Home समाचार जावेद जाफरी ने किया कुरान के नाम पर स्वीडन में हुई हिंसा...

जावेद जाफरी ने किया कुरान के नाम पर स्वीडन में हुई हिंसा का समर्थन!

1069
SHARE

दुनिया के सबसे शांत देशों में से एक स्वीडन आजकल हिंसा में झुलस रहा है। स्वीडन के माल्मो शहर में कुरान जलाए जाने की खबर फैलने के साथ ही मुस्लिम उपद्रवियों ने यहां दंगों को अंजाम दिया। सैकड़ों की संख्या में कट्टर मुस्लिमों की भीड़ सड़कों पर उतर गई। अल्लाह-हू- अकबर के नारों के साथ जगह-जगह आगजनी और तोड़फोड़ की गई। दंगे के पीछे सीरिया और इराक जैसे देशों से आए वो शरणार्थी बताए जा रहे हैं जिन्हें स्वीडन की सरकार ने कुछ साल पहले मानवता के आधार पर अपने देश में शरण दी। स्वीडन ने जिन्हें शरण दी उन्होंने ही शहर को आग के हवाले कर दिया।

इन उपद्रवी मुसलमानों ने स्वीडन में भी बेंगलुरु जैसी हिंसा को अंजाम दिया। लेकिन ताज्जुब की बात तो यह है कि कई पढ़े-लिखे लोग और कलाकार इस हिंसा कि वकालत कर रहे हैं। बॉलीवुड अभिनेता जावेद जाफरी ने कुरान के नाम पर दंगों का पक्ष लेते हुए ट्वीट किया कि यह तस्वीरें देखने के बाद हम अमेरिका की नागरिकता लेने पर विचार कर रहे हैं। हर तरह की हिंसा ( ना कि विरोध) निंदनीय है। लेकिन आपने हिंसा के कारण का उल्लेख क्यों नहीं किया? हैरानी की बात है कि आप वजह को भूल गए।

जावेद जाफरी कारण पर जोर देकर दंगे को सही ठहराने की कोशिश कर रहे हैं। मुस्लिम शरणार्थियों के आने के बाद जिस स्वीडन में पहले अपराध नहीं होते थे, अब वहां लगातार रेप, लूटमार और हत्याएं होने लगी हैं। स्वीडन में बढ़ते इस्लामीकरण के विरोध में स्थानीय लोगों ने पिछले सप्ताह एक कार्यक्रम का आयोजन किया। जिसमें कुरान जलाए जाने की खबर फैलते ही मुस्लिम दंगाइयों ने शहर को जमकर तोड़फोड़ और आगजनी की। अब जावेद जाफरी इसे कुरान जलाने का कारण बताकर सही ठहराना चाहते हैं। जावेद ने एक ट्वीट के जवाब में स्वीडन दंगों की वकालत की, जिससे बाद लोगों ने जाफरी को लताड़ लगानी शुरू कर दी।

Leave a Reply