Home चटपटी करप्शन पर चोट करती कविता

करप्शन पर चोट करती कविता

1837
SHARE

भ्रष्टाचार और कालेधन के खिलाफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अभियान से प्रभावित होकर कवि गजेंद्र सोलंकी ने अपनी कविता के माध्यम से नोटबंदी का विरोध करने वालों पर करारा तंज कसा है।

आप भी आनंद लीजिए-

इस कविता को तारिफ फतह ने यूट्यूब पर अपलोड किया है। तारिफ फतह पाकिस्तानी मूल के कनाडाई लेखक और पत्रकार हैं।

LEAVE A REPLY