Home पोल खोल बेशर्म और निर्लज्ज झूठ से बाज नहीं आ रहे विपक्षी, आप और...

बेशर्म और निर्लज्ज झूठ से बाज नहीं आ रहे विपक्षी, आप और कांग्रेस नेताओं ने PM Modi का एडिटेड वीडियो शेयर कर फैलाया झूठ, टि्वटर का तमाचा- वीडियो ‘Out of Context’ है

629
SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के खिलाफ झूठ फैलाने में विपक्षी नेता बाज नहीं आ रहे हैं। हालांकि पर बार इनका झूठ पकड़ा जाता है और ये निर्लज्ज होकर बेशर्मी से दूसरे झूठ का पुलिंदा तैयार करने लग जाते हैं। एक बार फिर कांग्रेस, आप और तेलंगाना राष्ट्र समिति के कई नेताओं ने पीएम मोदी को लेकर झूठा, मोर्फ्ड वीडियो पोस्ट करने की गुस्ताखी की है। हालांकि झूठ बोले कौआ काटे की तर्ज पर इस बार ट्विटर ने ही मनगढ़ंत झूठ रचने वाले नेताओं को काट खाया है और उनके ट्वीट के साथ पीएम मोदी के वीडियो पर ‘Out of Context’ का ठप्पा लगाते हुए, अपने प्लेटफार्म से वीडियो ही डिलीट कर दिया है।

कोविंद के विदाई समारोह का झूठा, मोर्फ्ड और कटा वीडियो क्लिप शेयर किया
राष्ट्रपति चुनाव में विपक्षी नेता अपने उम्मीदवार यशवंत सिन्हा की बुरी तरह से हार से मन मसोसकर रह गए हैं। उनमें इस बात की खिसियाहट ज्यादा है कि पीएम मोदी ने एनडीए उम्मीदवार के लिए द्रौपदी मुर्मू के रूप में इतना बेहतर उम्मीदवार दिया कि कांग्रेस समेत कई विपक्षी दलों के विधायकों और सांसदों ने पार्टी लाइन से परे जाकर क्रॉस वोटिंग करके मुर्मू को वोट दिया। विपक्षी नेताओं ने अपनी खिसियाहट निवर्तमान राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद के विदाई समारोह का एक झूठा, मोर्फ्ड और कटा हुआ वीडियो क्लिप सोशल मीडिया पर शेयर करके निकालने की कोशिश की। लेकिन उनका झूठा दांव उनके लिए ही उल्टा पड़ गया। खिसयानी बिल्ली की तरह वे बस खंभा नौचते ही रह गए।

आप सांसद संजय सिंह, कांग्रेस प्रवक्ता सुप्रिया और वाईएसआर रेड्डी की काली करतूत
दरअसल, निवर्तमान राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद के विदाई समारोह का झूठा वीडियो क्लिप शेयर करने वालों में आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह, कांग्रेस पार्टी की राष्ट्रीय प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत और तेलंगाना राष्ट्रसमिति के नेता वाईएसआर रेड्डी जैसे कई विपक्षी शामिल हैं। इनके अलावा भी कई नेताओं ने यह वीडियो क्लिप शेयर किया था, लेकिन सांच को आंच नहीं की कहावत चरितार्थ हुई और विपक्षी नेताओं का झूठ जल्द ही पकड़ में आ गया।

पीएम मोदी के खिलाफ प्रोपेगेंडा फैलाने की नीयत से झूठ को जानबूझकर किया वायरल
इस समारोह का कई विपक्षी दलों के नेताओं ने झूठे वीडियो क्लिप को अपने आधिकारिक सोशल मीडिया अकाउंट से शेयर कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधने की कोशिश की कि उनका ध्यान निवर्तमान राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की ओर नहीं है। विपक्षी नेताओं का कहना था कि राष्ट्रपति कोविंद पीएम मोदी का अभिवादन कर रहे थे और पीएम उनकी ओर ध्यान ही नहीं दिया। दरसअल, निवर्तमान राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के विदाई समारोह के दौरान का यह वीडियो पीएम मोदी के खिलाफ प्रोपेगेंडा फैलाने की नीयत से जानबूझकर वायरल किया गया।

पीएम मोदी ने हाथ जोड़कर कोविंद का अभिवादन किया, उसको काट दिया
वीडियो क्लिप शेयर करने वाले विपक्षी नेताओं में आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह, कांग्रेस पार्टी की राष्ट्रीय प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत और तेलंगाना राष्ट्रसमिति के नेता वाईएसआर रेड्डी शामिल हैं। बदनीयती से इन नेताओं ने इस वीडियो को काटकर आधा ही जारी किया। इससे पहले वाला हिस्सा, जिसमें पीएम मोदी हाथ जोड़कर रामनाथ कोविंद का अभिवादन कर रहे हैं, उसको काट दिया गया और बाद का हिस्सा जारी करके पीएम मोदी के खिलाफ झूठा प्रचार किया गया।

Twitter ने पकड़ी कारस्तानी, एडिटेड वीडियो क्लिप को ‘Out of Context’ का टैग दिया
विपक्षी नेताओं की इस कारस्तानी को ट्वीटर ने भी पकड़ लिया। ट्विटर ने इस एडिटेड वीडियो क्लिप को ‘Out of Context’ यानी ‘संदर्भ से बाहर’ के रूप में टैग किया है। संसद टीवी द्वारा प्रसारित पूरे वीडियो में, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को संसद के सेंट्रल हॉल के अंदर कैमरे का सामना करने से पहले हाथ जोड़कर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का अभिवादन करते देखा जा सकता है। राष्ट्रपति भवन के आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर शेयर किए गए वीडियो से भी इसकी पुष्टि होती है। राष्ट्रपति कोविंद और पीएम मोदी की एक-दूसरे को बधाई देते हुए एक तस्वीर भी President Of India के Official ट्विटर हैंडल से शेयर की गई है।

कोविंद ने कार्यकाल के अंतिम दिन जताया आभार, मुर्मू ने ली राष्ट्रपति की शपथ
इस बीच, सोमवार को अपनी उत्तराधिकारी द्रौपदी मुर्मू के लिए पद छोड़ने जा रहे निवर्तमान राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने अपने कार्यकाल के अंतिम दिन, 24 जुलाई 2022 की शाम राष्ट्र को संबोधित किया। निवर्तमान राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने अपने कार्यकाल के दौरान समाज के सभी वर्गों से मिले पूर्ण सहयोग, समर्थन और आशीर्वाद के लिए सभी का बहुत- बहुत आभार व्यक्त किया। झारखंड की पूर्व राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू, जो 21 जुलाई को विपक्ष के उम्मीदवार यशवंत सिन्हा को हराकर भारत की अगली राष्ट्रपति चुनी गईं, ने आज संसद के सेंट्रल हॉल में शपथ ली।

Leave a Reply