Home समाचार कीर्तिमानों से भरा रहा टीकाकरण अभियान का एक साल, कोरोना के खिलाफ...

कीर्तिमानों से भरा रहा टीकाकरण अभियान का एक साल, कोरोना के खिलाफ जंग में वैक्सीन और पीएम मोदी का अद्भुत नेतृत्व बना अहम हथियार

469
SHARE

भारत में विश्व का सबसे बड़ा और ऐतिहासिक टीकाकरण अभियान चल रहा है। इस अभियान ने सफलता पूर्वक एक साल का सफर पूरा कर लिया है। इसकी सफलता के पीछे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का अद्भुत नेतृत्व और उनकी प्रेरणा है। कोरोना के खिलाफ जंग में प्रधानमंत्री मोदी एक सेनापति के रूप में नजर आए है। उन्होंने ना सिर्फ भारत बल्कि पूरे विश्व की मानवता को बचाने के लिए अग्रणी भूमिका निभाई है। उनके नेतृत्व में अभियान ने पिछले एक साल के सफर में कई कीर्तिमानों का पड़ाव पार करते हुए सफलता का नया इतिहास रचा है।

सोमवार (17 जनवरी, 2022) को टीकाकऱण अभियान ने 157 करोड़ का आंकड़ा पार कर लिया। अब तक देश की 93 प्रतिशत वयस्क आबादी को टीके की पहली डोज लग चुकी है जबकि 70 प्रतिशत से अधिक का पूर्ण टीकाकरण हो चुका है। जबकि दुनिया में करीब 60 प्रतिशत आबादी को पहला टीका और 51 प्रतिशत आबादी को दोनों टीके लगे हैं। भारत ने नौ महीने से भी कम समय में 100 करोड़ डोज लगा दी। एक दिन में एक करोड़ से अधिक डोज लगाने का आंकड़ा तो भारत ने कई बार पार किया। लेकिन एक दिन में 2.51 करोड़ डोज लगाने का रिकार्ड बनाकर पूरे विश्व को हैरान कर दिया।

भारत ने अब तक पांच वैक्सीन के आपातकालीन उपयोग को मंजूरी दी हैं, जिनमें कोविशील्ड, कोवैक्सीन के अलावा माडर्ना, जानसन एंड जानसन और जायडस कैडिला की वैक्सीन शामिल है। तमाम संसाधन और सुविधाएं होने के बावजूद अमेरिका समेत कोई भी दूसरा देश टीकाकरण में भारत जैसी उपलब्धि हासिल नहीं कर सका है। बड़ी आबादी औऱ सीमित संसाधन के बावजूद प्रधानमंत्री मोदी, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री, वैज्ञानिकों, वैक्सीन उत्पादकों और लाखों स्वास्थ्यकर्मियों के अथक परिश्रम से भारत ने न सिर्फ देशवासियों की सुरक्षा सुनिश्चित की, बल्कि वसुधैव कुटुंबकम के अपने दर्शन के अनुरूप 100 से अधिक देशों को टीके उपलब्ध कराए। यही वजह है कि भारत के सामर्थ्य की तारीफ आज पूरी दुनिया में हो रही है।  

टीकाकरण अभियान में मील के पत्थर

  • 01 अप्रैल, 2021 –  10 करोड़ डोज
  • 25 जून, 2021 –     25 करोड़ डोज
  • 06 अगस्त, 2021–  50 करोड़ डोज
  • 13 सितंबर, 2021–  75 करोड़ डोज
  • 21 अक्टूबर, 2021100 करोड़ डोज
  • 07 जनवरी, 2022 – 150 करोड़ डोज

टीकाकरण अभियान के एक साल का सफर

16 जनवरी, 2021– स्वास्थ्यकर्मियों के टीकाकरण से अभियान की शुरुआत हुई।

02 फरवरी, 2021– फ्रंटलाइन वर्कर को टीका लगाना शुरू किया गया।

01 मार्च, 2021– 60+ और रोगों से पीड़ित 45-60 वर्ष का टीकाकरण शुरू हुआ।

01 अप्रैल, 2021– 45 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों का टीकाकरण शुरू हुआ।

01 मई, 2021– 18 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों का टीकाकरण शुरू हुआ।

02 नवंबर, 2021– कोरोना टीकाकरण कवरेज बढ़ाने के लिए ‘हर घर दस्तक’ अभियान शुरू हुआ।

03 जनवरी, 2022- 15 से 18 वर्ष आयुवर्ग के किशोरों का टीकाकरण शुरू हुआ।

10 जनवरी, 2022 – स्वास्थ्यकर्मियों, फ्रंटलाइन वर्कर, बुजुर्गों को सतर्कता डोज देने की शुरुआत।

Leave a Reply