Home समाचार अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर राहुल गांधी के नफरत भरे ट्वीट के बाद...

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर राहुल गांधी के नफरत भरे ट्वीट के बाद सोशल मीडिया पर लोगों ने लगाई क्लास

654
SHARE

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के माध्यम से भारतीय संस्कृति की धमक पूरे विश्व में सुनाई दे रही है। लेकिन यह कांग्रेस को रास नहीं आ रहा है। सिर्फ एक समुदाय को खुश करने के लिए कांग्रेस योग से नफरत करती है। फिर इसका सबूत कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने सातवें अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर ट्वीट कर दिया है। ट्वीट की भाषा और उसके कहने के तरीके को देखकर लगता है कि उन्होंने ट्वीट के जरिए योग और भारतीय संस्कृति के प्रति अपने अंदर छिपी हुई कुंठा, कड़वाहट और नफरत को उजागर किया है। उन्होंने ट्विटर पर हैशटैग के साथ लिखा, “ये योग दिवस है, न कि योग दिवस की आड़ में छिपने का दिन।”

राहुल गांधी के इस ट्वीट के बाद सोशल मीडिया पर लोगों ने जमकर प्रतिक्रियाएं दीं। लोगों ने राहुल गांधी पर तंज कसते हुए कहा कि योग दिवस की शुरुआत माननीय श्री राहुल गांधी जी के लिए ही हुआ है। योग करने से मानसिक स्थिति मजबूत होती है। जबकि श्री राहुल गांधी जी का यही कमजोर है। कुछ लोगों ने कांग्रेस और उसके नेताओं पर भारतीय संस्कृति का अपमान करने का आरोप लगाया। एक ट्विटर यूजर ने कहा कि राहुल गांधी को हर स्वदेशी चीज से तकलीफ होती है।

इसी तरह राहुल गांधी ने 2019 में योग दिवस पर ट्वीट कर सेना के जवानों का अपमान किया था। पांचवा अंतरराष्ट्रीय योग दिवस भारत समेत पूरी दुनिया में सेलिब्रेट किया गया। तमाम बड़ी हस्तियों ने इस मौके पर अपनी योग करते हुए फोटो शेयर की, वहीं राहुल गांधी ने इस मौके पर एक अबूझ मैसेज लिखा। सेना की डॉग यूनिट की योगा की दो फोटो शेयर करते हुए राहुल गांधी ने लिखा, ‘न्यू इंडिया।’

इस ट्वीट पर गृहमंत्री अमित शाह ने कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा था कि कांग्रेस का ये ट्वीट नकारात्मकता को दर्शाता है। आज पहले तीन तलाक का समर्थन कर उनकी नकारात्मकता देखने को मिली। इसके बाद राहुल गांधी ने योग दिवस का मजाक बनाया और हमारी सेना का अपमान किया। इसके साथ ही केंद्रीय गृहमंत्री ने सकारात्मकता की उम्मीद जताते हुए कहा था कि सकारात्मकता की भावना जागेगी और कठिन चुनौतियों को दूर करने में मदद करेगी।

Leave a Reply