Home समाचार पंजाब की भगवंत मान सरकार ने केजरीवाल और राघव चड्ढा को दी...

पंजाब की भगवंत मान सरकार ने केजरीवाल और राघव चड्ढा को दी जेड प्लस सुरक्षा, लोगों ने ‘सुपर सीएम’ को दिलाई शपथ पत्र की याद

1181
SHARE

आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने राजनीति में पदार्पण के समय कहा था वो सरकारी सुविधाएं नहीं लेंगे। लेकिन दिल्ली में सरकार बनते ही सारे राजनीतिक सिद्धांतों और मूल्यों को ठंडे बस्ते में डाल दिया और सत्ता की मलाई खाने में व्यस्त हो गए। अब वो नियम और कानून की धज्जियां उड़ाते हुए सरकारी सुविधाओं का लाभ ले रहे हैं। इसी बीच पंजाब सरकार ने दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल और राज्यसभा सांसद राघव चड्ढा को Z+ की सुरक्षा देने की एक लिस्ट जारी की है, जिससे सियासी तूफान खड़ा हो गया है। 

पंजाब के आप पार्टी का संयोजक बने केजरीवाल

दरअसल सोशल मीडिया पर एक लिस्ट वायरल हो रही है, जिसमें दावा किया गया है कि पंजाब की भगवंत मान सरकार दिल्ली के मुख्यमंत्री और आप प्रमुख अरविंद केजरीवाल और राज्यसभा सांसद राघव चड्ढा को Z+ की सुरक्षा देने जा रही है। भगवंत मान सरकार ने सुरक्षा देने के लिए एक नई चाल चली है। इसके तहत केजरीवाल का डिमोशन कर दिया गया है। उन्हें आप पार्टी के राष्ट्रीय संजोयक से पंजाब के आप पार्टी का संयोजक बना दिया गया है। जबकि प्रदेश संयोजक मुख्यमंत्री भगवंत मान है।

चड्ढ़ा को ना धमकी, ना कोई खतरा, फिर भी Z+ की सुरक्षा

सबसे हैरानी की बात यह है कि जब राघव चड्ढ़ा को कोई धमकी नहीं मिली है। उनके खिलाफ कोई खतरे की खुफिया रिपोर्ट भी नहीं है। इसके बावजूद उन्हें सुरक्षा दी गई है। इसको लेकर सोशल मीडिया पर लोग सवाल उठा रहे हैं। लोगों का कहना है कि चड्ढा एक राज्य सभा सदस्य है। चड्ढा की तरह छह और राज्य सभा सदस्य है। उन्हें फिर जेड प्लस सुरक्षा क्यों नहीं दी गई। उन्हें किस प्रकार का खतरा है। मुख्यमंत्री भगवंत मान ने केवल अपने पार्टी नेताओं को खुश करने के लिए किया है।

केजरीवाल को दिल्ली और पंजाब से Z+ सुरक्षा क्यों ?

केजरीवाल की सुरक्षा में पंजाब पुलिस लगेगी और उस पर होने वाला खर्च भी पंजाब के खजाने से होगा। ऐसे में सवाल उठाए जा रहे हैं कि जब दिल्ली के मुख्यमंत्री को पहले से ही केंद्र सरकार ने Z+ सुरक्षा दी हुई है तो उन्हें पंजाब से भी Z+ सुरक्षा की आवश्यकता क्यों है? बीजेपी नेता मनजिंदर सिरसा ने कहा कि आप जहां वीआईपी कल्चर खत्म करने की बात कर रही है, वहीं केजरीवाल ने दिल्ली और पंजाब दोनों जगहों से सुरक्षा ले ली है।

एक अन्य ट्वीट में बीजेपी नेता मनजिंदर सिरसा ने भगवंत मान सरकार से पूछा कि आप ने ट्विटर और हर पोस्टर पर यह पोस्ट कर दिया था कि सिद्धू मूसेवाला की सुरक्षा वापस ले ली गई है, लेकिन अरविंद केजरीवाल को दी जा रही Z+ सुरक्षा का विवरण साझा करने से इनकार कर रहे हैं। मन साहब आप अपनी सरकार की धोखाधड़ी को छुपा नहीं सकते! किस आधार पर केजरीवाल को पंजाब सरकार से Z+ सुरक्षा दी गई है?

कथनी और करनी में अंतर बता याद दिला रहे पुराने बयान

सोशल मीडिया पर लोग 2013 में अरविंद केजरीवाल द्वारा दिए गए बयान को शेयर कर रहे हैं। जिसमें उन्होंने कहा था कि मैं अपने लिए अनावश्यक सुरक्षा नहीं लूंगा। सुरक्षाबल नेताओं की सुरक्षा के लिए नहीं बल्कि आम आदमी की सुरक्षा के लिए होना चाहिए। नेता को आम आदमी से ज्यादा सुरक्षा नहीं होनी चाहिए। लोग केजरीवाल की कथनी और करनी में अंतर बता रहे हैं। केजरीवाल का शपथपत्र सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है।

पंजाब के ‘सुपर सीएम’ बने केजरीवाल

सोशल मीडिया में जो लिस्ट वायरल हो रही है, उसमें एक दिलचस्प मामला सामने आया है। लिस्ट में केजरीवाल का नाम सबसे ऊपर हैं और उसके बाद पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान का नाम है। इससे पता चलता है कि केजरीवाल पंजाब के ‘सुपर सीएम’ हैं। इस पर एक ट्विटर यूजर ने लिखा कि पंजाब सरकार दिल्ली के सीएम को सिक्योरिटी देगी! लिस्ट में पंजाब के सीएम के नाम के ऊपर दिल्ली के सीएम का नाम साबित करता है कि पंजाब का शासन किसके हाथ में है। पंजाब ने अपने आप को केजरीवाल के हाथ की कठपुतली बना दिया।

असंख्य सपनों की क्रांति का वीभत्स-पतन

पंजाब सरकार के द्वारा जारी लिस्ट को लेकर कुमार विश्वास (parody) अकाउंट से ट्वीट कर लिखा गया कि ‘पंजाब सरकार से केजरीवाल और राघव चड्ढा को Z+ security मिल रही हैं। असंख्य सपनों की क्रांति का ऐसा वीभत्स-पतन, विश्व राजनीति में दुर्लभ है।’

Leave a Reply