Home समाचार मोदी सरकार में एक और विश्व कीर्तिमान, लद्दाख में 18,600 फीट की...

मोदी सरकार में एक और विश्व कीर्तिमान, लद्दाख में 18,600 फीट की ऊंचाई पर बनीं दुनिया की सबसे ऊंची सड़क, लेह से चीनी सीमा पर पैंगॉन्ग झील पहुंचना हुआ आसान

349
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के शासन में हर रोज नया इतिहास रचा जा रहा है। नए-नए कीर्तिमान स्थापित हो रहे हैं। जो कभी नामुमकिन लग रहा था, वो मोदी सरकार आने के बाद मुमकिन लग रहा है। इसी क्रम में भारत ने लद्दाख में एक नई ऊंचाई हासिल की। लद्दाख में 18,600 फीट की ऊंचाई पर दुनिया की सबसे ऊंची सड़क बनाई गई है। सामरिक रूप से महत्वपूर्ण जिंगराल-केला त्सो-सरकुनचार-तांग्तसे सड़क का उद्घाटन 31 अगस्त, 2021 को किया गया। यह आम जनता के लिए दुनिया की वाहन चलाने योग्य सबसे ऊंची सड़क होगी। अब तक खारदुंगला दर्रा 18,380 फुट की ऊंचाई पर आम जनता के लिए वाहन चलाने योग्य दुनिया की सबसे ऊंची सड़क थी।

भारतीय सेना की 58 इंजीनियर रेजिमेंट द्वारा बनाई गई यह सड़क लेह (ज़िंगराल से तांगत्से) से केला दर्रे को पार कर पैंगोंग झील तक 41 किलोमीटर की यात्रा को कम कर देगी। इससे चीन की सीमा तक सेना की पहुंच भी आसान होगी। इस सड़क के निर्माण के लिए लद्दाख के सांसद जामयांग सेरिंग नाम्गयाल ने प्रधानमंत्री मोदी का आभार जताया। साथ ही भारतीय सेना व इसकी 58 इंजीनियर रेजीमेंट की सराहना करते हुए कहा कि उन्होंने दुर्गम हालात में इस सड़क का निर्माण कर अपना बुलंद हौसला दिखाया है। गौरतलब है कि मोदी सरकार आने के बाद सीमावर्ती इलाकों में बुनियादी ढांचे, विशेषकर सड़कों और पुलों के निर्माण पर खासा जोर दिया जा रहा है। इससे सामरिक मजबूती के साथ स्थानीय लोगों के विकास में भी मदद मिल रही है। 

पर्यटन बढ़ने से लोगों की बदलेगी जिंदगी

यह सड़क स्थानीय लोगों के जीवन को बदलने के लिए मील का पत्थर साबित होगी। यह सड़क लद्दाख के लालोक क्षेत्र के लोगों की सामाजिक-आर्थिक स्थिति को बढ़ावा देने में प्रमुख भूमिका निभाएगी, क्योंकि इससे पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा। दुनिया की सबसे ऊंची गाड़ी चलाने वाली सड़क, दुर्लभ औषधीय पौधे, स्नो स्पोर्ट गतिविधि, खानाबदोश पशु और झील पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र है।

चुनौतियों के बावजूद सड़कों का तेजी से निर्माण

सीमावर्ती इलाके में बुनियादी ढांचे के विकास को लेकर केंद्र की मोदी सरकार काफी गंभीर है। सरकार ने बुनियादी ढांचे को बेहतर बनाने के लिए खास रणनीति बनाई है। बड़ी संख्या में राजमार्ग परियोजनाओं पर काम चल रहा है। वहीं खराब मौसम और चुनौतियों के बावजूद बीआरओ सामरिक दृष्टि से महत्वपूर्ण सड़कों का निर्माण कार्य तेजी से पूरा कर रहा है।

Leave a Reply