Home समाचार पंजाब में बिजली संकट पर सिद्धू ने बोला अपनी ही पार्टी की...

पंजाब में बिजली संकट पर सिद्धू ने बोला अपनी ही पार्टी की अमरिंदर सरकार पर हमला, ट्वीट कर उठाए पावर कट पर सवाल

821
SHARE

कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने पंजाब में बिजली कटौती के मुद्दे पर अपनी ही पार्टी की अमरिंदर सिंह सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। सिद्धू ने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह पर जमकर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि कि अगर सही दिशा में कोशिश करें तो पंजाब में बिजली कटौती की जरूरत नहीं पड़ेगी। राहुल गांधी और प्रियंका गांधी से मुलाकात के बाद सिद्धू ने अमरिंदर सिंह पर यह हमला बोला है। कांग्रेस नेता सिद्धू में एक के बाद एक करके सिलसिलेवार कई ट्वीट किए। राज्य में जारी भीषण बिजली संकट पर सिद्धू ने ट्वीट कर कहा कि बिजली की लागत, कटौती, बिजली खरीद समझौते और पंजाब के लोगों को मुफ्त और 24 घंटे बिजली देने का सच क्या है। अगर हम सही दिशा में काम करेंगे तो राज्य में बिजली कटौती की कोई जरूरत नहीं है। सीएम को ना तो ऑफिस टाइमिंग बदलना होगा और ना ही आम लोगों को एसी के इस्तेमाल पर कोई नियम लाना पड़ेगा।

सिद्धू ने ज्यादा दाम पर बिजली खरीद को लेकर अमरिंदर सरकार को घेरे में लेते हुए लिखा कि पंजाब 4.54 प्रति यूनिट के हिसाब से बिजली खरीद रहा है। राष्ट्रीय औसत रु. 3.85 प्रति यूनिट और चंडीगढ़ प्रति यूनिट 3.44 रुपये का भुगतान कर रहा है। तीन निजी ताप संयंत्रों पर अति-निर्भरता के कारण पंजाब को अन्य राज्यों की तुलना में 5-8 रुपये प्रति यूनिट अधिक भुगतान करना पड़ता है। 

कांग्रेस नेता सिद्धू ने कहा कैप्टन अमरिंदर सिंह की कांग्रेस सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि पंजाब की प्रति यूनिट बिजली खपत का राजस्व भारत में सबसे कम है, जो बिजली खरीद और सप्लाई सिस्टम के मिसमैनेजमेंट के कारण है। राज्य में 9000 करोड़ रुपये से अधिक की सब्सिडी के बाद भी पीएसपीसीएल को प्रति यूनिट एक्स्ट्रा 0.18 पैसे का भुगतान करता है।

पंजाब सरकार पर वार करते हुए सिद्धू ने कहा कि निजी थर्मल संयंत्र को अनुचित और अत्यधिक लाभ के बजाए इस धन का उपयोग लोगों के कल्याण के लिए किया जाना चाहिए। जिसमें घरेलू उपयोग के लिए 300 यूनिट तक बिजली सब्सिडी देना, 24 घंटे की सप्लाई, शिक्षा और स्वास्थ्य देखभाल में निवेश करना शामिल है।

Leave a Reply