Home समाचार सिख समुदाय के प्रमुख लोगों ने की प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात, कहा-...

सिख समुदाय के प्रमुख लोगों ने की प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात, कहा- सिखों के लिए इतने काम पहले कभी नहीं हुए

666
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज, 18 फरवरी को नई दिल्ली में अपने आवास पर सिख नेताओं के एक प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात की। प्रधानमंत्री मोदी ने 7, लोक कल्याण मार्ग पर देश भर से आए सिख समुदाय के प्रमुख लोगों का स्वागत किया। देखिए वीडियो-

प्रधानमंत्री मोदी से मिलने वालों में दिल्ली गुरुद्वारा कमेटी के अध्यक्ष हरमीत सिंह कालका, सुल्तानपुर लोधी के पद्मश्री बाबा बलबीर सिंह जी सिचेवाल, यमुना नगर के सेवापंथी अध्यक्ष महंत करमजीत सिंह, डेरा बाबा जंग सिंह (नानकसर) करनाल के बाबा जोगा सिंह, अमृतसर के संत बाबा मेजर सिंह वा, मुखी डेरा बाबा तारा सिंह वा, आनंदपुर साहिब कार सेवा के जत्थेदार बाबा साहिब सिंह जी, नामधारी दरबार,भनी साहिब के सुरिंदर सिंह, शिरोमणि अकाली बुद्ध दल, पंजवा तख्त के बाबा जस्सा सिंह, दमदमी टकसाल, चौक मेहता के डॉ हरभजन सिंह और जत्थेदार तख्त श्री पटना साहिब के सिंह साहिब ज्ञानी रणजीत सिंह जी शामिल थे। मुलाकात के इस मौके पर बीजेपी नेता सरदार मनजिंदर सिंह सिरसा भी मौजूद रहे।

सोशल मीडिया पर वायरल एक वीडियो में दिख रहा है कि देश भर से आए सिख प्रतिनिधियों ने प्रधानमंत्री मोदी को शॉल और कृपाण भेंट की। सिख नेताओं का कहना है कि आज की मुलाकात ऐतिहासिक थी और बैठक का कोई राजनीतिक एजेंडा नहीं था। बैठक में प्रतिनिधिमंडल ने कहा कि मोदी सरकार के दौरान सिख समुदाय के लिए इतने काम किए गए हैं जो पहले कभी नहीं किए गए। प्रतिनिधिमंडल ने कहा कि मुलाकात के दौरान करतारपुर कॉरिडोर से लेकर सिख दंगों और उनके गुनहगारों को सजा दिलाने तक के तमाम कदमों पर चर्चा हुई।

सिख समुदाय के लोगों ने मुलाकात के दौरान सिख विश्वविद्यालय बनाने सहित कुछ अनुरोध भी किए। बैठक के बाद श्री गुरु सिंह सभा इंदौर के अध्यक्ष मनजीत सिंह भाटिया ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि उनके दरवाजे हमेशा खुले हैं। यमुनानगर सेवापंथी के महंत करमजीत सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने करतारपुर कॉरिडोर, छोटे साहेबजादों, बड़े साहेबजादों के बाल दिवस और इसके अलावा लखपत साहब गुरुद्वारा साहेब और गुरु के लंगर की जीएसटी जैसे सिख धर्म के लिए बहुत सारे काम किए हैं। मोदी जी ने जो एक बात कही है कि मेरे खून में सिखी है, मेरे खून में सेवा है, जो भी करता हूं हृदय से करता हूं, उनकी यह बात हमारे दिल में लगी है।

दिल्ली गुरुद्वारा कमेटी के हरमीत सिंह कालका ने कहा कि मोदीजी के जेहन में सिखों के लिए प्रेम भावना है। उन्होंने पिछले सात सालों सिखों के लिए बहुत काम किए। दिल्ली में एसआईटी बनवाकर 1984 के दंगों के लिए उन्होंने सज्जन कुमार जैसों को अंदर करवाया। सिखों की भावना को देखते हुए जो करतारपुर कॉरिडोर बनाया गया, आज हजारों लोग वहां जाते हैं। उन्हें गुरुओं का आशीर्वाद मिला हुआ है। आज उन्होंने जो बातें रखीं वो वाकई ऐतिहासिक हैं।

सिख फोरम नई दिल्ली के अध्यक्ष रवींद्र सिंह आहुजा ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी सिख ग्रंथों से बहुत करीब से जुड़े हैं। सिख ग्रंथों, भाषा, सिखों की सेवा की उन्हें जितनी समझ है, उतनी शायद किसी भी पीएम को रही होगी। 1984 के दंगों को लेकर उन्होंने जो एसआईटी गठित की, 84 को लेकर कानपुर में भी जो डेड केस थे उन्हें दोबारा खुलवाया है, मेरे हिसाब से ये बहुत अहम मसले थे, जो सही दिशा में बढ़ाए गए।

सिख समुदाय के लोगों की प्रधानमंत्री मोदी के साथ इस मुलाकात की सोशल मीडिया पर काफी चर्चा हो रही है। आप भी देखिए-

Leave a Reply