Home समाचार AIMIM नेता सैयद नाजिम अली की धमकी, ‘नूरपुर में नमाज होगी लेकिन...

AIMIM नेता सैयद नाजिम अली की धमकी, ‘नूरपुर में नमाज होगी लेकिन हिन्दुओं की बारात नहीं निकलेगी’

1106
SHARE

उत्तर प्रदेश में अलीगढ़ के टप्पल के नूरपुर गांव में मुसलमानों के अत्याचार से परेशान हिंदू परिवार पलायन करने के लिए मजबूर हैं। आरोप है कि नूरपुर गांव में मुस्लिम समुदाय के लोग हिन्दू को बारात ले जाने से रोकते और मारपीट करते हैं। अब एआईएमआईएम ओवैसी की यूथ ब्रिगेड के प्रदेश अध्यक्ष सैयद नाजिम अली ने धमकी देते हुए कहा है कि नूरपुर में नमाज तो होगी, लेकिन हिंदुओं को वहां बारात नहीं निकालने दिया जाएगा।

एमआईएमआईएम नेता ने कहा कि भाजपा की शकुंतला देवी कहती हैं, “नूरपुर से बारात नहीं निकलने दिया तो हम ईंट से ईंट बजा देंगे। मैं उन्हें ये कहना चाहता हूं कि नूरपुर में नमाज तो हो के रहेगी, कोई हमें रोक नहीं सकता है। हां, वहां से बिना हमारी इजाजत के बारात नहीं निकलेगी। आप ईंट, पत्थर, गोली या चाहे जो ले आओ।”

नाजिम अली ने बीजेपी नेताओं को चुनौती देते हुए कहा, “मैं ये कहता हूँ कि देश संविधान से चलेगा, किसी के अल्फाजों से नहीं। नूरपुर से बारात निकालने के लिए हमारी परमीशन इन्हें लेनी ही होगी। अन्यथा शकुंतला नहीं भाजपा के जितने भी नेता हैं सभी आ जाएं और वहां बारात निकाल कर दिखाएं।”

विवाद की शुरुआत 26 मई, 2021 को हुई। इस दिन एक दलित घर में दो बेटियों की एक साथ बारात जा रही थी। आरोप है कि बारात लाते वक्त बीच में मस्जिद पड़ी। वहां मुस्लिम समुदाय से जुड़े कुछ लोगों ने बारातियों के साथ मारपीट शुरू कर दी। बारातियों से कहा कि अगर बारात ले जाना है तो मस्जिद से पैदल ही जाना होगा। इस पर बारात वापस लौट गई। घटना के बाद से नूरपुर में रहने वाले 150 हिंदू परिवारों ने अपने घर बेचकर पलायन का ऐलान कर दिया। इन लोगों ने अपने घर के बाहर ‘मकान बिकाऊ है’ का बोर्ड भी लगा दिया था।

गौरतलब है कि अलीगढ़ के टप्पल थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाला नूरपुर गांव मुस्लिम बहुल है। एक रिपोर्ट के मुताबिक गांव में लगभग 800 मुस्लिम परिवार रहते हैं। हिन्दुओं के 150 परिवार हैं, जिनमें अधिकतर आबादी जाटव समाज (अनुसूचित जाति) की है।

Leave a Reply