन पेश कर सरकार के खिलाफ वीडियो बम फोड़ा है। जिसमें सरकारी वकील द्वारा विपक्ष के नेताओं पर झूठे और गंभीर मामलों में फंसाने की पूरी प्लानिंग का भंडाफोड़ हो रहा है। फडणवीस ने कहा मैंने एक पेन ड्राइव जमा किया है जिसमें 125 घंटे के वीडियो रिकॉर्डिंग हैं जो साजिश का पर्दाफाश करती हैं, जिसमें चव्हाण की पुलिस अधिकारियों और विभिन्न राजनीतिक नेताओं के साथ भाजपा नेताओं को झूठे मामलों में फंसाने की बातचीत भी शामिल है।

सरकार झूठे मामलों में फंसाने के लिए राज्य एजेंसियों का कर रही दुरुपयोग
महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस ने राज्य विधानसभा में आरोप लगाया कि सत्तारूढ़ महा विकास आघाडी (एमवीए) सरकार विपक्षी नेताओं को झूठे मामलों में फंसाने के लिए राज्य एजेंसियों का दुरुपयोग कर रही है। फडणवीस ने एक मामले का हवाला दिया जिसमें अधिवक्ता प्रवीण चव्हाण ने कथित तौर पर 2018 में जबरन वसूली की घटना में एक भाजपा नेता गिरीश महाजन को फंसाने की कोशिश की थी। उन्होंने आरोप लगाया कि अधिवक्ता ने व्यक्तिगत रूप से प्राथमिकी का मसौदा तैयार किया, राज्य एजेंसियों द्वारा योजनाबद्ध छापेमारी की और मामले में महाजन को फंसाने के लिए सबूत गढ़े।

फड़णवीस ने एनसीपी नेता शरद पवार पर भी निशाना साधा
बीजेपी से एनसीपी में शामिल हुए नेता अनिल गोटे का इन वकीलों से सीधा संवाद भी वीडियो में रिकॉर्ड हुआ है। फोन कॉल्स में एनसीपी के यशवंतराव चव्हाण प्रतिष्ठान में हुई बैठकों का ब्यौरा है। फड़णवीस ने इसमें शरद पवार पर भी निशाना साधा है। आरोप लगाया है कि बड़े साहब देवेंद्र फडणवीस और अन्य बीजेपी नेताओं को राजनीति से कैसे खत्म करना चाहते हैं, इस बारे में उन्हें निर्देश मिले हैं। इस मिशन को पूरा करने के लिए संजय पांडे को मुंबई के पुलिस आयुक्त के रूप में नियुक्त किया गया हैं। इसमें इस बात का विवरण भी है कि मीडिया को कौन सी खबर लीक करनी है और कैसे सबूत हासिल करने है। वे यह भी स्वीकार कर रहा हैं कि रेकी तो पहले ही हो चुकी है ताकि सबूत प्लांट करते समय कहीं भी कैमरे न हों।

Leave a Reply