Home चुनावी हलचल श्रीलंका में आतंकी हमला करने वाले संगठन के प्रतिनिधियों से मिले थे...

श्रीलंका में आतंकी हमला करने वाले संगठन के प्रतिनिधियों से मिले थे सोनिया-मनमोहन!

368
SHARE

श्रीलंका में 21 अप्रैल को हुए सीरियल बम धमाके को लेकर जिस कट्टरपंथी मुस्लिम संगठन की चर्चा पूरी दुनिया में हो रही है, उसी संगठन के भारतीय प्रतिनिधियों ने 2010 में मुस्लिम आरक्षण के मामले पर यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी और तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से मुलाकात की थी। TwoCircles.net के अनुसार15 मिनट की इस मुलाकात के दौरान सोनिया और मनमोहन सिंह ने उसे मुस्लिम आरक्षण के संबंध में आवश्यक कदम उठाने का भरोसा भी दिया था।

श्रीलंका में 21 अप्रैल को हुए सीरियल बम धमाकों में 290 लोगों की मौत हो गई और 500 अन्य घायल हो गए। अभी तक किसी संगठन ने हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है, लेकिन बीबीसी के अनुसार श्रीलंका की पुलिस के शक की सुई वहां के कट्टरपंथी इस्लामिक संगठन नेशनल तौहीद जमात (एनटीजे) पर टिकी है।

हिन्दुस्तान की खबर के अनुसार स्वास्थ्य मंत्री एवं प्रवक्ता रजीत सेनारत्ने ने कहा कि इन हमलों को लेकर अंतरराष्ट्रीय खुफिया एजेंसियों ने चार अप्रैल को ही आगाह किया था। उन्होंने कहा कि इन धमाकों के पीछे नेशनल तौहीद जमात नाम के मुस्लिम संगठन का हाथ है। इसके तार अंतरराष्ट्रीय स्तर पर जुड़े होने की संभावना है।

आउटलुक के अनुसार तौहीद जमात कट्टरपंथी मुस्लिम संगठन है, जो पिछले साल तब सुर्खियों में छाया था, जब उसने भगवान बुद्ध की कुछ मूर्तियां तोड़ी थीं। यह संगठन 2014 में दुनिया के सामने तब आया, जब इस संगठन के सेक्रेटरी अब्दुल रैजिक ने बौद्ध धर्म के खिलाफ आपत्तिजनक बयान दिया था। उसे 2016 में हिंसा भड़काने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। 2013 में इस संगठन के तार आईएसआईएस (ISIS) से जुड़े होने की बात भी सामने आई थी।

तौहीद जमात का एक धड़ा तमिलनाडु में भी सक्रिय है। यहां इसे तमिलनाडु तौहीद जमात (टीएनटीजे) के नाम से जाना जाता है। तमिलनाडु के इस संगठन के खिलाफ अक्टूबर 2017 में एफआईआर दर्ज कराई गई थी। इस संगठन पर जबरन ईसाई समुदाय के कुछ लोगों को इस्लाम में परिवर्तित करने का आरोप लगा था।

Leave a Reply