Home पोल खोल दिल्ली में प्रदूषण की बड़ी वजह है पंजाब की पराली, हरियाणा से...

दिल्ली में प्रदूषण की बड़ी वजह है पंजाब की पराली, हरियाणा से सात गुना ज्यादा हैं पंजाब में पराली जलाने के केस, पंजाब सरकार के खिलाफ केजरीवाल की बोलती बंद

365
SHARE

राजधानी दिल्ली में दम घोंट रहे प्रदूषण की एक बड़ी वजह पंजाब की पराली भी है। पराली जलाने की घटनाओं के चलते देश की राजधानी दिल्ली में प्रदूषण का लेवल इतना बढ़ा गया है कि स्कूलों में बच्चों की छुट्टियां करनी पड़ी हैं। सिर्फ दूसरों पर ही दोषारोपण करने वाली केजरीवाल सरकार लापरवाही का मामला सुप्रीम कोर्ट में जा पहुंचा है। कोर्ट ने पूछा है कि सरकार प्रदूषण रोकने के लिए क्या कदम उठा रही है। इस बीच आंकड़े बताते हैं कि हरियाणा की तुलना में पंजाब में पराली जलाने की घटनाएं ज्यादा सामने आई है। रिपोर्ट्स के मुताबिक हरियाणा की तुलना में पंजाब में इस बार सात गुना ज्यादा पराली जलाई जा चुकी है।

पंजाब में पराली जलने का असर दिल्ली के प्रदूषण पर पड़ रहा है
पंजाब में इन दो महीनों में पराली जलाने के करीब 33 हजार मामले सामने आए हैं। इसकी तुलना में हरियाणा में पिछले दो माह में पराली जलाने के सिर्फ 4,313 मामले सामने आए हैं। चार नवंबर को उपग्रह द्वारा ली गई तस्वीरों से सामने आया कि पंजाब में किसानों ने किस तरह एक ही दिन में 3,032 अलग-अलग जगहों पर पराली जलाई। पंजाब में 33 हजार के ज्यादा पराली जलाने के केसों का असर दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण के रूप में देखा जा सकता है।

उपग्रह के फोटो से खुलासा, पंजाब में एक दिन में 13 गुना ज्यादा पराली जलाई
हरियाणा में पराली जलाने के मामलों में आशातीत कमी आई है. राज्य में अब तक पराली जलाने के 3,666 मामले दर्ज किए जा चुके हैं, जिनमें से 228 मामले सिर्फ 4 नवंबर को सामने आए. उपग्रह द्वारा ली गई तस्वीरों से सामने आया कि पंजाब में इस दिन हरियाणा के मुकाबले 13 गुना ज्यादा पराली जलाई गई।कांग्रेस सरकार के खिलाफ आप नेताओं की बोलती बंद
इन आंकड़ों के बावजूद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ज्यादातर अपने पड़ोसी राज्य हरियाणा को कोसते नजर आते हैं, जबकि पंजाब में उनकी पार्टी मुख्य विपक्षी दल है। इसके बावजूद कांग्रेस सरकार के खिलाफ आप नेताओं की बोलती बंद रहती है। एक रिपोर्ट के मुताबिक बीते हफ्ते पंजाब में पराली जलाने के करीब 15 हजार मामले सामने आए।एफिडेविट में बोली सरकार, दिल्ली में लॉकडाउन लगाने को तैयार
दिल्ली सरकार की लापरवाही के प्रदूषण का मामला सुप्रीम कोर्ट में जा पहुंचा है। इस पर आज सुप्रीम कोर्ट में अहम सुनवाई होनी है। इससे पहले दिल्ली सरकार ने सुप्रीम कोर्ट ने एक एफिडेविट दायर किया है। इसमें दिल्ली सरकार ने कहा कि वह दिल्ली में लॉकडाउन लगाने को तैयार है। लेकिन यह कारगर तब ही होगा जब इसे पूरे NCR और पड़ोसी राज्यों में भी लागू किया जाए।

 

दिल्ली में सड़क की धूल और वाहनों का धुआं प्रदूषण कम करें
केंद्र सरकार की तरफ से सॉलिस्टर जनरल ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि दिल्ली और उत्तरी राज्यों में वर्तमान में पराली जलाना प्रदूषण का प्रमुख कारण नहीं है। इसके अलावा सड़क की धूल और वाहनों का धुआं प्रदूषण में बड़ी हिस्सेदारी है। इसलिए दिल्ली में इसे कम करना पहली प्राथमिकता होनी चाहिए।छठ पूजा पर भी गंदगी, प्रदूषण और बदइंतजामी से हुई थी किरकिरी
छठ महापर्व पर दिल्ली में यमुना किनारे गंदगी और बदइंतजामी के कारण मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की काफी किरकिरी हो रही है। गंदे नाले में तब्दील यमुना नदी के झाग वाले पानी में लोग छठ मनाने को मजबूर हैं। इसको लेकर दिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार के खिलाफ लोगों का गुस्सा आसमान पर है। ऐसे में मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने जब छठ पर लोगों को शुभकामनाएं दी, तो सोशल मीडिया पर यूजर्स ने उन्हें लताड़ लगानी शुरू कर दी थी।

 

Leave a Reply