Home नरेंद्र मोदी विशेष लंदन में ‘भारत की बात, सबके साथ’ कार्यक्रम में प्रधानमंत्री मोदी ने...

लंदन में ‘भारत की बात, सबके साथ’ कार्यक्रम में प्रधानमंत्री मोदी ने बताया था सर्जिकल स्ट्राइक का सच

2100
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने लंदन में 18 अप्रैल को ‘भारत की बात, सबके साथ’ कार्यक्रम में भारत से जुड़े कई सवालों के जवाब दिए थे और दुनिया के सामने भारत के मजबूत इरादों, दृढ़संकल्प, विकास के लिए तत्पर सरकार की जनहित की योजनाओं को रखा। पीएम मोदी ने कार्यक्रम के दौरान सर्जिकल स्ट्राइक से जुड़े एक सवाल के जवाब में पाकिस्तान को आतंकवाद के मुद्दे पर जमकर लताड़ा था और पूरी दुनिया के सामने सर्जिकल स्ट्राइक की पूरी कहानी भी रखी थी।

पीठ पर वार करने वालों को उन्हीं की भाषा में जवाब
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भारत आतंकवाद को बर्दाश्त नहीं करेगा। उन्होंने पाकिस्तान का नाम लिए बगैर कहा कि आतंक के निर्यात का उद्योग चलाने वालों, जिनमें युद्ध करने की ताकत नहीं और पीठ पर वार करते हैं, उनको मोदी उन्हीं की भाषा में जवाब देना जानता है। पीएम मोदी ने कहा कि जिन्हें आतंक का निर्यात पसंद है, मैं उनसे कहना चाहता हूं कि भारत बदल गया है और उनके पुराने तौर-तरीकों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि हम शांति में यकीन रखते हैं, लेकिन हम आतंक का निर्यात करने वालों को बर्दाश्त नहीं करेंगे। हम उन्हें करारा जवाब देंगे और उसी भाषा में देंगे जिसे वे समझते हैं। आतंकवाद कभी स्वीकार नहीं किया जाएगा।

आतंकवाद को बर्दाश्त नहीं करेगा भारत
प्रधानमंत्री सर्जिकल स्ट्राइक की सफलता की पूरी कहानी बताते हुए कहा कि जब हमारे जवानों ने सर्जिकल स्ट्राइक की तो भारत में मीडिया या देशवासियों को बताने से पहले इसकी जानकारी पाकिस्तान को दी। हमने उनकी सेना को फोन किया और कहा कि हमने सर्जिकल स्ट्राइक की है, अगर समय हो तो वहां से लाशें उठा लो। पीएम मोदी ने बताया कि सर्जिकल स्ट्राइक के बाद हम पाकिस्तान को 11 बजे से ही फोन कर रहे थे, लेकिन वे फोन पर आने से भी डरे हुए थे। 12 बजे हमने उनसे बात की और तब भारतीय मीडिया को इसके बारे में बताया गया।

भारत की सेना पर गर्व
सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम देने वाली टीम की तारीफ करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि उन्हें अपनी सेना पर गर्व है, क्योंकि उन्होंने सटीकता के साथ सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम दिया और सुबह होने से पहले ही अपना काम पूरा कर वह लौट आई। प्रधानमंत्री ने बताया कि जो प्लान बनाया गया था, वह 100 फीसदी पूरा हुआ और एक फीसदी भी गलती नहीं हुई। जाहिर है कि भारत ने 28 और 29 सितंबर 2016 की रात को नियंत्रण रेखा के पार जाकर सात आतंकी शिविरों पर सर्जिकल स्ट्राइक की थी। भारतीय सेना की यह उन आतंकवादियों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई थी, जो नियंत्रण रेखा के रास्ते भारत में घुसपैठ करने की तैयारी कर रहे थे।

भारत ने कभी की किसी की जमीन नहीं हड़पी
प्रधानमंत्री मोदी ने यह बताया कि भारत का हजारों वर्ष का इतिहास है, किसी भी युग में भारत ने किसी की भी जमीन हड़पने का प्रयास नहीं किया है। पहले और दूसरे विश्व युद्ध में हमें जमीन नहीं लेनी थी, न अपने देश के लिए लड़ना था, लेकिन भारत के डेढ़ लाख सिपाहियों ने शहादत दी थी। आज भी संयुक्त राष्ट्र के पीस कीपिंग फोर्स में भारत प्रमुख होता है।

Leave a Reply