Home समाचार सतत ऊर्जा से ही सतत विकास संभव: प्रधानमंत्री मोदी

सतत ऊर्जा से ही सतत विकास संभव: प्रधानमंत्री मोदी

182
SHARE

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को सतत विकास के लिए ऊर्जा पर एक वेबिनार को संबोधित करते हुए कहा कि सतत ऊर्जा से ही देश, समाज और व्यक्ति का विकास संभव है। केंद्रीय बजट 2022 की घोषणाओं के प्रभावी और त्वरित कार्यान्वयन की सुविधा के लिए, केंद्र सरकार विभिन्न महत्वपूर्ण क्षेत्रों में वेबिनार की एक श्रृंखला आयोजित कर रही है। इस श्रृंखला के अंतर्गत ऊर्जा, पेट्रोलियम तथा प्राकृतिक गैस, नवीन तथा नवीकरणीय ऊर्जा, कोयला, खनन, विदेश और पर्यावरण, वन तथा जलवायु परिवर्तन मंत्रालयों के संसाधनों के विकास पर वेबिनार का आयोजन किया गया। अपने संबोधन के दौरान पीएम ने सोलर ट्री की अवधारणा विकसित करने पर बल दिया।

देश ने तय किया अपना लक्ष्य

वेबिनार में पीएम मोदी ने कहा कि ऊर्जा और सतत विकास हमारी पुरातन परंपराओं से प्रेरित है और भविष्य की आवश्यकताओं व आकांक्षाओं की पूर्ति का मार्ग है। भारत का स्पष्ट विजन है कि सतत विकास सतत ऊर्जा से ही संभव है। उन्होंने कहा कि भारत ने अपने लिए जो लक्ष्य तय किए हैं उन्हें मैं चुनौती की तरह नहीं बल्कि एक अवसर की तरह देखता हूं। इसी विजन पर भारत बीते वर्षों से चल रहा है और इस बजट में इनको पॉलिसी लेवल पर और आगे बढ़ाया गया है।

घर की शोभा और पहचान बनेगा सोलर ट्री

पीएम मोदी ने कहा कि ग्लासगो में हमने 2070 तक नेट जीरो के स्तर तक पहुंचने का वादा किया है। मैंने कॉप-26 में सतत जीवनशैली को बढ़ावा देने के लिए लाइफ मिशन की बात की थी। उन्होंने इस बीच कहा कि हम घर के बाग-बगीचे या बालकनी में हर परिवार के एक सोलर ट्री की एक नई अवधारणा विकसित कर सकते हैं, ये सोलर ट्री घर की 10 से 20 फीसदी बिजली में मदद कर सकता है। ये घर की पहचान भी बन जाएगा कि सोलर ट्री वाला घर पर्यावरण के प्रति जागरूक नागरिकों का घर है।

Leave a Reply