Home समाचार रोहिंग्या की हितैषी है केजरीवाल सरकार, NDMC को भेजे पत्र से बक्करवाला...

रोहिंग्या की हितैषी है केजरीवाल सरकार, NDMC को भेजे पत्र से बक्करवाला में 240 EWS फ्लैट और बारात घर देने की मांग का खुलासा

376
SHARE

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उनकी आम आदमी पार्टी मुस्लिम तुष्टिकरण में किसी भी हद तक जाने को तैयार है। चाहे देश और राष्ट्रीय राजधानी की सुरक्षा खतरे में क्यों न पड़ जाए। हालांकि केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी के एक ट्वीट के बाद आम आदमी पार्टी और केजरीवाल सरकार के मंत्रियों ने अपने को देशभक्त और रोहिंग्या विरोधी घोषित कर बीजेपी को फंसाने की जो चाल चली थी, उसमें वो खुद घिरते नजर आ रहे हैं। इसी बीच बीजेपी ने केजरीवाल सरकार का एक पत्र जारी कर आम आदमी पार्टी के प्रोपेगैंडा की हवा निकाल दी है।

आम आदमी पार्टी के प्रोपेगैंडा के खिलाफ बीजेपी ने भी मोर्चा खोल दिया है। बीजेपी ने एक पत्र जारी किया है, जिसे केजरीवाल सरकार ने 23 जून, 2021 को NDMC को भेजा था। इसमें केजरीवाल सरकार ने NDMC से बक्करवाला में मौजूद 240 EWS फ्लैट्स रोहिंग्या के लिए देने की मांग की थी। इस पत्र में कहा गया था कि 11 बांग्लादेशी और 71 रोहिंग्याओं के लिए रिस्ट्रिकशन सेंटर बनाना है। इसके लिए EWS फ्लैट के साथ-साथ वहां मौजूद बारात घर की जरूरत है।

प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने कहा कि सिर्फ झूठ बोलना ही अरविंद केजरीवाल का काम है। दिल्ली सरकार ने 23 जून, 2021 को एनडीएमसी को भी एक पत्र लिखकर बक्करवाला में 240 ईडब्ल्यूएस फ्लैट और एक कम्युनिटी सेंटर अलॉट करने का अनुरोध किया था, यह होती है दोहरी नीति। उन्होंने ट्वीट किया, “रोहिंग्या और बांग्लादेशी घुसपैठियों को अरविंद केजरीवाल सरकार द्वारा मुफ़्त बिजली, पानी और आर्थिक सहायता देने को लेकर जब मीडिया वालों ने डिप्टी सीएम सिसोदिया से प्रश्न पूछा तो एकदम उठ खड़े हुए और Press Conference छोड़ कर भाग गए।”

केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने केजरीवाल और उनके मंत्रियों पर झूठ बोलने का आरोप लगाते हुए कहा कि मैं साफ करना चाहता हूं कि गृह मंत्री अमित शाह ने सदन के पटल पर भी स्पष्ट किया है कि घुसपैठिए अवैध नागिरक के रूप में गिने जाएंगे उनको वापस भेजने की बात विदेश मंत्रालय के माध्यम से संबंधित देशों से की जा रही है और दिल्ली सरकार को डिटेंशन सेंटर बनाने के लिए कहा गया था लेकिन दिल्ली सरकार ने पिछले 1 साल में वह काम भी नहीं किया, ऐसी कौन सी मजबूरी थी। अरविंद केजरीवाल ने मुफ्त बिजली, पानी, राशन के बाद रोहिंग्या घुसपैठियों को फ्लैट देने की चाल भी चली थी।

बीजेपी सांसद प्रवेश साहिब सिंह वर्मा ने कहा कि मुख्यमंत्री केजरीवाल और उनकी पार्टी दोहरी नीति पर काम करती है। केजरीवाल की सरकार ने 23 जून 2021 को एक पत्र लिखकर दिल्ली के बक्करवाला में 240 ईडब्ल्यूएस फ्लैट और एक कम्युनिटी सेंटर अलॉट करने का अनुरोध किया था। आज बोल रहे हैं कि रोहिंग्या को दिल्ली में नहीं बसने देंगे। इसी तरह बीजेपी सांसद गौतम गंभीर ने भी पत्र को साझा करते हुए कहा है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की दोहरी छवि खुलकर सामने आ गई है। गटर लेवल की राजनीति करने वाली आम आदमी पार्टी अब अपने बातों से ही पलट गई है।

गौरतलब है कि केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी के एक ट्वीट से उत्पन्न संशय को दूर करते हुए केंद्रीय गृह मंत्रालय ने स्पष्ट किया कि रोहिंग्या शरणार्थी अभी जहां हैं, वहीं रहेंगे और गृह मंत्रालय उनको फ्लैट में नहीं रखने जा रही है। सरकार विदेश मंत्रालय के माध्यम से अवैध विदेशियों के निर्वासन के लिए संबंधित देशों से बातचीत कर रही है। गृह मंत्रालय ने आगे कहा है कि निर्वासित किए जाने तक अवैध विदेशियों को डिटेंशन सेंटर्स में ही रखा जाएगा। लेकिन दिल्ली सरकार ने अबतक मौजूदा लोकेशन को डिटेंशन सेंटर घोषित नहीं किया है। उनको ऐसा तुरंत करने का निर्देश दिया गया है।

Leave a Reply