Home चुनावी हलचल पंजाब और यूपी में चुनाव से पहले मजबूत हो रही बीजेपी, दोनों...

पंजाब और यूपी में चुनाव से पहले मजबूत हो रही बीजेपी, दोनों राज्यों में कांग्रेस, सपा और बसपा के कई बड़े नेता, एमएलसी, पूर्व विधायकों के बीजेपी में शामिल होने की होड़

821
SHARE

पांच राज्यों में ज्यों-ज्यों विधानसभा चुनाव नजदीक आ रहे हैं, विजेता पार्टी के पाले में रहने की इच्छा विभिन्न राजनीतिक पार्टियों के नेताओं के दिल में हिलोरें मार रही है। इसी के चलते उत्तर प्रदेश और पंजाब में क्रमश: समाजवादी पार्टी, बसपा और कांग्रेस के नेताओं में बीजेपी को ज्वाइन करने की होड़ सी मच गई है। पंजाब में जहां सिद्धू की कांग्रेस को उनके करीबी नेता ‘ताली’ बजा-बजा कर छोड़ रहे हैं, वहीं उत्तर प्रदेश में सपा को नित-नए झटके पे झटके लग रहे हैं। सपा का दूसरे दलों से समझौता भी सही न होने के कारण कुनबे में भी कलह मची हुई है।

पंजाब में सिद्धू और यूपी में अखिलेश की नीतियां गले नहीं उतर रहीं
पंजाब में जहां कांग्रेस प्रधान नवजोत सिंह सिद्धू की नीति कांग्रेसियों के ही गले नहीं उतर ही है, वहीं उत्तर प्रदेश में सपा के सुप्रीमो बने अखिलेश यादव के बोल और छोटे-मोटे दूसरे दलों से समझौते सपाइयों को रास नहीं आ रहे हैं। बसपा सुप्रीमो मायावता तो वैसे ही इस चुनाव में अभी निष्क्रिय बनी हुई हैं। इसके चलते लखनऊ में बसपा तथा कांग्रेस के आधा दर्जन से अधिक पूर्व विधायक व एमएलसी भाजपा में शामिल हो गए।

डबल इंजन की सरकार बनाने के लिए जुड़ने लगे दूसरे दलों के भी नेता
उत्तर प्रदेश में एक बार फिर बीजेपी सरकार के ही बहुमत में आने की प्रबल संभावना के देखते हुए लगातार कई नेता बीजेपी में शामिल हो रहे हैं। प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और प्रदेश प्रभारी राधा मोहन सिंह ने विभिन्न राजनीतिक दलों से आए 17 नेताओं और भारी संख्या में उनके समर्थकों को बीजेपी की सदस्यता दिलाई। इस अवसर पर स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि आज उत्तर प्रदेश तो उत्तम प्रदेश बन रहा है। प्रदेश में चौतरफा विकास होने के साथ ही कानून का राज स्थापित होने से चुनाव में बीजेपी की जीत सुनिश्चित है।

बसपा के पूर्व मंत्री देव नारायण सिंह और मुकेश दीक्षित बीजेपी में शामिल
उन्होंने कहा कि हमारी सरकार के कार्यकाल में सभी योजना का लाभ एक-एक व्यक्ति को मिला है। इसी का लाभ हो रहा है और अन्य दलों के लोग बीजेपी में आ रहे हैं। गोरखपुर जिले के सहजनवा और महराजगंज के पनियरा से विधायक रहे पूर्व राज्यमंत्री देव नारायण सिंह उर्फ जीएम सिंह ने बसपा से इस्तीफा देने के बाद बीजेपी को ज्वाइन की है। पूर्व विधायक जीएम सिंह ने बसपा से इस्तीफे की सूचना फेसबुक पर भी शेयर की। इनके साथ ही सहारनपुर नगर से बहुजन समाज पार्टी से विधायक रहे मुकेश दीक्षित भी बीजेपी में शामिल हो गए।सपा के खेमे में खलबली, एमएलसी घनश्याम लोधी और राम बहादुर बीजेपी में शामिल
बीजेपी की जन कल्याणकारी नीतियों से प्रभावित होकर प्रदेश समाजवादी पार्टी के एमएलसी शैलेन्द्र प्रताप सिंह बीजेपी में शामिल हो गए। वह तीन बार से समाजवादी पार्टी से एलएलसी है। उन्होंने बीजेपी की सदस्यता ग्रहण की। उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में पहले चरण के मतदान से पहले सपा नेताओं में खलबली जारी है। समाजवादी पार्टी के विधान परिषद के सदस्य घनश्याम लोधी तथा शैलेन्द्र सिंह के साथ पूर्व आइएएस अधिकारी राम बहादुर ने समर्थकों के साथ बीजेपी की सदस्यता ग्रहण की।

तीन बार से एमएलसी रहे सपा नेता शैलेंद्र प्रताप सिंह भी बीजेपी के साथ आए
भाजपा की जन कल्याणकारी नीतियों से प्रभावित होकर प्रदेश समाजवादी पार्टी के एमएलसी शैलेन्द्र प्रताप सिंह भाजपा में शामिल हो गए। वह तीन बार से समाजवादी पार्टी से एलएससी है। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह के साथ उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के सह प्रभारी केन्द्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने समाजवादी पार्टी से एमएलसी घनश्याम लोधी तथा बसपा से लखनऊ के मोहनलालगंज क्षेत्र से प्रत्याशी रहे पूर्व आइएएस अधिकारी राम बहादुर को सदस्यता दिलाई। राम बहादुर नागरिक एकता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं।

सपा में नाइंसाफी…पेट्रोल डालकर आत्मदाह करने की कोशिश
समाजवादी पार्टी में मचे घमासान के बीच नाराजगी के हालात ये हो गए कि अलीगढ़ में सपा नेता ने टिकट नहीं मिला तो पेट्रोल डालकर की आत्मदाह की कोशिश कर डाली। इसे पुलिस ने बचाया। इस शख्स ने अपना नाम ठाकुर आदित्य बताया है. उसका कहना है कि वह छर्रा, अलीगढ़ से वो टिकट मांग रहा था, लेकिन उसे टिकट नहीं दिया गया। वह पांच साल से जमीन पर मेहनत कर रहा है, लेक‍िन पार्टी चहेते को टिकट बांट रही है। सपा निष्ठावान कार्यकर्याओं के साथ नाइंसाफी कर रही है।

सिद्धू के करीबी व अमृतसर देहात के अध्यक्ष बीजेपी में शामिल
दूसरी ओर पंजाब में कांग्रेस को एक और झटका लगा है। पंजाब कांग्रेस प्रधान नवजोत सिंह सिद्धू के करीबी भगवंत पाल सच्चर बीजेपी में शामिल हो गए हैं। उनके साथ कई और नेताओं ने भी बीजेपी का दामन थामा है। सिद्धू के करीबी अमृतसर देहात के अध्यक्ष भगवंत पाल सिंह सच्चर ने बीजेपी का दामन थाम लिया। इनके साथ निमीषा मेहता, कुलदीप सिंह समेत कई समर्थकों ने बीजेपी ज्वाइन की। पंजाब भाजपा अध्यक्ष अश्वनी शर्मा, केंद्रीय जल शक्ति मंत्री और भाजपा के पंजाब चुनाव प्रभारी गजेंद्र सिंह शेखावत ने उन्हें बीजेपी ज्वाइन कराई। अश्वनी शर्मा ने कहा कि पंजाब के विकास के लिए उत्तर प्रदेश की तरह यहां भी बीजेपी की डबल इंजन सरकार जरूरी है।

Leave a Reply