Home नरेंद्र मोदी विशेष वर्षा जल संरक्षण को लेकर प्रधानमंत्री मोदी ने देशभर के सरपंचों और...

वर्षा जल संरक्षण को लेकर प्रधानमंत्री मोदी ने देशभर के सरपंचों और ग्राम प्रधानों को लिखा पत्र

257
SHARE

देश में भीषण गर्मी पड़ रही है, कई इलाकों में सूखे जैसे हालात हैं। ऐसे में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जस संचय और जल संरक्षण का महत्व बताते हुए देशभर के सरपंचों और ग्राम प्रधानों को पत्र लिख कर उनसे बारिश का जल एकत्र करने का आग्रह किया है। शनिवार को जिलाधिकारियों ने प्रधानमंत्री की इस चिट्ठी को सभी सरपंचों को अपने हाथ से पहुंचाया। पीएम मोदी ने चिट्ठी में इस सरपंचों से कहा है कि वह अपने अपने गांवों में ग्राम सभा बुलाएं और चिट्ठी पढ़ कर सुनाएं। ताकि आने वाले मौसम में सभी गांव वाले मिलकर बारिश का पानी का संचयन करें और उसका पूरा लाभ उठाएं।

चिट्ठी कि शुरुआत में पीएम ने सरपंच और उनकी पंचायत के सभी भाई-बहनों की कुशलता की कामना करते हुए लिखा है, “ वर्षा झृतु का आगमन होने वाला है। हम भाग्यशाली हैं कि ईश्वर ने देश को पर्याप्त वर्षा जल प्रदान किया है। ईश्वर की इस भेंट का आदर करना हमारा कर्तव्य है। इसलिए बारिश का मौसम प्रारंभ होते ही हमें ऐसे इंतजाम करने हैं कि बारिश की पानी का हम ज्यादा से ज्यादा संचयन कर सकें।”

श्री मोदी ने लिखा है, “नए भारत का निर्माण आप सबके सक्रिय सहयोग और सहभाग से ही संभव है। आईए, खेतों की मेड़ बंदी, नदियों और धाराओं में चेक डैम का निर्माण व तटबंदी, तालाबों की खुदाई एवं सफाई, वृक्षारोपण, वर्षा जल के संचयन हेतु टांका, जलाशय आदि का बड़ी संख्या में निर्माण करें ताकि गांव का पानी गांव में और खेत का पानी खेत में संचयित किया जा सके।”

प्रधानमंत्री मोदी ने आगे कहा, “अगर हम ऐसा कर पाएं तो ना केवल पैदावार बढेगा बल्कि हमारे पास जल का बड़ा भंडार होगा जिसका हम अपने गांव के कई कार्यो में सदुपयोग कर पाएंगे।” उन्होंने ग्रामसभा की बैठक बुलाकर इस पत्र को सभी को पढ़ कर सुनाने और इस मुद्दे पर व्यापक विचार विमर्श करने का भी आग्रह किया है। पीएम मोदी ने अंत में लिखा है कि स्वच्छता अभियान की तरह पानी संचयन के इस अभियान को भी जन आंदोलन बना कर इसे सफल बनाएं।

सोशल मीडिया पर लोगों ने प्रधानमंत्री मोदी की इस पहल की तारीफ की है-

Leave a Reply