Home समाचार पीएम मोदी के विजनरी नेतृत्व पर फिर लगी मुहर, 74 प्रतिशत भारतीय...

पीएम मोदी के विजनरी नेतृत्व पर फिर लगी मुहर, 74 प्रतिशत भारतीय मानते हैं देश सही रास्ते पर, अमेरिका के 72 प्रतिशत लोग मानते हैं उनका देश गलत रास्ते पर

205
SHARE

एक तरफ जहां दुनिया की मजबूत अर्थव्यवस्था वाले देश आर्थिक से लेकर हर तरह के संकट का सामना कर रहे हैं वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विजनरी नेतृत्व से भारत तरक्की की नई इबारत लिख रहा है। पीएम मोदी के विकास कार्यों पर अब देश की जनता ने भी मुहर लगा दी है। एक नए सर्वे में खुलासा हुआ है कि 74 प्रतिशत भारतीयों को लगता है कि देश सही रास्ते पर बढ़ रहा है। बुल्गारिया की मीडिया संस्था zerohedge ने अमेरिकी कंपनी Morning Consult के डेटा के आधार पर 22 देशों का यह सर्वे जारी किया है। इसमें लोगों से पूछा गया था कि आपको क्या लगता है कि आपका देश सही रास्ते पर जा रहा है या गलत रास्ते पर। इन 22 देशों की सूची में जहां भारत 74 प्रतिशत के साथ अव्वल नंबर पर आया है वहीं पोलैंड 14 प्रतिशत के साथ निचले पायदान पर है। यानी पोलैंड में केवल 14 प्रतिशत लोगों को लगता है कि उनका देश सही रास्ते पर है जबकि 86 प्रतिशत लोगों को लगता है कि उनका देश गलत रास्ते पर है। पोलैंड के बाद प्रमुख देशों में इंग्लैंड (17 प्रतिशत), फ्रांस (23 प्रतिशत), अमेरिका (28 प्रतिशत), जर्मनी (29 प्रतिशत), जापान (31 प्रतिशत), कनाडा (36 प्रतिशत), इटली (37 प्रतिशत), ब्राजील (50 प्रतिशत) और आस्ट्रेलिया (52 प्रतिशत) का नंबर आता है। यह अपने आप में चौंकाने वाला तथ्य है कि दुनिया का सबसे शक्तिशाली देश अमेरिका के केवल 28 प्रतिशत लोगों को लगता है कि उनका देश सही रास्ते पर है और 72 प्रतिशत लोग मानते हैं कि उनका देश गलत रास्ते पर है।

आनंद महिंद्रा ने आशावादी होने के लिए भारतीय नागरिकों की सराहना की

उद्योगपति एवं महिंद्रा एंड महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा ट्विटर पर काफी एक्टिव रहते हैं। उन्होंने अपने एक ट्वीट में इस सर्वे को शेयर करते हुए भारतीयों की तारीफ की है। उन्होंने लिखा कि ऐसे कई लोग होंगे जो इस सर्वेक्षण के निष्कर्षों के बारे में संदेह करेंगे लेकिन मुझे विश्वास है कि हम वास्तव में एक आशावादी राष्ट्र हैं। आशावाद सफलता और सकारात्मक परिणामों के लिए ईंधन है। इस सर्वे पर प्रतिक्रिया देते हुए आनंद महिंद्रा ने अपने ट्वीट में देश के भविष्य के बारे में आशावादी होने के लिए भारतीय नागरिकों की सराहना की है। सर्वे के मुताबिक 74 प्रतिशत भारतीयों को लगता है कि महामारी, मुद्रास्फीति और भू-राजनीतिक अस्थिरता के बीच देश सही रास्ते पर है।

पोलैंड 22 देशों में सबसे गलत रास्ते पर

ZeroHedge के 22 देशों के सर्वे में कोरोना महामारी, महंगाई, और अन्य भू-राजनैतिक हालातों के बारे में लोगों की राय को शामिल किया गया। इस सर्वे में शामिल 22 देशों में सबसे ऊपर पोलैंड था, जिनका मानना है कि उनका देश गलत ट्रैक पर है। देश के 86 प्रतिशत लोगों का मानना था कि उनका देश गलत ट्रैक पर है, जबकि केवल 14 प्रतिशत लोगों को लगता है कि उनका देश सही रास्ते पर है।

भारत 22 देशों में सबसे सही रास्ते पर

इस लिस्ट में शामिल किए गए 22 देशों में सबसे नीचे भारत है। यानी भारत में सबसे कम आबादी को लगता है कि भारत गलत रास्ते पर चल रहा है और सिर्फ 26 फीसदी लोगों को लगता है कि उनका देश गलत ट्रैक पर है जबकि 74 प्रतिशत भारतीयों को लगता है कि देश सही रास्ते पर बढ़ रहा है। सर्वेक्षण में खास बात यह रही कि अमेरिका, ब्रिटेन, जापान और जर्मनी जैसे देशों में भी ज्यादातर आबादी को यही लगता है कि उनका देश गलत ट्रैक पर है। इंग्लैंड में 83 प्रतिशत, अमेरिका में 72 प्रतिशत, जर्मनी में 71 प्रतिशत और जापान में 69 प्रतिशत आबादी को लगता है कि उनका राष्ट्र गलत ट्रैक पर है।

अपनी कुशल नेतृत्व क्षमता के कारण प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी विभिन्न सर्वे में टॉप पर बने हुए हैं…

विश्व के सबसे लोकप्रिय नेता हैं प्रधानमंत्री मोदी

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी लगातार दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेता बने हुए हैं। अमेरिकी डाटा रिसर्च एजेंसी मॉर्निग कंसल्ट के ताजा सर्वे में भी प्रधानमंत्री मोदी दुनिया के सबसे लोकप्रिय और शीर्ष नेता बने हुए हैं। प्रधानमंत्री मोदी की अप्रूवल रेटिंग 75 प्रतिशत हो गई है और यह रेटिंग दुनिया के तमाम बड़े नेताओं से ज्यादा है। प्रधानमंत्री मोदी इस साल की शुरुआत से ही 70 प्रतिशत से ऊपर की अप्रूवल रेटिंग के साथ सबसे लोकप्रिय वैश्विक नेता रहे हैं। नरेन्द्र मोदी के बाद मेक्सिको के लोपेज ओब्रेडोर 63 प्रतिशत के साथ दूसरे और ऑस्ट्रेलिया के एंथोनी अल्बनीज 58 प्रतिशत के साथ तीसरे स्थान पर हैं। पीएम मोदी को दुनिया भर में वयस्कों के बीच सबसे ज्यादा रेटिंग मिली है। 17 से 23 अगस्त के बीच 22 देशों के 45 हजार से ज्यादा लोगों के बीच सर्वे के बाद ग्लोबल लीडर अप्रूवल ट्रैकर मॉर्निंग कंसल्ट ने 25 अगस्त को अपना लेटेस्ट डेटा जारी किया है।

इंडिया टुडे के सी वोटर सर्वे : 53 प्रतिशत लोगों की पसंद पीएम मोदी

इंडिया टुडे के सी वोटर सर्वे के मुताबिक, प्रधानमंत्री के तौर पर नरेन्द्र मोदी सबसे ज्यादा पसंदीदा चेहरा हैं। सर्वे में वो 53 प्रतिशत वोटों के साथ सबसे लोकप्रिय नेता के रूप में हैं। प्रधानमंत्री मोदी और राहुल गांधी के बीच वोटों का अंतर काफी ज्यादा है। उन्हें सिर्फ 9 प्रतिशत वोट मिले हैं। वहीं, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल 6 प्रतिशत वोटों के साथ तीसरे नंबर पर हैं। यानी फिलहाल कोई विपक्षी चेहरा प्रधानमंत्री पद के लिए पर उतना लोकप्रिय नहीं है। सर्वे के मुताबिक लोकसभा चुनाव में एनडीए की पूर्ण बहुमत की सरकार बनने के पूरे आसार नजर आ रहे हैं।

इंडिया टीवी-मैट्रिज़ न्यूज़ कम्युनिकेशन का सर्वे : पीएम मोदी नंबर वन

इंडिया टीवी-मैट्रिज़ न्यूज़ कम्युनिकेशन के देशव्यापी ओपिनियन पोल से पता चलता है कि आज भी जनता पर प्रधानमंत्री मोदी का जादू कायम है। इस सर्वे के मुताबिक प्रधानमंत्री पद के लिए नरेन्द्र मोदी 48 प्रतिशत लोगों की पसंद है। अगर अभी लोकसभा के चुनाव हुए तो प्रधानमंत्री मोदी की अगुवाई वाला राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) लोकसभा की कुल 543 में से 362 सीटों पर शानदार जीत दर्ज कर सकता है।

प्रधानमंत्री पद के लिए पहली पसंद नरेन्द्र मोदी

सर्वे में जब लोगों से प्रधानमंत्री पद के लिए पहली पसंद के बारे में पूछा गया तो 48 प्रतिशत लोगों ने कहा कि वे नरेन्द्र मोदी को फिर से प्रधानमंत्री के रूप में देखना चाहेंगे। प्रधानमंत्री मोदी के बाद राहुल गांधी को 11 प्रतिशत लोगों ने पंसद किया। ममता बनर्जी को 8 प्रतिशत, सोनिया गांधी को 7 प्रतिशत, मायावती को 6 प्रतिशत और अरविंद केजरीवाल को 5 प्रतिशत लोगों ने प्रधानमंत्री के तौर पर अपनी पहली पसंद बताया।

आईएएनएस-सी वोटर के सर्वे में पीएम के रूप में जनता की पहली पसंद

आईएएनएस-सी वोटर ने असम, पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु और केरल और केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी में हुए विधानसभा चुनाव के एक साल पूरे होने पर सर्वे किया था। सर्वे के अनुसार 49.91 प्रतिशत लोगों ने अगले प्रधानमंत्री के रूप में नरेन्द्र मोदी को पसंद किया, जबकि राहुल गांधी को 10.1 प्रतिशत, केजरीवाल को 7.62 प्रतिशत और ममता बनर्जी को 3.23 प्रतिशत लोगों ने अपनी पसंद बताया। इन चार राज्यों और एक केंद्र शासित प्रदेश के अलग अलग सर्वे के अनुसार, असम में सबसे अधिक 43 प्रतिशत लोगों ने प्रधानमंत्री मोदी का समर्थन किया। उनके बाद केजरीवाल (11.62 प्रतिशत) और राहुल गांधी (10.7 प्रतिशत) का समर्थन किया।

सबसे लंबे वक्त तक सत्ता में रहने वाले गैर-कांग्रेसी प्रधानमंत्री बने मोदी

प्रधानमंत्री मोदी ने 14 अगस्त, 2020 को एक अनोखा रिकॉर्ड कायम किया। वे गैर कांग्रेसी पहले प्रधानमंत्री बन गए, जिन्होंने सबसे अधिक देश की सेवा की है। इस पद पर सबसे लंबे समय तक रहने वाले वे देश के चौथे प्रधानमंत्री बन गए। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने 2268 दिन तक सेवा की, जिनका रिकॉर्ड उन्होंने तोड़ा। प्रधानमंत्री मोदी ने 26 मई 2014 को पहली बार प्रधानमंत्री पद की शपथ ली। उनके नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी ने 2019 के लोकसभा चुनाव में और भी बड़ी जीत हासिल की और नरेन्द्र मोदी दोबारा प्रधानमंत्री बने। इससे पहले अटल बिहारी वाजपेयी 3 बार भारत के प्रधानमंत्री बने। वाजपेयी पहले ऐसे गैर-कांग्रेसी प्रधानमंत्री थे जिन्होंने अपना कार्यकाल पूरा किया था।

सबसे लंबे समय तक सेवा करने का रिकॉर्ड

गैर-कांग्रेसी प्रधानमंत्री के रूप में सबसे अधिक समय तक देश की सेवा करने के बाद 14 अगस्त, 2020 को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नाम एक और रिकॉर्ड जुड़ गया। प्रधानमंत्री मोदी निर्वाचित सरकार के प्रमुख के नाते वे सबसे लंबे समय तक सत्ता में रहे हैं। गुजरात के मुख्यमंत्री और देश के प्रधानमंत्री के कार्यकाल जोड़ा जाए तो नरेन्द्र मोदी सबसे आगे हैं। इस सूची में कई ऐसे नाम हैं जिन्होंने बतौर मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री के रूप में अपनी सेवाएं देश को दी हैं, लेकिन नरेन्द्र मोदी के नाम 18 साल और 306 दिनों के साथ सबसे ज्यादा वक्त तक निर्वाचित सरकार के प्रमुख के तौर पर रहने का रिकॉर्ड दर्ज हो गया। देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू 16 वर्ष और 286 दिनों तक प्रधानमंत्री पद पर रहे, जबकि इंदिरा गांधी 15 वर्ष और 350 दिन तक प्रधानमंत्री रहीं। प्रधानमंत्री पद पर मनमोहन सिंह 10 वर्ष और 4 दिन तक रहे। वहीं, अटल बिहारी वाजपेयी 6 वर्ष और 77 दिनों तक इस पद पर रहे।

आजाद भारत के सबसे बेहतर प्रधानमंत्री हैं नरेन्द्र मोदी

अगस्त 2020 में जारी इंडिया टुडे-कार्वी इनसाइट्स मूड ऑफ द नेशन (MOTN) सर्वे के अनुसार, नरेन्द्र मोदी को एक बार फिर भारत के सर्वश्रेष्ठ प्रधानमंत्री के रूप में चुना गया। सर्वे के दौरान 44 प्रतिशत लोगों ने कहा कि नरेन्द्र मोदी भारत के अब तक के सबसे बेस्ट प्रधानमंत्री रहे हैं। इस सर्वे में 14 प्रतिशत मतों के साथ अटल बिहारी वाजपेयी दूसरे और इंदिरा गांधी 12 प्रतिशत मतों के साथ तीसरे स्थान पर रहीं। इसके अलावा जवाहरलाल नेहरू और मनमोहन सिंह को 7-7 प्रतिशत और लाल बहादुर शास्त्री को 5 प्रतिशत लोगों का समर्थन मिला।

अगले प्रधानमंत्री के रूप में अभी भी सबसे लोकप्रिय विकल्प

इंडिया टुडे-कार्वी इनसाइट्स मूड ऑफ द नेशन (MOTN) सर्वे के अनुसार, नरेन्द्र मोदी भारत के अगले प्रधानमंत्री के रूप में अभी भी सबसे लोकप्रिय विकल्प बने हुए हैं। 66 प्रतिशत लोगों का मानना ​​है कि नरेन्द्र मोदी को भारत का अगला प्रधानमंत्री होना चाहिए। प्रधानमंत्री मोदी के बाद दूसरे स्थान पर राहुल गांधी का नंबर है लेकिन वह भी दहाई के आंकड़े को नहीं छू सके हैं। हालांकि 8 प्रतिशत वोटों के साथ दूसरी पसंद जरूर हैं। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को प्रधानमंत्री पद के लिए तीसरा सबसे पसंदीदा नेता माना गया और उन्हें 5 प्रतिशत वोट मिले।

देश के 50 सबसे प्रभावशाली लोगों की सूची में प्रधानमंत्री मोदी नंबर वन

मई 2020 में फेम इंडिया-एशिया पोस्ट के सर्वे में प्रधानमंत्री मोदी देश के 50 प्रभावशाली लोगों में अव्वल बने हुए थे। सर्वे में प्रधानमंत्री मोदी को 99.6 प्रतिशत मत मिले। प्रधानमंत्री अपनी लोकप्रियता और काम को लेकर सबसे ज्यादा पसंद किए गए। सर्वे में प्रधानमंत्री मोदी के बाद दूसरे नंबर पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और तीसरे नंबर पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह रहे। प्रभावशाली लोगों की सूची में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कांग्रेस नेता राहुल गांधी से आगे थे। नीतीश कुमार 16वां स्थान, जबकि राहुल गांधी को 21वां स्थान मिला। फेम इंडिया और एशिया पोस्ट सर्वे 2020 की देश के 50 प्रभावशाली लोगों की यह सूची बनाने के लिए 12 हजार बुद्धजीवियों की राय ली गई थी।

TIMES NOW सर्वे में 71 प्रतिशत मिली रेटिंग

कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में जहां तक भारत की बात है तो देश के लोगों को कोविड-19 के खिलाफ प्रधानमंत्री मोदी की रणनीति खूब पंसद आयी। प्रधानमंत्री मोदी द्वारा उठाए गए कदमों से देश के ज्यादातर लोग खुश थे। इसका खुलासा TIMES NOW और ORMAX Media के एक सर्वे में हुआ। TIMES NOW ने यह सर्वे देश के 6 मेट्रो सिटीज दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, बेंगलुरु, हैदराबाद और चेन्नई में किया था।

Leave a Reply