Home कोरोना वायरस प्रधानमंत्री मोदी के कायल हुए विंडिज क्रिकेटर, कोरोना वैक्सीन मिलने पर रिचर्ड्स...

प्रधानमंत्री मोदी के कायल हुए विंडिज क्रिकेटर, कोरोना वैक्सीन मिलने पर रिचर्ड्स के बाद क्रिस गेल ने भी कहा शुक्रिया

417
SHARE

कोरोना संकट काल में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारत पूरी दुनिया के लिए एक संकटमोचक बनकर सामने आया है। कोरोना महामारी के समय भारत ने करीब 71 देशों को स्‍वदेश में बनी कोविड-19 टीकों की 6 करोड़ से अधिक खुराक उपलब्‍ध करायी हैं। इसी क्रम में वैक्सीन मिलने पर जमैका केप्रधानमंत्री एंड्रयू होल्नेस समेत कई क्रिकेटरों ने प्रधानमंत्री मोदी का शुक्रिया अदा किया है। दिग्गज बल्लेबाज क्रिस गेल ने एक वीडियो संदेश में प्रधानमंत्री मोदी और भारत के लोगों का शुक्रिया अदा करते हुए कहा, ‘जमैका को कोरोना वैक्सीन देने के लिए मैं भारत सरकार, प्रधानमंत्री मोदी और भारत की जनता को धन्यवाद देता हूं। हम इसकी सराहना करते हैं।’

क्रिस गेल से पहले वेस्टइंडीज के महान क्रिकेटर विवियन रिचर्ड्स के साथ तीन अन्य पूर्व क्रिकेटरों ने भी कैरेबियाई देशों में वैक्सीन पहुंचाने के लिए प्रधानमंत्री मोदी का धन्यवाद किया था। रिचर्ड्स ने कहा कि मैं एंटीगा और बारबाडोस के लोगों की तरफ से भारत सरकार, प्रधानमंत्री मोदी और भारत की जनता का शुक्रिया करना चाहूंगा कि उन्होंने हमें कोरोना वैक्सीन की खेप पहुंचायी। इससे भविष्य में हमारे रिश्ते और मजबूत होंगे। उनके साथ रिची रिचर्ड्सन ने कहा कि मैं एंटीगा और बारबाडोस की ओर से भारत के प्रधानमंत्री मोदी का आभार जताना चाहता हूं कि उन्होंने भारत में बनी कोरोना वैक्सीन की 40 हजार डोज हमें भेजी। हम आपके आभारी हैं, बहुत शुक्रिया। पूर्व कप्तान जिमी एडम्स ने कहा कि जिस तरह भारत सरकार कैरीकॉम देशों को कोरोना वैक्सीन पहुंचा रही है, वो वाकई तारीफ का काम है। इससे जमैका के लोगों को भी बहुत फायदा होगा। मैं इस शानदार अभियान के लिए कैरेबियाई लोगों ओर से आपका शुक्रिया करना चाहूंगा। वेस्टइंडीज के पूर्व क्रिकेटर रामनरेश सरवन ने प्रधानमंत्री मोदी की तारीफ करते हुए कहा कि हमें कोरोना वैक्सीन पहुंचाने के लिए आपका शुक्रिया अदा करना चाहूंगा।

इससे पहले आंद्रे रसेल ने भी कोरोना वैक्सीन के लिए प्रधानमंत्री मोदी को धन्यवाद दिया। एक वीडियो संदेश में उन्होंने कहा कि मैं प्रधानमंत्री मोदी और भारतीय उच्‍चायोग को धन्‍यवाद देना चाहता हूं। वैक्‍सीन यहां आ चुकी हैं और हम बहुत उत्‍साहित हैं। मैं दुनिया को दोबारा नॉर्मल में लौटते हुए देखना पसंद करूंगा। जमैका के लोग इसकी काफी सराहना कर रहे हैं और यह साबित कर रहे हैं कि भारत और जमैका अब भाई हैं। मैं इसकी सराहना करता हूं और सभी लोग वहां सुरक्षित रहे।

भारत ने 8 मार्च को जमैका को एस्ट्राजेनेका वैक्सीन की 50,000 खुराक भेजी थी। जिसके बाद जमैका के प्रधानमंत्री एंड्रयू होलनेस ने कहा था कि मुझे यह बताते हुए बेहद खुशी हो रही है कि कल दोपहर को, हमें भारत सरकार द्वारा दान की गई एस्ट्राजेनेका वैक्सीन की 50,000 खुराक की पहली खेप मिली। हम इस अति-आवश्यक समर्थन के लिए सरकार और भारत के लोगों के प्रति अपनी गहरी प्रशंसा व्यक्त करते हैं।

भारत ने 71 देशों को उपलब्ध कराया टीका

दुनियाभर के देशों को टीकों की आपूर्ति करने वाले भारत ने अब तक करीब 71 देशों को स्‍वदेश में बनी कोविड-19 टीकों की 6 करोड़ से अधिक खुराक उपलब्‍ध करायी हैं। इनमें से 81 लाख खुराक अनुदान सहायता के रूप 37 देशों को मुफ्त उपलब्‍ध करायी गयी हैं जबकि 1.65 करोड़ खुराक 31 देशों को कोवेक्‍स सुविधा के माध्‍यम से भेजी गयी हैं।

भारत की वैक्‍सीन मैत्री पहल के तहत बांग्‍लादेश, म्‍यांमा, नेपाल, भूटान, मालदीव, मारिशस, श्रीलंका, सेशेल्‍स, बहरीन, ओमान और अफगानिस्‍तान सहित कुछ अन्‍य देशों को अनुदान सहायता के रूप में मेड इन इंडिया कोविड-टीके सबसे पहले उपलब्‍ध कराये गये। कोवैक्‍स दुनिया के दो तिहाई से अधिक देशों का एक अनोखा वैश्‍विक सहयोग संगठन है जो कोविड टीकों की सप्‍लाई समानता के आधार पर सुनिश्चित करता है।

भारत ने 3.39 करोड़ से अधिक टीके वाणिज्यिक आधार पर दुनिया के 24 देशों को भेजे गये हैं। कई देशों को मेड इन इंडिया टीके अनुदान सहायता और कोवेक्‍स सुविधा दोनों ही तरीकों से भेजे गये हैं। कोविड 19 के टीके विभिन्‍न देशों को उपलब्‍ध कराने के लिए भारत ने वैक्‍सीन मैत्री कार्यक्रम की शुरूआत करीब डेढ महीने पहले की थी। अनेक देशों से भारत में बने कोविड टीकों की सप्‍लाई के अनुरोध प्राप्‍त होने पर सरकार ने बीस जनवरी को भूटान, मालदीव, बांग्‍लादेश, नेपाल, म्‍यांमा और सेशेल्‍स को अनुदान सहायता के अंतर्गत इन्‍हें उपलब्‍ध कराना शुरू किया।

Leave a Reply