Home समाचार GST कलेक्शन में 30 प्रतिशत की शानदार बढ़त, GDP विकास दर में...

GST कलेक्शन में 30 प्रतिशत की शानदार बढ़त, GDP विकास दर में उछाल, महंगाई घटी, उत्पादन बढ़ा, आर्थिक मोर्चे पर मोदी सरकार के लिए 2 दिन में आईं 4 अच्छी खबरें

481
SHARE

पिछले डेढ़ साल से भारत कोरोना महामारी से जूझ रहा है। लेकिन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के अद्भुत नेतृत्व, केंद्र सरकार के निरंतर प्रयास और जनता के धैर्य की वजह से देश कोरोना संकट से उबरने लगा है। मोदी सरकार ने इस महामारी पर काबू पाने के लिए जहां अनेक राहत उपायों के साथ दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान शुरू किया, वहीं अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए प्रोत्साहन पैकेजों की घोषणा की। इसका नतीजा है कि पिछले दो दिनों में आर्थिक मोर्चे पर भी चार अच्छी खबरें आईं।

GST कलेक्शन एक लाख करोड़ रुपये से अधिक

वित्त मंत्रालय ने बुधवार (1 सितम्बर, 2021) को जीएसटी कलेक्शन को लेकर आंकड़े जारी किए, जिसके मुताबिक, अगस्त महीने में देश में जीएसटी का कलेक्शन 1.12 लाख करोड़ रुपये से अधिक रहा, जो कि समान अवधि में पिछले साल के मुकाबले 30 प्रतिशत अधिक है। ऐसा दूसरी बार है जब लगातार दूसरे महीने देश का जीएसटी कलेक्शन एक लाख करोड़ रुपये से अधिक है।

GDP में 20.1 प्रतिशत की शानदार बढ़त

इसके पहले मंगलवार को वित्त मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, वित्त वर्ष 2021-22 की पहली तिमाही (अप्रैल से जून) में देश के सकल घरेलू उत्पाद (GDP) की ग्रोथ रेट रिकॉर्ड 20.1 प्रतिशत रही है। पिछले साल 2020-21 की पहली तिमाही में भारत की जीडीपी में 24.4 प्रतिशत की गिरावट आई थी। इससे अर्थव्यवस्था के सुस्ती से उबरने के स्पष्ट संकेत मिले हैं।

कोर सेक्टर के उत्पादन में 9.4 प्रतिशत की वृद्धि

1 सितंबर, 2021 को केंद्र सरकार द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, इस साल जुलाई में कोर सेक्टर के आठ इंडस्ट्री (कोयला, कच्चा तेल, रिफाइनरी, उर्वरक, इस्पात और सीमेंट व बिजली क्षेत्र) के उत्पादन में अच्छी बढ़त हुई। कोर सेक्टर में 9.4 प्रतिशत की तेजी दर्ज की गई। एक साल पहले इसी महीने में बुनियादी उद्योगों का उत्पादन 7.6 प्रतिशत घटा था।

खुदरा महंगाई से राहत

अर्थव्यवस्था में आ रही तेजी का असर बाजार पर दिखने लगा है। श्रम मंत्रालय के आंकडो़ं के मुताबिक, औद्योगिक कामगारों के लिए खुदरा महंगाई जुलाई 2021 में घटकर 5.27 प्रतिशत हो गई। खासकर खाने-पीने के सामान के दाम घटने से महंगाई में राहत मिली है। इससे पहले जून के महीने में यह 5.57 थी।

Leave a Reply