Home समाचार दशक के पहले बजट में Vision भी और Action भी :...

दशक के पहले बजट में Vision भी और Action भी : प्रधानमंत्री मोदी

251
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा पेश आम बजट-2020 का स्वागत किया है। उन्होंने कहा, “मैं इस दशक के पहले बजट के लिए, जिसमें विजन भी है, एक्शन भी है, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी और उनकी टीम को बहुत-बहुत बधाई देता हूं।”

पीएम मोदी ने कहा कि उन्हें पूर्ण विश्वास है कि ये बजट इनकम और इन्वेस्टमेंट को बढ़ाएगा, Demand और Consumption को बढ़ाएगा, Financial System और Credit Flow में नई स्फूर्ति लाएगा। ये बजट देश की वर्तमान आवश्यकताओं के साथ ही इस दशक में भविष्य की अपेक्षाओं की पूर्ति करेगा। 

उन्होंने कहा कि बजट में जिन नए रिफॉर्म्स का ऐलान किया गया है, वो हमारी अर्थव्यवस्था को गति देने, देश के प्रत्येक नागरिक को आर्थिक रूप से सशक्त बनाने और इस दशक में अर्थव्यवस्था की नींव को मजबूत करने का काम करेंगे।

पीएम मोदी ने कहा कि रोजगार के प्रमुख क्षेत्र एग्रीकल्चर, इंफास्ट्रक्चर, टेक्सटाइल और टेक्नोलॉजी होते हैं। इम्प्लॉयमेंट जनरेशन को बढ़ाने के लिए इन चारों बिंदुओं पर इस बजट में बहुत जोर दिया गया है। उन्होंने कहा कि एक्सपोर्ट और MSME सेक्टर के लिए सबसे ज्यादा रोजगार बढाने वाले सेक्टर हैं और इस दिशा में कई महत्वपूर्ण घोषणाएं की गई हैं। हर जिले को एक्सपोर्ट हब बनाने के प्रयास किये जा रहे हैं। साथ ही 100 लाख करोड़ रुपये से 6500 प्रोजेक्ट बड़े पैमाने पर रोजगार के अवसर को बढाएंगे। 

प्रधानमंत्री ने कहा कि किसानों की आय दोगुनी करने के लिए 16 एक्शन प्वाइंट्स बनाए गए हैं जो ग्रामीण क्षेत्र में रोजगार को बढ़ाने का काम करेंगे। बजट में कृषि क्षेत्र के लिए Integrated approach अपनाई गई, जिससे परंपरागत तौर तरीकों के साथ ही हॉर्टिकल्चर, फिशरीज, एनीमल हस्बेंड्री में वैल्यू एडिशन बढेगा और इससे भी रोजगार बढ़ेगा।

पीएम ने कहा कि टेक्निकल टेक्सटाइल के लिए नए मिशन की घोषणा हुई है। मैनमेड फाइबर को भारत में Produce करने के लिए उसके Raw Material के ड्यूटी स्ट्रक्चर में रिफॉर्म किया गया है। इस रिफॉर्म की पिछले तीन दशकों से मांग हो रही थी। उन्होंने कहा कि National Logistic Policy से व्यापार, कारोबार और रोजगार को फायदा होगा। 100 हवाईअड्डों का निर्माण के भारत के पर्यटन क्षेत्र को बल मिलेगा। 

पीएम मोदी ने कहा कि आयुष्मान भारत योजना ने देश के हेल्थ सेक्टर को नया विस्तार दिया है। इस सेक्टर में Human resource- डॉक्टर, नर्स, अटेनडेंट के साथ ही मेडिकल डिवाइस मैन्यूफैक्चरिंग का बहुत स्कोप बना है। इसे बढ़ाने के लिए सरकार द्वारा नए निर्णय लिए गए हैं।

उन्होंने कहा कि रोजगार सृजन के लिए निवेश बहुत ही जरूरी है और इस दिशा में कई  कदम उठाए गए हैं। इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए बॉड मार्केट और फाइनेंस को मजबूत करने के लिए कई प्रयास किए गए हैं। DDT खत्म होने से कंपनियों को फायदा होगा। टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में Employment जनरेशन को बढ़ावा देने के लिए इस बजट में हमने कई प्रयास किए हैं। नए स्मार्ट सिटीज, इलेक्ट्रॉनिक मैन्यूफैक्चरिंग, डेटा सेंटर पार्क्स, बायो टेक्नोलॉजी और क्वांटम टेक्नोलॉजी, जैसे क्षेत्रों के लिए अनेक पॉलिसी Initiatives लिए गए हैं।

पीएम मोदी ने कहा कि स्टार्ट अप्स और रीयल एस्टेट के लिए भी टैक्स बेनिफिट्स दिए गए हैं। ये सभी फैसले अर्थव्यवस्था को तेज गति से बढ़ाने और इसके जरिए युवाओं को रोजगार के नए अवसर उपलब्ध कराएंगे। अब हम इनकम टैक्स की व्यवस्था में, विवाद से विश्वास के सफर पर चल पड़े हैं।

उन्होंने कहा कि आज सरकारी नौकरी के लिए युवाओं को कई अलग-अलग परीक्षाएं देनी होती हैं। इस व्यवस्था को बदलकर, अब नेशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी द्वारा लिए गए ऑनलाइन कॉमन एक्जाम के माध्यम से नियुक्तियां की जाएंगी। 

 

Leave a Reply