Home समाचार हमारी सरकार की पॉलिसी नेशन फर्स्ट है : Republic Summit में पीएम...

हमारी सरकार की पॉलिसी नेशन फर्स्ट है : Republic Summit में पीएम मोदी

1276
SHARE

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज निजी मीडिया हाउस-रिपब्लिक टीवी के दूसरे समिट में हिस्सा लिया। मंच से लोगों को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आज हमारे संविधान के 70 साल पूरे हुए हैं। एक प्रकार से ये ऐतिहासिक दिन है। मैं सभी को संविधान दिवस की बधाई देता हूं। 

पीएम मोदी ने कहा कि 5-6 साल पहले तक जनता और मीडिया में सवाल ही सवाल चलते थे। ऐसा लगता था कि कोई रिकॉर्डेड बुलेटिन चल रहा है। कभी घोटाले की खबर, कभी भ्रष्टाचार की खबर, कभी बम धमाके और कभी आसमान छूती महंगाई। यही खबरें लौट-लौटकर आती रहती थीं।

उन्होंने कहा कि अब उन हालातों और परिस्थितियों से देश बहुत आगे निकल चुका है। अब समस्या और चुनौतियों से आगे समाधान पर बात हो रही है, दशकों पुरानी समस्याओं का समाधान होते हुए देश देख रहा है और कभी कभी लोग कहते भी हैं कि हमने सोचा नहीं था कि हम जीते जी ये देख भी पाएंगे।

पीएम मोदी कहा कि इसके दो कारण हैं – पहला भारत के 130 करोड़ लोगों का आत्मविश्वास, जो कहता है Yes It is India’s Moment। दूसरा – भारत के 130 करोड़ लोगों की सोच जो कहती है Nation First यानि सबसे पहले और सबसे ऊपर देश। कोई खुद से समुद्र तटों की सफाई का नेतृत्व कर रहा है, कोई गरीब बच्चों को पढ़ा रहा है, कोई गरीबों को डिजिटल लेनदेन सिखा रहा है।ऐसी अनगिनत बातें देश के कौने-कौने में हैं। यही तो है नेशन फर्स्ट।

पीएम मोदी ने कहा कि 370 को हमारे संविधान में अस्थाई कहा गया, लेकिन कुछ परिवार की वजह से इसे स्थाई मान लिया गया था। ऐसा करके उन्होंने संविधान की भावना का अपमान किया अपनी राजनीति चमकाने के लिए, अहम विषयों को टालते रहने के लिए कुछ लोगों ने देश में भय का एक artificial logic खड़ा किया। इसी तरह अयोध्या विषय को वोट बैंक की राजनीति के कारण इसे समाधान करने की ईमानदार कोशिश नहीं की गई है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि नई सफलताओं के द्वार तभी खुलते हैं, जब जीवन में चुनौतियों को स्वीकार किया जाता है। हमारी सरकार ने न सिर्फ चुनौतियों को स्वीकार किया, बल्कि उनके समाधान को लेकर गंभीरता से प्रयास भी किये हैं। उन्होंने कहा कि मुझे याद है जब 2014 में सरकार बनने के बाद, पिछली सरकार के दौरान हुए NPA’s और उसे छुपाने के लिए हुई गड़बड़ियों की बात सामने आयी थी तो क्या स्थिति थी। हमने उस घोटाले को देश के सामने लाकर इससे निपटने का रास्ता बनाया।  अब IBC की वजह से करीब 3 लाख करोड़ रूपये की वापसी सुनिश्चित हुई है।

पीएम मोदी ने कहा कि कुछ लोगों ने आधार को बदनाम करने के लिए पूरी ताकत झोंक दी। आधार के आंकड़ों को सुनकर विश्व भर के नेताओं को आश्चर्य होता है। हमारे वहां कागजों में 8 करोड़ से ज्यादा ऐसे लोग थे जो कभी जन्में ही नहीं थे। जन्म नहीं हुआ और शादी भी हो गई फिर विधवा भी हो गए और विधवा पेंशन भी शुरु हो गई। ऐसे लोग गलत तरह से पेंशन लेते थे, तनख्वाह लेते थे, स्कॉलरशिप लेते थे। लेकिन आधार के जरिए सरकार इसपर काबू पाने में सफल हो पाई है। इससे देश को हरेक साल करीब डेढ़ लाख करोड़ गलत हाथों में जाने से बचाया जा सका है।

पीएम मोदी ने कहा कि  हमने राजनीतिक लाभ हानि की चिंता किए बिना देश में GST को लागू किया। आज सामान्य नागरिक से जुड़ी 99 प्रतिशत चीजों पर पहले के मुकाबले औसतन आधा टैक्स लग रहा है। लेकिन इसपर किसी मीडिया हाउस का नजर नहीं जाता है। 

उन्होने कहा कि लोग अपनी मेहनत की कमाई से पैसा जुटाकर, यहां घर खरीदते थे, लेकिन वो घर पूरी तरह उनका नहीं हो पाता था। ये समस्या निरंतर बनी हुई थी हमारी सरकार ने इसे खत्म करने का फैसला लिया और अब 50 लाख से अधिक दिल्ली वालों को अपने घर और बेहतर जीवन का भरोसा मिला है।

पीएम मोदी ने कहा कि दशकों से दिल्ली के लाखों परिवारों के जीवन में बहुत बड़ी अनिश्चितता थी। आज भारत में जिस Speed और Scale पर काम हो रहा है, वो अभूतपूर्व है। 60 महीने में करीब 60 करोड़ भारतीयों तक टॉयलेट की सुविधा पहुंचाना, 3 साल से भी कम समय में 8 करोड़ घरों को को मुफ्त गैस कनेक्शन देना।

उन्होंने कहा कि दुनिया की सबसे बड़ी हेल्थ स्कीम आयुष्मान भारत की शुरुआत करना इसीलिए संभव हो पाया है क्योंकि हमारे लिए Nation First है। अब लोगों के जीवन को आसान बनाने और उनकी आय बढ़ाने के इरादे के साथ ही देश की अर्थव्यवस्था को 5 ट्रिलियन डॉलर का बनाने का लक्ष्य देश ने रखा है। मुझे विश्वास है कि Nation First की भावना के साथ काम करते हुए हमें हर फैसले का उचित परिणाम मिलेगा।

 

Leave a Reply